खेल

ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले विराट कोहली का बड़ा बयान- आसान नहीं है बायो बबल में खेलना, छोटे दौरे पर हो विचार

विराट कोहली (फोटो- RCB)
विराट कोहली (फोटो- RCB)

India Tour of Australia: भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा नवंबर में शुरू होकर अगले साल फरवरी तक चलेगा. यानी इस दौरान खिलाड़ी करीब 4 महीनों तक परिवार से दूर रहेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  कोरोना वायरस (Coronavirus) के इस दौर में दुनिया भर में क्रिकेट के मुकाबले बंद स्टेडियम में बिना दर्शकों के हो रहे हैं. इसके अलावा खिलाड़ियों को बायो-बबल (Bio-Bubble) में रहना पड़ रहा है. यानी उन्हें होटल और स्टेडियम के अलावा कहीं और जाने की इजाजत नहीं होती है. इसके अलावा वो अपने ग्रुप के बाहर किसी और से मिल भी नहीं सकते हैं. आईपीएल के मुकाबले इसी बायो-बबल के साथ खेले जा रहे हैं. ऐसे में क्रिकेट खेलना आसान नहीं है. लिहाजा क्रिकेट के मौजूदा हालात पर टीम इंडिया और रॉयल चैलेंजर्स के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने चिंता जताई है. उनका कहना है कि ऐसे माहौल में खिलाड़ी मानसिक तौर पर थक जाते हैं. ऐसे में जरूरत इस बात की है कि दौरे को छोटा रखा जाए.

11 हफ्ते से खिलाड़ी बायो-बबल में
बता दें कि आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए खिलाड़ी टूर्नामेंट शुरू होने से दो हफ्ते पहले यूएई पहुंचे थे. पिछले करीब 11 हफ्ते से खिलाड़ी वहीं हैं. आईपीएल खत्म होते ही भारतीय खिलाड़ी दुबई से सीधे ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए उड़ान भरेंगे. टीम इंडिया के टेस्ट खिलाड़ी और बाक़ी कोचिंग स्टाफ को दूसरे बायो बबल में रखा गया था. दुबई में इन्हें क्वारंटाइन किया गया था. आईपीएल खत्म होते ही ये सारे लोग ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएंगे.

विराट कोहली की चिंता
आईपीएल में अपनी टीम के चैनल RCB टीवी से बातचीत करते हुए विराट कोहली ने कहा कि अभी तक बायो बबल में रहना ज्यादा मुश्किल नहीं रहा है. उन्होंने आगे कहा, 'माहौल अच्छा है. लेकिन कई बार मुश्किल हो जाता है. बार-बार एक ही चीज़ करना आसान नहीं होता है. ऐसे में इन चीज़ों पर ध्यान देने की जरूरत है. जैसे कि किसी टूर्नामेंट या सीरीज़ की लेंथ पर ध्यान देना चाहिए. ये भी जानने की कोशिश की जानी चाहिए कि एक ही तरह के माहौल में रहने से खिलाड़ियों की मानसिक हालत कैसी होगी. 80 दिनों में आप क्या अलग कर सकते हैं. परिवार से मिलने का समय दिया जाना चाहिए. इन चीज़ों पर गंभीरता से सोचने की जरूरत है. आप चाहते हैं कि खिलाड़ियों की अच्छी मानसिक हालत रहे.'



ये भी पढ़ें:- IPL 2020: लगातार फ्लॉप हो रहे ऋषभ पंत को लेकर पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा का बयान- बैटिंग को लेकर कंफ्यूज हैं वो

भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा
बता दें कि भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा नवंबर में शुरू हो कर अगले साल फरवरी तक चलेगा. यानी इस दौरान खिलाड़ी करीब 4 महीनों तक परिवार से दूर रहेंगे. अच्छी बात ये है कि बीसीसीआई ने ये कहा कि खिलाड़ी के परिवार के सदस्य दौरे पर जा सकते हैं. लेकिन उन्हें भी बायो-बबल में रहना होगा. बता दें कि कुछ खिलाड़ियों के परिवार के सदस्य इन दिनों दुबई में भी उनके साथ हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज