India vs Australia: एडिलेड से आई बड़ी खबर....जीतने के लिए नहीं खेल रहा ऑस्ट्रेलिया!

एडिलेड टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 7 विकेट पर 191 रन बनाए

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 7:51 PM IST
India vs Australia: एडिलेड से आई बड़ी खबर....जीतने के लिए नहीं खेल रहा ऑस्ट्रेलिया!
उस्मान ख्वाजा
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 7:51 PM IST
टीम इंडिया के खिलाफ एडिलेड टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया का डरा, सहमा रूप पहली बार वर्ल्ड क्रिकेट ने देखा. जो ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने आक्रामक क्रिकेट और जुबानी वार के लिए जानी जाती थी आज वही टीम रक्षात्मक क्रिकेट खेलती दिखाई दी. यही नहीं टीम इंडिया की ओर से हो रही स्लेजिंग का भी वो कंगारू खिलाड़ी जवाब नहीं दे रहे हैं. एडिलेड में कमेंट्री करने के लिए मौजूद क्रिकेट एक्सपर्ट हर्षा भोगले ने भी एक बड़ी बात कही. उन्होंने बताया कि, पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम ये सोचती थी कि विरोधियों का सूपड़ा साफ कैसे किया जाए लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया में ऐसा माहौल है कि वो किसी तरह टीम इंडिया से सीरीज ड्रॉ करा ले. ऑस्ट्रेलियाई टीम की यही मानसिकता एडिलेड टेस्ट के दूसरे दिन दिखाई भी दी.

ऑस्ट्रेलिया का डिफेंसिव क्रिकेट
ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड टेस्ट के दूसरे दिन 88 ओवर खेले और वो सिर्फ 191 रन बना सका. इस दौरान उसने 7 विकेट भी खोए. मतलब ऑस्ट्रेलिया ने हर ओवर में 2.17 रन बनाए, जो कि बेहद ही चौंकाने वाला है. ऑस्ट्रेलिया का इतिहास रहा है कि अपने घर पर वो 90 ओवर के खेल में आक्रामक क्रिकेट खेलता है और कम से कम 350 रन जरूर बनाता है लेकिन ऐसा हुआ नहीं. ऑस्ट्रेलिया के सबसे अच्छे बल्लेबाज बताए जा रहे उस्मान ख्वाजा ने 125 गेंदों में सिर्फ 28 रन बनाए. शॉन मार्श 19 गेंद में दो ही रन बना सके. हैंड्सकॉम्ब ने भी 34 रनों के लिए 93 गेंद खेली. ख्वाजा का स्ट्राइक रेट 22.40 रहा, मार्श ने सिर्फ 10 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए और हैंड्सकॉम्ब ने भी 35 के स्ट्राइक रेट से रन जमाए. ऑस्ट्रेलिया की ऐसी बल्लेबाजी देख हरभजन सिंह ने भी कहा कि उन्होंने पहली बार कंगारू टीम को इतना धीमा खेलते देखा है.



भारतीय गेंदबाजों का गजब कंट्रोल
वैसे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के धीमा खेलने की वजह टीम इंडिया के गेंदबाज भी रहे, जिन्होंने गजब की लाइन लेंथ के साथ गेंदबाजी की. सभी न गुड लेंथ पर लगातार गेंद फेंकी और ऑस्ट्रेलियाई टीम महज 16 फीसदी आक्रामक शॉट खेल पाई. हालांकि ये भी सच है कि अगर आपकी सोच आक्रामक हो तो आप गेंदबाज को लेंथ बदलने के मजबूर करते हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ऐसा करते नहीं दिखाई दिए.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर