लाइव टीवी

सीरीज जीत के बाद विराट कोहली का बड़ा बयान, कहा-भारत में सिर्फ पांच मैदानों पर होने चाहिए टेस्ट मैच

News18Hindi
Updated: October 22, 2019, 5:08 PM IST
सीरीज जीत के बाद विराट कोहली का बड़ा बयान, कहा-भारत में सिर्फ पांच मैदानों पर होने चाहिए टेस्ट मैच
विराट कोहली टीम इंडिया के लिए बतौर कप्तान सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाले खिलाड़ी हैं. (PTI)

इंग्लैंड (England) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) में अधिकतर टेस्ट मैच (Test Matches) छह मैदानों पर ही आयोजित किए जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2019, 5:08 PM IST
  • Share this:
रांची. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) चाहते हैं कि भारत में सिर्फ पांच मैदानों पर ही टेस्ट मैच आयोजित किए जाने चाहिए. हालांकि उन्होंने किसी मैदान का नाम नहीं लिया, लेकिन कहा कि टेस्ट मैच (Test Match) देश के मजबूत टेस्ट सेंटर को ही मिलने चाहिए, जैसा कि अन्य देशों में होता है. कोहली ने ये जवाब इस सवाल पर दिया कि क्या भारत में भी केवल कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, दिल्ली और बेंगलुरु जैसे बड़े शहरों को ही टेस्ट मैचों की मेजबानी दी जानी चाहिए. फिलहाल भारत में रोटेशन पॉलिसी के तहत सभी केंद्रों को सभी प्रारूपों के मैच दिए जाते हैं. साउथ अफ्रीका और भारत के बीच हाल ही में खत्म हुई सीरीज के तीनों मैच विशाखापत्तनम, पुणे और रांची में खेले गए थे. तीनों शहरों का ये केवल दूसरा ही टेस्ट मैच था.

कप्तान विराट कोहली (Captain Virat Kohli) ने कहा, 'हम लंबे समय से इस पर चर्चा कररहे हैं और मेरे ख्याल से हमें पांच सेंटर्स पर ही टेस्ट मैच खेलने चाहिए. मैं इस बात से सहमत हूं कि राज्य क्रिकेट संघों और रोटेशन का मामला भी है, लेकिन टी-20 और वनडे क्रिकेट के लिए ये ठीक है. मगर टेस्ट क्रिकेट की बात है तो यहां आने वाली टीमों को पता होना चाहिए कि उन्हें इन पांच शहरों में खेलना है. यहां की पिच ऐसी होगी और ऐसे लोग मैच देखने आएंगे. ऐसे में ये अपने आप में एक चुनौती होगी.'

india beat south africa, india vs south africa, ind vs sa, 3rd test, ranchi test india clean sweep series, rohit sharma, virat kohli, विराट कोहली, रोहित शर्मा, भारत वस दक्षिण अफ्रीका, क्रिकेट न्यूज, रोहित शर्मा, रांची टेस्ट, विराट कोहली, शाहबाज नदीम
टीम इंडिया ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में अपने शुरुआती पांचों मैचों में जीत दर्ज की है. (एपी)


बता दें कि इंग्लैंड में अधिकतर टेस्ट मैच उनके छह पारंपरिक स्टेडियमों में होते हैं, जिनमें लदंन के लॉर्ड्स और द ओवल, बर्मिंघम, मैनचेस्टर, लीड्स और नॉटिंघम शामिल हैं. इनमें द ओवल में हमेशा सीरीज का आखिरी मैच खेला जाता है. ऑस्ट्रेलिया में भी उसके अधिकतर टेस्ट मैच छह जगहों पर ही खेले जाते हैं. इन शहरों में मेलबर्न, सिडनी, एडीलेड, ब्रिसबेन, पर्थ और होबार्ट शामिल हैं. यहां तक कि दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में भी ये पता होता है कि किन जगहों पर मैच आयोजित किए जाने हैं. यहां तक कि बॉक्सिंग डे टेस्ट एमसीजी और डरबन जबकि नए साल का टेस्ट केपटाउन और एससीजी में होना तक तय होता है.

वहीं, जहां तक बात भारत की है तो यहां पूरे देश में टेस्ट मैच खेले जाते हैं. यहां टेस्ट मैच खेलने के लिए कुल 27 शहर हैं. हालांकि अधिकतर मौकों पर बड़े शहर ही टेस्ट मैच आयोजित करते हैं, लेकिन इस बारे में विराट कोहली ने कहा कि मुंबई और चेन्नई ने साल 2016 के बाद से टेस्ट की मेजबानी नहीं की है. पिछले कुछ सालों से छोटे शहरों में खेले जाने वाले टेस्ट में दर्शकों की कम उपस्थिति चर्चा का विषय बनती रही है.

धोनी के संन्यास को लेकर विराट कोहली BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली से बात करने को तैयार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 5:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...