23 साल पहले भी खेली थी दो टीम इंडिया, दोनों मोर्चे पर मिली करारी हार

1998 में अजहर भारतीय टीम के कप्तान थे. (Instagram)

1998 में अजहर भारतीय टीम के कप्तान थे. (Instagram)

1998 में अजय जडेजा की अगुवाई में भारतीय टीम कॉमनवेल्थ गेम्स खेलने मलेशिया गई थी जबकि दूसरी टीम मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में पाकिस्तान के खिलाफ सहारा कप में हिस्सा ले रही थी. दिलचस्प बात है कि सचिन तेंदुलकर और अजय जडेजा दोनों सीरीज का हिस्सा बने.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत की दो टीमें एक समय में ही इंग्लैंड और श्रीलंका में खेलने के लिए तैयार है. विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम WTC फाइनल और इंग्लिश टीम के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड दौरे पर पहुंच चुकी है. दूसरी ओर शिखर धवन की कप्तानी में भारत की दूसरे दर्ज की टीम जुलाई में श्रीलंका का दौरा करेगी. श्रीलंका में भारतीय टीम को तीन वनडे और तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है. ऐसा पहली बार नहीं है जब भारत की दो क्रिकेट टीम अलग-अलग देश में खेलने जा रही है. साल 1998 में ऐसा हो चुका है.

23 साल पहले भारत की दो टीमों ने कॉमनवेल्थ गेम्स और पाकिस्तान के खिलाफ सहारा कप में हिस्सा लिया था. इन दोनों जगह भारतीय टीम बिखर गई. 16वें कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन 1998 में क्वालालम्पुर (मलेशिया) में हुआ था. ये पहली बार था जब किसी एशियाई देश में इन खेलों का आयोजन किया गया. इसके अलावा क्रिकेट भी पहली और आखिरी बार ही कॉमनवेल्थ गेम्स का हिस्सा बना. सचिन तेंदुलकर, अनिल कुंबले और वीवीएस लक्ष्मण कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने अजय जडेजा की अगुवाई में गए थे. सहारा कप के लिए बीसीसीआई ने मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी वाली टीम में सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, जवागल श्रीनाथ और वेंकटेश प्रसाद सहित अन्य को भेजा. उस साल सहारा कप का आयोजन कनाडा में हुआ था.

कॉमनवेल्थ गेम्स में ग्रुप स्टेज में ही बाहर हुई टीम इंडिया

कॉमनवेल्थ गेम्स में मलेशिया, जमैका, एंटीगुआ और उत्तरी आयरलैंड सहित 16 टीमें शामिल थीं. भारत ग्रुप बी में एंटीगुआ, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा के साथ था. इन मैचों को लिस्ट ए का दर्जा मिला था और मुकाबला लाल गेंद और सफेद कपड़ों में खेले गया. भारत को ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा जबकि कनाडा के खिलाफ उसे जीत मिली. एंटीगुआ के खिलाफ बारिश के चलते कोई नतीजा नहीं निकला. एक जीत और एक हार के साथ ही भारत पहले चरण में ही बाहर हो गया. ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी मुकाबले में भारत को 146 रनों से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई. कॉमनवेल्थ गेम्स में उस समय विध्वंसक फॉर्म में चल रहे सचिन तेंदुलकर तीन मैचों में सिर्फ 28 रन ही बना सके थे. कॉमनवेल्थ गेम्स में दक्षिण अफ्रीका ने फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को मात देकर गोल्ड जीता था.
sachin tendulkar, rahul dravid, chris cairns, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़

सहारा कप में पाकिस्तान ने धोया

कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद एक बड़ा विवाद हुआ. भारत के राष्ट्रमंडल खेलों से जल्दी बाहर होने के बाद बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को सहारा कप के आखिरी दो मैचों के लिए कनाडा भेजने का फैसला किया. हालांकि, पाकिस्तान भारत को उन खिलाड़ियों को मैदान में उतारने की अनुमति देने का विरोध कर रहा था जो मूल टीम का हिस्सा नहीं थे. बीसीसीआई ने शुरू में कहा था कि चार खिलाड़ी सचिन, जडेजा, कुंबले और रॉबिन सिंह पाकिस्तान के खिलाफ खेल रही भारतीय टीम में शामिल होंगे. कुछ समय बाद एक समझौता हुआ और बीसीसीआई ने कहा कि केवल सचिन और जडेजा ही कनाडा जाएंगे. उस समय सहारा कप के पांच मैचों की सीरीज में पाकिस्तान 2-1 से आगे था. जडेजा चौथे मैच का हिस्सा बने लेकिन बीसीसीआई को उस समय शर्मिंदगी उठानी पड़ी जब सचिन का पता लगाने में नाकाम रही. सचिन अपने परिवार के साथ खंडाला में छुट्टियां मनाने चले गए थे.




तेंदुलकर अंतिम वनडे के लिए पहुंचे लेकिन पाकिस्तान तीन मैच जीतकर सहारा कप अपने नाम कर चुका था. इस मैच में सचिन ने 77 रनों की पारी खेली और कप्तान अजहरुद्दीन के शतक की बदौलत भारत नौ विकेट खोकर 256 रन बनाने में सफल रहा. सईद अनवर के 83 और आमिर सोहैल के 97 रनों की बदौलत पाकिस्तान ने भारत को पांच विकेट मात दी और 4-1 से सीरीज अपने नाम की.

हालांकि इस बार परिस्थितियां अलग है. साल 1998 में बीसीसीआई ने सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में बंटवारा करते हुए दोनों जगह आधे-आधे मुख्य खिलाड़ियों को भेजा था. लेकिन इस बार बीसीसीआई ने इंग्लैंड दौरे और WTC फाइनल को वरीयता देते हुए अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम वहां भेजी है. श्रीलंका में भारत की दूसरे दर्जे की टीम जा रही है.

यह भी पढ़ें:

IND vs SL: कौन हैं सिमरजीत सिंह, जो टीम इंडिया के साथ जाएंगे श्रीलंका?

भाई ने की आत्महत्या, पिता की कोरोना से मौत, फिर भी चेतन सकारिया ने बनाई टीम इंडिया में जगह

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भारतीय टीम: अजय जडेजा (कप्तान), निखिल चोपड़ा, वीवीएस लक्ष्मण, गगन खोड़ा, रॉबिन सिंह, सचिन तेंदुलकर, एमएसके प्रसाद, राहुल सांघवी, देबाशीष मोहंती, अमय खुरासिया, हरभजन सिंह, रोहन गावस्कर, अनिल कुंबले (उपकप्तान), पारस म्हाब्रे.

सहारा कप के लिए भारतीय टीम: मोहम्मद अजरुद्दीन (कप्तान), सौरभ गांगुली, नवजोत सिंह सिद्धू, राहुल द्रविड़, ऋषिकेश कानिटकर, जतिन परांजपे, नयन मोंगिया, सुनील जोशी, अजित अगरकर, जवागल श्रीनाथ, वेंकटेश प्रशाद, संजय रौल.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज