• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET INDIA FIELDING COACH R SRIDHAR SAYS RAVINDRA JADEJA BEST FIELDER OF DECADE

रवींद्र जडेजा पिछले 10 साल के बेस्‍ट फील्‍डर, मैदान पर आते ही डर जाती है विरोधी टीमें: टीम इंडिया के फील्डिंग कोच

रवींद्र जडेजा.

श्रीधर के फील्डिंग कोच बनने के बाद भारतीय टीम की फील्डिंग में काफी सुधार देखने को मिले हैं.

  • Share this:
    टीम इंडिया (Team India) के फील्डिंग कोच आर. श्रीधर (R Sridhar) हाल ही में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ सीरीज में भारतीय खिलाड़ियों की फील्डिंग और फिटनेस से काफी खुश हैं. उनका कहना है कि भारतीय खिलाड़ियों के माइंडसेट और फिटनेस में बदलाव आया है जो मैदान में दिखता है. इसी वजह से भारतीय क्रिकेट का दबदबा भी बढ़ा है. श्रीधर का कहना है कि रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) पिछले 10 सालों के समय में सर्वश्रेष्‍ठ भारतीय फील्‍डर हैं. अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया से उन्‍होंने कहा कि जडेजा के होने से टीम का मनोबल बढ़ जाता है. साथ ही विपक्षी टीमों पर दबाव भी बनता है. टीम इंडिया के फील्डिंग कोच ने ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) की भी तारीफ की.

    जडेजा के मैदान पर होने से विपक्षी टीम पर बढ़ जाता है दबाव
    जडेजा के बारे में उन्‍होंने कहा कि वह अपनी फील्डिंग से विपक्षी टीमों में डर बढ़ा देता है. मैदान पर उसके होने से गजब का असर पड़ता है. वह पिछले एक दशक का बेस्‍ट भारतीय फील्‍डर है. श्रीधर ने कहा कि वर्तमान में रवींद्र जडेजा के अलावा मार्टिन गप्टिल, विराट कोहली, ग्‍लेन मैक्‍सवेल कमाल के फील्‍डर हैं. इन्‍हें मैदान में कहीं भी तैनात कर दीजिए ये कमाल के एथलीट हैं.

    r sridhar, ravindra jadeja, india fielding coach, virat kohli, आर श्रीधर, रवींद्र जडेजा, इंडिया फील्डिंग, इंडिया फील्डिंग कोच

    रवींद्र जडेजा और आर श्रीधर.

    फील्‍डर्स के लिए भी होनी चाहिए रैंकिंग सिस्‍टम
    श्रीधर ने कहा कि भारतीय टीम में युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा ने अपनी फील्डिंग में काफी सुधार किया है. हालांकि उनका कहना था कि टीम इंडिया के सभी खिलाड़ियों में सुधार हुआ है. भारतीय फील्डिंग कोच का कहना है कि जिस तरह से गेंदबाजों, बल्‍लेबाजों और ऑलराउंडर के लिए आईसीसी रैंकिंग हैं वैसे ही फील्‍डर्स के लिए रैंकिंग सिस्‍टम होना चाहिए. इसमें केवल कैच पकड़ने के ही पॉइंट नहीं होने चाहिए बल्कि सीधे थ्रो, फील्डिंग से रन बचाने को भी शामिल करना चाहिए.

    बता दें कि श्रीधर के फील्डिंग कोच बनने के बाद भारतीय टीम की फील्डिंग में काफी सुधार देखने को मिले हैं. इसी का परिणाम हुआ कि वर्ल्‍ड कप 2019 के बाद बीसीसीआई ने श्रीधर का करार बढ़ा दिया था.

    19 रन पर गिर गए थे 6 विकेट, इसके बावजूद इस टीम ने मैच जीतकर रच दिया इतिहास

    Video: कमेंटेटर्स से बातचीत करते हुए मैक्सवेल ने किया हैरतअंगेज रनआउट
    Published by:शक्ति शेखावत
    First published: