अपना शहर चुनें

States

IND VS AUS: दूसरे वनडे से पहले स्टीव स्मिथ की बिगड़ गई थी तबीयत, आने लगे थे चक्कर

IND VS AUS: दूसरे वनडे में स्टीव स्मिथ ने लगातार दूसरा शतक जड़ा था (PC-RAJASTHAN ROYALS)
IND VS AUS: दूसरे वनडे में स्टीव स्मिथ ने लगातार दूसरा शतक जड़ा था (PC-RAJASTHAN ROYALS)

स्‍टीव स्मिथ (steve smith) ने खुलासा किया कि दूसरे वनडे मैच वाले दिन सुबह से ही उन्‍हें बहुत तेज चक्कर (वर्टिगो) आ रहे थे और उनका मैच में खेलना निश्चित नहीं लग रहा था

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 3:00 PM IST
  • Share this:
सिडनी. ऑस्‍ट्रेलिया के स्‍टार बल्‍लेबाज स्‍टीव स्मिथ (Steve Smith) ने भारत के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में लगातार दूसरा शतक जड़ा. स्मिथ ने पहले वनडे में 105 रन और दूसरे में 104 रन की पारी खेलकर ऑस्‍ट्रेलिया की जीत में अहम योगदान दिया. दूसरे मैच में मिली 51 रन से जीत के बाद स्मिथ ने खुलासा किया कि दूसरे मैच में उनका खेला निश्चित नहीं लग रहा था, क्‍योंकि मैच के दिन सुबह ही उनकी तबीयत खराब हो गई थी. स्मिथ को सुबह से ही बहुत तेज चक्कर (वर्टिगो) आ रहे थे और उनका मैच में खेलना निश्चित नहीं लग रहा था. इसके बाद न सिर्फ वह मैदान पर उतरे, बल्कि शानदार शतकीय पारी भी खेली.

स्मिथ ने 64 पर 104 रन की दमदार पारी खेली थी और इस पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को दूसरे वनडे में चार विकेट पर 389 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया और भारत को 51 रन से हराकर वनडे श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली. स्मिथ ने कहा कि उन्हें क्रीज पर थोड़ी देर तक अच्छा नहीं लग रहा था.

डॉक्‍टर के उपचार से मिली राहत
लगातार दूसरे मैच में मैन ऑफ द मैच रहने वाले स्मिथ ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से बात करते हुए कहा कि वह नहीं जानते थे कि वह मैच खेल पाएंगे भी या नही. उन्‍हें सुबह से ही बहुत तेज चक्कर आ रहे थे और काफी परेशानी हो रही थी. स्मिथ ने कहा कि टीम के डॉक्टर लेग गोल्डिंग ने उनका उपचार किया, जिसके बाद उन्‍हें थोड़ी राहत मिली.
यह भी पढ़ें: 



IND vs AUS: भारत को लाबुशेन की चेतावनी, कहा- हमारे टॉप 4 खिलाड़ी इस समय फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट खेल रहे हैं

IND vs AUS: पूरी तरह से फिट पैट कमिंस आखिरी वनडे मैच और टी20 सीरीज से हुए बाहर, जानें वजह
इलाज के लिए डॉक्‍टर के उनके सिर के लिए कई मूवमेंट कराए, जो वर्टिगो (बिनाइन पैरोक्सीमल पॉजिशनल वर्टिगो- बीपीपीवी) के उपचार के लिए कराए जाते हैं. कान के अंदर समस्या से बीपीपीवी होता है. विस्‍फोटक बल्‍लेबजा ने कहा कि डॉक्टर ने सुबह करीब छह बार उनके सिर को घुमाने की प्रक्रिया की, जिससे थोड़ा सुधार हुआ. वह खुश हैं कि वह एक और अच्छी पारी खेल पाए और टीम की मदद करने में सफल रहे. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज