अपना शहर चुनें

States

IND vs AUS 2020: ये आंकड़े बयान कर रहे हैं वनडे सीरीज में टीम इंडिया की हार के कारण

भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा है. (PIC: AP)
भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा है. (PIC: AP)

भारत पहले दो वनडे हार कर ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के हाथों तीन मैचों की सीरीज गंवा चुका है. अक्टूबर 2015 के बाद (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ), जनवरी 2016 (इंग्लैंड के खिलाफ) यह पहला मौका है, जब भारत ने दो सीरीज लगातार गंवाई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 2:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत पहले दो वनडे हार कर ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के हाथों तीन मैचों की सीरीज गंवा चुका है. अक्टूबर 2015 के बाद (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ), जनवरी 2016 (इंग्लैंड के खिलाफ) यह पहला मौका है, जब भारत ने दो सीरीज लगातार गंवाई हैं. फरवरी 2020 में भारत न्यूजीलैंड से वनडे सीरीज हारा था. पिछले चार-पांच सालों में भारत लगातार सीरीज दूसरी बार हारा है.

फरवरी 2020 में न्यूजीलैंड ने भारत को 3-0 से हराया था. इससे पहले अक्टूबर 2015 में भारत को दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया ने हराया था. जुलाई 2018 में इंग्लैंड से 1-2 से हारने से पहले भारत 9 सीरीज लगातार जीता था.

मार्च 2019 में ऑस्ट्रेलिया से 3-2 से हारने से पहले भारत लगातार सीरीज जीता था. न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया से सीरीज हारने से पहले भारत लगातार 3 सीरीज जीता था. भारत लगातार 5 वनडे हारा. न्यूजीलैंड से 3 मैच और ऑस्ट्रेलिया से 2 मैच. इससे पहले भारत को 5 लगातार पराजय का सामना 25 अक्टूबर 2015 (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुंबई में) और 20 जनवरी 2016 को (ऑस्ट्रेलिया क खिलाफ कैनबरा) में पराजय मिली थी.



INDvsAUS: ग्लेन मैक्सवेल के स्विच हिट शॉट्स से परेशान हुए इयान चैपल, ICC से की बैन करने की मांग
83.77- द्विपक्षीय सीरीज में भारत का तीसरा सबसे खराब औसत रहा. इसकी मूल वजह रही, भारतीय गेंदबाजों में विकेट ना ले पाना. इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि भारत का सामूहिक गेंदबाजी औसत 83.77 रहा. किसी भी वनडे सीरीज में यह तीसरा सबसे खराब प्रदर्शन है.

66.6- 10 सबसे खराब गेंदबाजी स्ट्राइक रेट में भारतीय गेंदबाज नई गेंद से विकेट नहीं ले पाए. ना वे मिडिल ओवरों में विकेट ले पाए. किसी भी विपक्षी टीम के खिलाफ यह उनका नौवां सबसे खराब स्ट्राइक रेट रहा.

7.54- किसी भी द्वीपक्षीय सीरीज में भारत का सबसे खराब इकोनामी रेट 7.54 रहा. दोनों ही वनडे में गेंदबाजों ने औसत 370 रन दिए. यह उनका क्रिकेट इतिहास का सबसे खराब इकोनामी रेट रहा. इससे पहले 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू पिचों पर भारत का इकोनामी रेट 6.72 था.

प्रेंग्नेट अनुष्का शर्मा को विराट कोहली ने करवाया शीर्षासन, देखें- PIC

7.3 और 7.9- जसप्रीत बुमराह का दो वनडे मैचों में, सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में इकोनॉमी रेट 7.3 और 7.9 रहा. उन्होंने क्रमशः 73 और 79रन दिए. अपने शानदार करियर में ये इकोनॉमी पांच सबसे ज्यादा खराब इकोनॉमी में से है. विश्व कप 2019 के बाद से पावर प्ले में भारत ने पिछले 13 मैचों में केवल पांच विकेट लिए. भारतीय गेंदबाज नई गेंद से पूरी तरह असफल साबित हुए.

8.42- युजवेंद्र चहल का पहले दो वनडे में इकोनॉमी रेट 8.42 रहा. उन्होंने 19 ओवर फेंके और 160 रन दिए. उन्हें केवल एक विकेट मिला. मिडिल ओवरों में भी चहल ना तो ब्रेकथ्रू दिलवा पाए ना और ना ही ऑस्ट्रेलियन बल्लेबाजों पर किसी तरह का अंकुश लगा पाए. पहले वनडे में उन्होंने 10 ओवरों में 89 रन दिए. यह सबसे खर्चीला गेंदबाजी रही, जहां उन्होंने कम से कम 8 ओवर फेंके हों.

5/8- जनवरी 2019 के बाद से भारत रनों का पीछा करते हुए 8 मैच हारा. इनमें से पांच मैचों में भारत ने पावर प्ले में तीन या उससे अधिक विकेट खोए. सिडनी में भारत ने पावर प्ले में 80रन बनाए लेकिन उसने तीन टाप बल्लेबाज खो दिये. दूसरे वनडे में भी भारत ने पावर प्ले मे दो विकेट गंवाए.

24- विराट कोहली 24वां अंतरराष्ट्रीय मैच बिना कोई शतक लगाए खेला. इन मैचों में कोहली ने 39.95 की औसत से 839 रन बनाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज