Ind vs Eng, 1st ODI, Preview: अब वनडे में वर्ल्‍ड चैंपियन को पटखनी देने मैदान पर उतरेगी टीम इंडिया

विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे में एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया. वो तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 10 हजार रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने. (PIC: AP)

विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे में एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया. वो तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 10 हजार रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने. (PIC: AP)

भारत और इंग्‍लैंड (India vs England) के बीच मंगलवार को तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेला जाएगा. भारत ने इंग्‍लैंड के खिलाफ इससे पहले टेस्‍ट और टी20 सीरीज में जीत दर्ज की है और उसकी कोशिश इसी लय को आगे बढ़ाने की है

  • Share this:
पुणे. टेस्ट और टी20 में शानदार वापसी करने वाली भारतीय टीम विश्व चैंपियन इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज में जीत से शुरुआत करने की कोशिश करेगी, जिसमें सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी. दूसरी तरफ इंग्लैंड ने टेस्ट और टी20 में जीत से शुरुआत की थी, लेकिन इन दोनों फॉर्मेट में वह लय बरकरार रखने में नाकाम रहा था. अब ऑयन मोर्गन की अगुआई वाली टीम अपनी इन कमियों को दूर करके दौरे का सकारात्मक अंत करना चाहेगी. धवन के लिए विशेषकर यह सीरीज काफी महत्वपूर्ण है. 35 साल के सलामी बल्लेबाज धवन अहमदाबाद में पहले टी20 मैच में प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे थे, जिसके बाद उन्हें अन्य मैचों में मौका नहीं दिया गया. भारत के पास शीर्षक्रम में कई विकल्प मौजूद हैं.

शुभमन गिल अभी टीम में हैं जबकि पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल भी अपना दावा पेश कर रहे हैं और ऐसे में धवन के लिए यह मैच अग्नि परीक्षा से कम नहीं होगा. पूरी संभावना है कि रोहित शर्मा के साथ धवन पारी की शुरुआत करेंगे. रोहित ने टी20 में शानदार प्रदर्शन किया था और वह अपनी इस लय को बरकरार रखने की कोशिश करेंगे. वनडे में धवन को अपनी पारी का संवारने का समय मिल जाता है और ऐसे में वह मंगलवार को लय में वापसी करने की कोशिश करेंगे. जहां तक भारतीय टीम का सवाल है तो वह इस साल के आखिर में होने वाले टी20 विश्व कप की अपनी तैयारियों को ही आगे बढ़ाएगी, क्योंकि इस वर्ष वनडे में कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं खेला जाना है.

पुणे में शतक का इंतजार खत्‍म करना चाहेंगे कोहली

कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में अच्छी पारियां खेली और वनडे में भी वह बड़ी पारियां खेलने की कोशिश करेंगे क्योंकि उन्होंने वनडे में अपना आखिरी और 43वां शतक अगस्त 2019 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में लगाया था. कोहली शतक का इंतजार यहां समाप्त करना चाहेंगे. केएल राहुल और ऋषभ पंत दोनों के अंतिम एकादश में जगह बनाने की संभावना है. राहुल को हालांकि शीर्ष क्रम में नहीं बल्कि मध्यक्रम में उतारा जाएगा. वह पिछले साल से मध्यक्रम में ही खेल रहे हैं. पंत को विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी के साथ हार्दिक पंड्या के साथ निचले मध्यक्रम में अहम भूमिका निभानी होगी.
ऐसी स्थिति में अंतिम एकादश में एक जगह के लिए मुंबई के श्रेयस अय्यर और सूर्यकुमार यादव के बीच प्रतिस्पर्धा होगी. सूर्यकुमार ने टी20 श्रृंखला में अपने करारे शॉट से प्रभावित किया था, लेकिन अय्यर पिछले कुछ समय से मध्यक्रम में अच्छी भूमिका निभा रहे हैं. टी20 सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करने वाले भुवनेश्वर कुमार गेंदबाजी विभाग की अगुआई करेंगे. उनके साथ शार्दुल ठाकुर को नई गेंद का जिम्मा दिया जा सकता है. उन्होंने टी20 श्रृंखला में आठ विकेट लिए थे.

चहल और सुंदर को मिल सकती है प्राथमिकता

मोहम्मद सिराज और प्रसिद्ध कृष्णा भी टीम में हैं. कप्तान कोहली पहले ही कृष्णा की प्रशंसा कर चुके हैं. विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने सात मैचों में 14 विकेट लिये थे. स्पिन विभाग में युजवेंद्र चहल और वाशिंगटन सुंदर को क्रुणाल पंड्या और कुलदीप यादव पर प्राथमिकता मिल सकती है. हार्दिक पंड्या अब फिट हैं और पांचवें गेंदबाज की भूमिका निभाएंगे, लेकिन देखना यह होगा कि वह कितने ओवर कर सकते हैं. इंग्लैंड भी जीत के साथ दौरे का अंत करने के लिये बेताब होगा, क्योंकि उसने अच्छी शुरुआत करने के बावजूद टेस्ट श्रृंखला 1-3 से और टी20 श्रृंखला 2-3 से गंवाई थी.



यह भी पढ़ें :

Ind vs Eng: इंग्‍लैंड भले ही दुनिया की नंबर एक वनडे टीम, मगर भारत का पलड़ा है भारी

Ind vs Eng, 1st ODI: क्रुणाल पंड्या कर सकते हैं डेब्‍यू, जानें भारत और इंग्‍लैंड की संभावित प्‍लेइंग XI



इंग्लैंड के कप्तान मोर्गन, जोस बटलर, जैसन रॉय और ऑलराउंडर बेन स्टोक्स की फॉर्म काफी मायने रखेगी. उसके इन चारों प्रमुख बल्लेबाजों को निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है. इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने अपनी तेजी से भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया था और जोफ्रा आर्चर के चोटिल होने के बाद क्रिस जोर्डन और युवा सैम कुरेन के साथ उनकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है. मोईन अली और आदिल राशिद की स्पिन जोड़ी भारतीय बल्लेबाजों को खास परेशान नहीं कर पाई और यह देखना दिलचस्प होगा कि वनडे में उनकी रणनीति क्या होती है. मोईन टीम के लिए पिंच हिटर की भूमिका भी निभा सकते हैं. भारत में कोविड-19 के मामले फिर से बढ़ने के कारण यह मैच खाली स्टेडियम में खेला जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज