IND W vs ENG W : शेफाली ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में किया कमाल, शतक से मात्र चार रन से चूकीं

शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया और पहली ही पारी में कमाल का प्रदर्शन किया.(Shafali verma twitter)

भारत की 17 साल की महिला क्रिकेटर शेफाली वर्मा (Shafali Verma) ने इंग्लिश टीम के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट में शानदार अर्धशतक जड़ा. उन्होंने चौके से फिफ्टी पूरी की. वह अपने पहले टेस्ट शतक से मात्र चार रन से चूक गईं और 96 रन के निजी स्कोर पर पैवेलियन लौटीं.

  • Share this:
    ब्रिस्टल. भारतीय महिला टीम की ओपनर शेफाली वर्मा (Shafali Verma) ने अपने करियर के पहले ही टेस्ट मैच में कमाल का प्रदर्शन किया. उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में भारत को दमदार शुरुआत दिलाई और अर्धशतक जड़ा. हालांकि वह अपने करियर के पहले टेस्ट शतक से मात्र चार रन से चूक गईं. शेफाली के अलावा स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने भी फिफ्टी जमाई. भारतीय टीम ने गुरुवार को मैच के दूसरे दिन चाय तक पहली पारी में बिना विकेट गंवाए 63 रन बनाए.

    17 साल की खिलाड़ी शेफाली ने लंच के बाद चौके से अपना अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने पारी के 28वें ओवर में एक्लेस्टोन की दूसरी गेंद पर चौका लगाया और निजी स्कोर 52 रन पहुंचा दिया. उनकी टीम साथियों ने हौसलाअफजाई करते हुए तालियां बजाईं. उन्होंने 83 गेंदों पर फिफ्टी पूरी की. इसके बाद 31वें ओवर की चौथी गेंद पर स्मृति ने भी चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया. भारतीय टीम ने 31 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 112 रन बना लिए थे.

    शेफाली 96 रन के निजी स्कोर पर केट क्रॉस का शिकार बनीं. उन्हें पारी के 49वें ओवर की 5वीं गेंद पर क्रॉस ने श्रबसोल के हाथों कैच कराया. शेफाली ने 152 गेंदों की अपनी पारी में 13 चौके और दो छक्के जड़े. शेफाली और मंधाना ने पहले विकेट के लिए 167 रन की बेहतरीन साझेदारी की और भारत की स्थिति मजबूत की.

    इसे भी पढ़ें, सौरव गांगुली ने टॉस पर दी टीम इंडिया को सलाह, बताया पहले क्या करना चाहिए

    काउंटी ग्राउंड में खेले जा रहे इस मुकाबले में इंग्लैंड ने 396 रन पर पहली पारी घोषित की जो भारत के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है. भारतीय टीम लंच तक 333 रन से पिछड़ रही थी. शेफाली हमेशा की तरह आक्रामक खेल रही थीं, जिन्होंने अपनी ही शैली में कट और पुल शॉट लगाए. उन्होंने सिर्फ डिफेंस ही अच्छा नहीं किया बल्कि आसानी से नेट स्किवर पर एक छक्का भी जमाया. टेस्ट क्रिकेट में यह भारतीय महिला टीम का दूसरा ही छक्का था.





    मंधाना सतर्क होकर खेल रही थीं. उन्होंने स्किवर पर कवर क्षेत्र की ओर अपना पहला चौका जमाया. जब भी उन्हें मौका मिला, वह पुल शॉट खेलने में हिचकिचायी नहीं. उनके ड्राइव्स देखना अच्छा था. केट क्रास पर एक शानदार शॉट पर उन्होंने टीम के स्कोर का अर्धशतक पूरा कराया. मंधाना जब 23 रन पर थीं, तब क्रॉस उन्हें आउट करने का मौका गंवा बैठीं.

    इससे पहले भारतीय गेंदबाजों को लगातार दूसरे दिन मशक्कत करनी पड़ी. इंग्लैंड ने छह विकेट पर 269 रन से आगे खेलना शुरू किया जिसके बाद पदार्पण कर रही सोफिया डंकले (नाबाद 74 रन) ने नाबाद अर्धशतक के अलावा पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ दो अहम साझेदारियां निभाईं. डंकले ने सोफी एक्लेस्टोन (17) के साथ आठवें विकेट के लिये 56 रन जोड़े और फिर आन्या श्रबसोल के साथ 70 रन की भागीदारी की. आन्या ने भी भारतीय गेंदबाजों को परेशान करते हुए अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ 47 रन की पारी खेली.

    इंग्लैंड ने आन्या के आउट होते ही पारी घोषित कर दी जो स्नेहा राणा की गेंद पर बोल्ड हुईं जिससे यह इस भारतीय गेंदबाज ने चार विकेट झटककर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. सुबह के सत्र में इंग्लैंड पहला विकेट कैथरीन ब्रंट के रूप में गंवाया जिन्हें अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने दिन की 12वीं गेंद पर पगबाधा आउट किया. इस विकेट से 38 साल और 204 दिन की गोस्वामी सचिन तेंदुलकर के बाद टेस्ट विकेट हासिल करने वाली सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गईं. वह लाला अमरनाथ ( 1952 ) के बाद टेस्ट विकेट हासिल करने वाली सबसे उम्रदराज भारतीय तेज गेंदबाज भी बन गईं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.