भारत-पाकिस्तान द्विपक्षीय सीरीज पर राजनीति गरमाई

द्विपक्षीय सीरीज के लिये पाकिस्तान को भारत आने का न्यौता देने के पीसीबी के दावे पर भारत में राजनीति गरमा गई है।

  • News18India
  • Last Updated: November 15, 2015, 1:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। द्विपक्षीय सीरीज के लिये पाकिस्तान को भारत आने का न्यौता देने के पीसीबी के दावे पर भारत में राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस ने सीरीज का विरोध करते हुए कहा कि पहले सीमा पर गोलीबारी बंद हो उसके बाद सीरीज के बारे में बात होनी चाहिए तो बीजेपी ने भी सीरीज का विरोध किया।

पीसीबी के दावे को खारिज करते हुए बीसीसीआई ने कहा कि अभी तक ऐसा कोई औपचारिक प्रस्ताव नहीं भेजा गया है। पीसीबी ने शनिवार को दावा किया था कि बीसीसीआई ने उन्हें अपनी घरेलू सीरीज भारत में खेलने के लिये आमंत्रित किया है, लेकिन भारतीय बोर्ड ने साफ किया कि अभी तक ऐसा कोई औपचारिक प्रस्ताव नहीं भेजा गया है।

पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान ने लाहौर में पत्रकारों से कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने उन्हें टेलीफोन करके उनके सामने औपचारिक प्रस्ताव रखा। शहरयार ने दावा किया कि शशांक मनोहर ने शुक्रवार की शाम मुझे फोन किया और बताया कि उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ खेलने के लिये सरकार से हरी झंडी मिल गयी है। लेकिन उन्होंने कहा कि वे यूएई में नहीं बल्कि भारत में सीरीज खेलना चाहते हैं।



हालांकि बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अभी तक मंजूरी लेने के लिये सरकार से संपर्क तक नहीं किया है और इस संबंध में कोई भी बयान सही नहीं है। उन्होंने कहा कि यह गलत बयान है। हमने अब तक सरकार से संपर्क नहीं किया है। हां, मैंने उनसे फोन पर बात की और हम अगले दो दिन में फिर से बात कर सकते हैं।
शहरयार ने दावा किया कि बीसीसीआई ने प्रस्तावित सीरीज के दौरान पाकिस्तानी टीम को फुलप्रूफ सुरक्षा मुहैया कराने का भी वादा किया है। उन्होंने कहा कि मनोहर ने इसके साथ ही कहा कि भारतीय बोर्ड हमारी टीम को सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा मुहैया कराएगा। मोहाली और कोलकाता जैसे स्थानों पर मैचों का आयोजन करेगा जहां भारत-पाक मैचों के आयोजन में कोई दिक्कत नहीं होती है।

पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने कहा कि बीसीसीई को पता होना चाहिए की सरकार ने कोई परमीशन नहीं दी है। सरकार ने परमीशन दी होती तो अलग बात है। पाकिस्तान को रेगिस्तान में बुलाकर खिला लो तो वो खेल लेंगें।

आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा कि पहले सरकार से इस बार में बात करेगें, अगर खेलने को तैयार होगें तो बात आगे बढ़ेगी। पीसीबी की तरफ से अगर कोई बयान आता है तो आगे बात होगी।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज