IND VS AUS: 50 दिन में बदली टी नटराजन की किस्मत, बने भारत के 300वें टेस्ट क्रिकेटर

टी नटराजन ने किया टेस्ट डेब्यू (साभार-नटराजन इंस्टाग्राम)

टी20 और वनडे के बाद टी नटराजन (T Natrajan Test Debut) ने टेस्ट डेब्यू भी किया, ब्रिसबेन में भारतीय प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बने

  • Share this:
    नई दिल्ली. मशहूर कवि दुष्यंत कुमार की गजल की दो लाइन हैं- कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो. दुष्यंत कुमार की इन पंक्तियों को साबित कर दिखाया है बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन (T Natrajan Test Debut) ने, जो आज से 50 दिन पहले तक आईपीएल खेल रहे थे और अब ये खिलाड़ी भारत के लिए तीनों फॉर्मेट में डेब्यू कर चुका है. हर खिलाड़ी का सपना अपने देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलना होता है और शुक्रवार को नटराजन का यही सपना पूरा हो गया. ब्रिसबेन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने टी नटराजन को डेब्यू का मौका दिया. गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज को डेब्यू कैप सौंपी और इस तरह नटराजन भारत के 300वें टेस्ट खिलाड़ी बन गए.

    टी नटराजन की कहानी किसी परिकथा से कम नहीं है. इस खिलाड़ी को आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन के बाद बतौर टी20 स्पेशलिस्ट टीम में शामिल किया गया था. टी20 सीरीज में भी उनका खेलना तय नहीं था क्योंकि भारत के पास और भी अच्छे गेंदबाज थे. लेकिन खिलाड़ियों की चोटों ने सबसे पहले नटराजन को वनडे डेब्यू का मौका दिया. नटराजन ने 2 दिसंबर, 2020 को कैनबरा में डेब्यू किया और वहां दो विकेट लेकर अपनी छाप छोड़ी. इसके बाद नटराजन को टी20 सीरीज के तीनों मैच खिलाए गए. नटराजन ने अपना टैलेंट वहां भी दिखाया और वो सीरीज के सबसे अच्छे गेंदबाज साबित हुए. बाएं हाथ के इस गेंदबाज ने 6 विकेट अपने नाम किये, इस दौरान उनका इकॉनमी रेट महज 6.91 रहा.

    नेट गेंदबाज बना टेस्ट क्रिकेटर
    वनडे और टी20 में डेब्यू के बाद टी नटराजन को बतौर नेट गेंदबाज टेस्ट टीम के साथ रखा गया. वो रोजाना भारतीय गेंदबाजों को बल्लेबाजी प्रैक्टिस कराते. इस दौरान एक विवाद भी हुआ. विराट कोहली एडिलेड टेस्ट के बाद पितृत्व अवकाश लेकर भारत लौटे और पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने सवाल उठाया कि टी नटराजन भी हाल ही में पिता बने हैं और बीसीसीआई ने उन्हें बतौर नेट गेंदबाज टेस्ट टीम के साथ रखा हुआ है. हालांकि उस वक्त कोई नहीं जानता था कि टी नटराजन की किस्मत ब्रिसबेन आते-आते बदल जाएगी. चौथा टेस्ट आते-आते मोहम्मद शमी चोटिल हुए, जसप्रीत बुमराह को चोट लगी. आर अश्विन और जडेजा भी चोट खा बैठे. इसके बाद टीम इंडिया ने टी नटराजन को टेस्ट डेब्यू का मौका दिया.

    टी नटराजन की कहानी
    टी नटराजन की कहानी इसलिए भी बेहद खास है क्योंकि ये खिलाड़ी तमिलनाडु के छोटे से गांव चिन्नापाम्पट्टी में जन्मा और इनकी मां मजदूरी कर परिवार का पेट पालती थी. टी नटराजन टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलते थे और एक दिन उनपर कोच जयप्रकाश की नजर पड़ी, जिसके बाद बाएं हाथ के इस गेंदबाज को तमिलनाडु प्रीमियर लीग में खेलने का मौका मिला. नटराजन ने इसके बाद आईपीएल में जगह बनाई और आज ये खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए तीनों फॉर्मेट खेल रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.