IND VS AUS: पृथ्वी शॉ की नाकामी की 'दुआ' मांगने वाला क्रिकेटर खुद फ्लॉप, अब खतरे में करियर!

पृथ्वी शॉ की नाकामी की दुआ करने वाला बल्लेबाज खुद फ्लॉप (PIC: AP)

पृथ्वी शॉ की नाकामी की दुआ करने वाला बल्लेबाज खुद फ्लॉप (PIC: AP)

ऑस्ट्रेलिया के ओपनर जो बर्न्स (Joe Burns) मेलबर्न टेस्ट की दोनों पारियों में फ्लॉप, पृथ्वी शॉ के नाकाम होते रहने की बात कही थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 28, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. वो बल्लेबाज जो पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) के नाकाम होते रहने की दुआ मांग रहा था. वो खिलाड़ी जो चाहता था कि पृथ्वी शॉ फ्लॉप होते रहें, अब खुद उसका ही टेस्ट करियर खतरे में पड़ गया है. बात हो रही है ऑस्ट्रेलिया के ओपनर जो बर्न्स (Joe Burns) की जो मेलबर्न टेस्ट की दूसरी पारी में भी महज 4 रन बनाकर आउट हो गए और अब उनके टेस्ट करियर पर ही सवालिया निशान खड़े होने शुरू हो गए हैं. बता दें जो बर्न्स ने बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले मीडिया से बात की थी. उनसे जब पृथ्वी शॉ को कोई सलाह देने की बात कही गई तो इस ओपनर ने कहा कि वो उन्हें कोई सलाह नहीं देंगे क्योंकि वो उन्हें नाकाम होते ही देखना चाहते हैं. हालांकि बर्न्स खुद लगातार नाकाम साबित हो रहे हैं.

जो बर्न्स का मेलबर्न टेस्ट में प्रदर्शन

जो बर्न्स मेलबर्न टेस्ट की दोनों पारियों में फ्लॉप रहे. पहली पारी में वो खाता तक नहीं खोल पाए और बुमराह ने उन्हें पंत के हाथों कैच आउट कराया. इसके बाद दूसरी पारी में उमेश यादव की बेहतरीन आउट स्विंगर ने बर्न्स को ढेर कर दिया. दूसरी पारी में बर्न्स महज 4 रन बना पाए.

बर्न्स के लिए बेहद खराब साल
जो बर्न्स की बात करें तो उनके लिए ये साल बेहद खराब साबित हुआ है. इस साल उन्होंने 13 टेस्ट पारियों में सिर्फ 125 रन बनाए हैं. उन्होंने महज 1 अर्धशतक लगाया है जो कि एडिलेड टेस्ट की दूसरी पारी में उनके बल्ले से निकला था. बर्न्स का औसत 10.41 रहा है. बर्न्स के ये आंकड़े उनके लिए बड़ी मुसीबत खड़ी करने वाले हैं. अब तो उनपर पूर्व क्रिकेटरों ने भी सवालिया निशान खड़े करने शुरू कर दिये हैं.

ICC Awards: एमएस धोनी को मिला बड़ा सम्मान, दशक का बेस्ट स्पिरिट अवॉर्ड जीता

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर कैरी ओकीफे ने मेलबर्न टेस्ट के दौरान कहा कि उन्हें जो बर्न्स का भविष्य ज्यादा उज्ज्वल नहीं दिखाई दे रहा है. ओकीफे ने कहा कि वॉर्नर के लौटते ही उन्हें अपनी जगह से हाथ धोना पड़ेगा. साथ ही उनकी तकनीक सही नहीं है और इसीलिए वो जल्दी आउट हो रहे हैं. ओकीफे के मुताबिक वो अपने सामने का पांव आगे लाते हैं और उनका बल्ला भी तभी उठता है और इसी वजह से वो गेंद को खेलते वक्त बेहद ही खतरनाक पोजिशन पर होते हैं, जिसकी वजह से उनके आउट होने की आशंका बढ़ जाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज