होम /न्यूज /खेल /

IND vs AUS: हार्दिक पंड्या ने टीम इंडिया के लिए दांव पर लगाया अपना करियर

IND vs AUS: हार्दिक पंड्या ने टीम इंडिया के लिए दांव पर लगाया अपना करियर

आईपीएल 2015 में उनकी परफॉर्मेंस इतनी अच्छी रही कि बीसीसीआई ने साल के अंत में उन्हें टी20 के लिए टीम इंडिया में चुन लिया. 2015 में पंड्या केवल एक बोली लगी थी. मुंबई इंडियंस ने उन्हें बेस प्राइस 10 लाख में खरीदा था. इस नीलामी ने उनका भाग्य बदल दिया,  लेकिन क्या आप जानते हैं कि 2014 में उनके लिए किसी टीम ने बोली नहीं लगाई थी. 2016 से पहले हार्दिक पंड्या को टीम इंडिया की कैप हासिल हुई और वह भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में भी शामिल हो गए. वह नियमित रूप से टीम इंडिया में शामिल हुए. वह टेस्ट टीम में भी आ गए. (Hardik Pandya/Instagram)

आईपीएल 2015 में उनकी परफॉर्मेंस इतनी अच्छी रही कि बीसीसीआई ने साल के अंत में उन्हें टी20 के लिए टीम इंडिया में चुन लिया. 2015 में पंड्या केवल एक बोली लगी थी. मुंबई इंडियंस ने उन्हें बेस प्राइस 10 लाख में खरीदा था. इस नीलामी ने उनका भाग्य बदल दिया, लेकिन क्या आप जानते हैं कि 2014 में उनके लिए किसी टीम ने बोली नहीं लगाई थी. 2016 से पहले हार्दिक पंड्या को टीम इंडिया की कैप हासिल हुई और वह भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में भी शामिल हो गए. वह नियमित रूप से टीम इंडिया में शामिल हुए. वह टेस्ट टीम में भी आ गए. (Hardik Pandya/Instagram)

2018 में हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) की कमर में चोट लग गई थी, जिसके बाद उन्‍हें अपना करियर खत्‍म होते नजर आ रहा था. हालांकि सर्जरी के बाद उन्‍होंने टीम में वापसी तो की, मगर तभी से वह गेंदबाजी नहीं कर रहे थे.

    नई दिल्‍ली. टीम इंडिया (Team India) ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पहला वनडे मैच हार चुकी है. दूसरे वनडे में भी उनकी हालत बुरी नजर आ रही है. पहले डेविड वॉर्नर और एरोन फिंच ने 142 रन की साझेदारी की और फिर स्‍टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशेन की जोड़ी गेंदबाजों की धुनाई करने में लग गई. इस जोड़ी को तोड़ना मुश्किल नजर आ रहा था. टीम इंडिया को इस मुश्किल समय से बाहर निकालने और इस जोड़ी को रोकने के लिए भारत के स्‍टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) ने अपना करियर दांव पर लगा दिया.

    जब कोई भी गेंदबाज स्मिथ और लाबुशेन की जोड़ी को तोड़ नहीं पाया तो पंड्या ने गेंद अपने हाथ में ली और गेंदबाजी करने आए. वह इसमें सफल भी हुए . दरअसल 2018 में लगी चोट के बाद पिछले साल अक्‍टूबर में इंग्‍लैंड में उनकी सर्जरी हुई थी. यह चोट इतनी गंभीर थी कि एक समय तो उन्‍हें खुद का करियर ही खत्‍म होता नजर आने लगा था, मगर सर्जरी के बाद उन्‍होंने मैदान पर वापसी की. हालांकि वह तभी से गेंदबाजी नहीं कर रहे थे. यहां तक कि उन्होंने आईपीएल में भी गेंदबाजी नहीं की थी.

    एक ओवर में दिए 5 रन
    काफी समय से हर किसी के पास एक ही सवाल था कि पंड्या गेंदबाजी क्‍यों नहीं कर रहे. जबकि वह अब फिट भी हैं. हालांकि पंड्या ने कहा था कि वह तभी गेंदबाजी करेंगे जब समय सही होगा. जिसके बाद उन्‍होंने दूसरे वनडे में गेंदबाजी की. मैच का 36वां ओवर पंड्या का करीब सालभर बाद फेंका गया पहला ओवर था और इस ओवर में उन्‍होंने महज 5 रन दिए. हालांकि यह कोई नहीं जानता है कि वह गेंदबाजी करना चाहते थे या कप्‍तान कोहली नवदीप सैनी के कुछ ओवर्स को कवर अप करना चाहते थे. फिर पंड्या ने 42वां ओवर फेंका और स्‍टीव स्मिथ को अपना शिकार बनाया. इस ओवर में उन्‍होंने 8 रन दिए. उनके अगले ओवर की पहली गेंद पर रवींद्र जडेजा ने मार्नस लाबुशेन का कैच छोड़ दिया.

    यह भी पढ़ें : 

    IND vs AUS: फिंच और वॉर्नर की जोड़ी का कमाल, पोंटिंग और क्‍लार्क से निकले आगे

    ind vs aus Live Score: जीवनदान मिलने के बाद चौका लगाकर लाबुशेन ने पूरा किया अर्धशतक


    कमर के नीचे लग गई थी चोट
    हार्दिक पंड्या वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के बाद लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर रहे थे. हार्दिक पंड्या को 2018 में एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में कमर में चोट लग गई थी. पंड्या ने दर्द में ही वर्ल्ड कप खेला और उसके बाद उन्हें सर्जरी करानी पड़ी थी.undefined

    Tags: Hardik Pandya, India vs Australia, India vs Australia 2020

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर