लाइव टीवी

रोबिन उथप्‍पा ने खोला राज- मयंक अग्रवाल की टीम से होने वाली थी छुट्टी लेकिन...

भाषा
Updated: October 4, 2019, 9:08 AM IST
रोबिन उथप्‍पा ने खोला राज- मयंक अग्रवाल की टीम से होने वाली थी छुट्टी लेकिन...
मयंक अग्रवाल पहले टेस्‍ट में 215 रन बनाकर आउट हुए. (AP Photo)

मयंक अग्रवाल ने 2018 में टेस्‍ट क्रिकेट में कदम रखा था और 5वें ही मैच में उन्‍होंने डबल सेंचुरी लगा दी.

  • Share this:
कोलकाता: भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज रोबिन उथप्पा (Robin Uthappa) का मानना है कि अगर कर्नाटक के पूर्व कप्तान आर विनय कुमार (R Vinay Kumar) खराब फार्म से जूझ रहे मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) को उपयोगी सलाह नहीं देते तो शायद क्रिकेट जगत को उनकी शानदार बल्लेबाजी देखने को नहीं मिलती. अग्रवाल पर उस समय कर्नाटक की राज्य टीम से भी बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था. अग्रवाल गुरुवार को अपने पहले ही टेस्ट शतक को दोहरे शतक में बदलने वाले सिर्फ चौथे भारतीय बल्लेबाज बने. ऐसे में टीम के उनके पूर्व साथी उथप्पा ने याद किया कि कैसे विनय के प्रेरणादायी शब्दों से इस सलामी बल्लेबाज के प्रदर्शन में सुधार हुआ.

विनय ने उससे बात की और अग्रवाल ने ट्रिपल सेंचुरी जड़ दी
उथप्पा ने कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Knight Riders) के प्रचार कार्यक्रम के इतर कहा, ‘मुझे याद है कि हम उसे रणजी मैच से बाहर करने पर विचार कर रहे थे लेकिन जब (कप्तान) आर विनय कुमार ने उन्हें प्रेरणादायी शब्द कहे तो उसने तिहरा शतक जड़ा और फिर मुड़कर नहीं देखा.’ अग्रवाल ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपना पहला तिहरा शतक जड़ते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ पुणे में नाबाद 304 रन की पारी खेली जिससे टीम ने पारी और 136 रन से जीत दर्ज की.

mayank agarwal double century, india vs south africa test, robin uthappa, r vinay kumar, मयंक अग्रवाल दोहरा शतक, इंडिया साउथ अफ्रीका टेस्‍ट, रोबिन उथप्‍पा, आर विनय कुमार
रोबिन उथप्‍पा कर्नाटक के लिए मयंक अग्रवाल के साथ खेलते थे.


रोहित की भी की तारीफ
अग्रवाल ने विशाखापत्तनम में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ पहले टेस्ट में 215 रन बनाए जिससे भारत (India) ने पहली पारी सात विकेट पर 502 रन बनाकर घोषित की. उथप्पा ने रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की भी तारीफ की जिन्होंने टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी पहली ही पारी में 244 गेंद में 176 रन बनाए.उन्होंने कहा, ‘उसने हमेशा भारत और विदेश में अच्छा प्रदर्शन किया है. सफेद गेंद के क्रिकेट में भी उसका दबदबा है. वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है.’

cricket, cricket news, sports news, rohit sharma, mayank agarwal, india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket tea, first test, mayank agarwal century, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, मयंक अग्रवाल, मयंक अग्रवाल शतक, रणजी ट्रॉफी, बीसीसीआई, विशाखापत्तनम टेस्ट, रोहित शर्मा, rohit sharma
रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने पहले विकेट के लिए 317 रन की रिकॉर्ड साझेदारी की. (AP)

Loading...

मयंक ने लंबी दौड़ और बैटिंग को दिया क्रेडिट
वहीं अपनी पारी के बारे में भारत के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने कहा कि लंबी दूरी की दौड़ और लंबे बल्लेबाजी सत्रों से उन्हें घंटों तक क्रीज पर टिककर बल्लेबाजी की ताकत और दमखम मिला. भारत में अपना पहला टेस्ट खेल रहे अग्रवाल ने 371 गेंद में 215 रन बनाए. उन्होंने कहा,‘लंबी दूरी की दौड़ से मुझे मदद मिली. मैं 2017-. 18 घरेलू सत्र से पहले जब अभ्यास कर रहा था तो मेरे कोच और मैंने सुनिश्चित किया कि हम ढाई घंटे के सत्र के बाद छोटा ब्रेक लेकर फिर अभ्यास करेंगे. मैं उसी तरह से तैयारी करता हूं. लंबी दूरी की दौड़ से मुझे और फायदा मिला.’

'शतक लगाने के बाद राहत थी'
यह पूछने पर कि पहला शतक पूरा करने के बाद दोहरा शतक जल्दी पूरा करने के पीछे क्या मंशा थी, उन्होंने कहा,‘एक शतक पूरा होने के बाद राहत महसूस हो रही थी और इस विकेट पर खेलने के अनुभव से आत्मविश्वास मिला. हमें उनकी गेंदबाजी का अनुमान था. एक बार मेरा बड़ा स्कोर होने के बाद हमने तय किया कि गेंदबाजों पर फिर दबाव बनाकर ढीली गेंदों को नसीहत देनी है.’

cricket, cricket news, sports news, rohit sharma, mayank agarwal, india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket tea, first test, mayank agarwal century, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, मयंक अग्रवाल, मयंक अग्रवाल शतक, रणजी ट्रॉफी, बीसीसीआई, विशाखापत्तनम टेस्ट
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक लगाने वाले मयंक अग्रवाल भारतीय जमीन पर पहला टेस्ट ही खेल रहे हैं. (फाइल फोटो)


अपने खेल को बेहतर बनाने के लिए विपश्यना करने वाले अग्रवाल ने कहा, ‘यह सिर्फ रन बनाने की बात नहीं है बल्कि निर्णायक क्षणों में डटे रहने की है. आप ऐसा कर सके तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता.’

मयंक अग्रवाल का डबल धमाल, भारतीय जमीन पर अपने पहले ही मैच में जड़ा दोहरा शतक

ऋषभ पंत: राजस्‍थान में अपमान हुआ, पिता को खोया पर क्रिकेट का सपना नहीं छोड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 9:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...