India vs England: पुछल्ले बल्लेबाजों ने निकाला अंग्रेजों का पसीना, भारत ने पहली पारी में बनाई 160 रनों की बढ़त

अक्षर पटेल ने पहली पारी में चार विकेट लेने के अलावा 43 रन बनाए (फोटो-AP)

अक्षर पटेल ने पहली पारी में चार विकेट लेने के अलावा 43 रन बनाए (फोटो-AP)

India vs England: 146 रन पर छह विकेट गिरने के बाद भारत के आखिरी पांच बल्लेबाजों ने 219 रन जोड़े जिससे भारत पहली पारी में 365 रन बनाने में सफल रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 6, 2021, 11:44 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वॉशिंगटन सुंदर इंग्लैंड के खिलाफ चौथे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन 96 रन पर नाबाद रहे जबकि भारतीय टीम पहली पारी में 365 रन बनाकर पवेलियन लौटी. सुंदर शतक से चार रन से चूक गए चूंकि दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे. इंग्लैंड ने पहली पारी में 205 रन बनाये थे और अब भारत के पास 160 रन की अहम बढ़त है. इंग्लैंड के लिये बेन स्टोक्स ने चार और जेम्स एंडरसन ने तीन विकेट लिये. सुंदर ने अलावा तीसरे दिन अक्षर पटेल ने 43 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली और आठवें विकेट के लिए सुंदर के साथ 106 रनों की साझेदारी की. अक्षर पटेल रन चुराने के प्रयास में आउट हुए. इसके बाद अगले ही ओवर में बेन स्टोक्स ने इशांत शर्मा और मोहम्मद सिराज को चार गेंदों के अंदर पवेलियन भेज दिया.

गुंडप्पा विश्वनाथ, वेंगसरकर के अनलकी क्लब में शामिल हुए वॉशिंगटन सुंदर
सुंदर ने अपनी पारी में 174 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके और एक छक्का लगाया. हालांकि वह शतक लगाने से चूक गए. उनसे पहले गुंडप्पा विश्वनाथ (नाबाद 97), दिलीप वेंगसकर (नाबाद 98) और रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 91) भी ऐसी ही स्थिति में शतक से चूक गए थे जब उन्हें दूसरे छोर से बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला.

सुंदर-पंत ने कराई मैच में भारत की वापसी
एक समय भारत के छह विकेट सिर्फ 146 रन पर गिर गए थे. इसके बाद ऋषभ पंत और वॉशिंगटन सुंदर ने मोर्चा संभाला. पंत ने भारतीय धरती पर अपना पहला शतक जड़ते हुए 118 गेंदों पर 13 चौके और दो छक्के की मदद से 101 रनों की पारी खेली. पंत ने सातवें विकेट के लिए सुंदर के साथ 113 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई. पंत के आउट होने के बाद इस सीरीज में गेंद से धमाल मचा चुके अक्षर पटेल ने बल्लेबाजी में हाथ दिखाए. उन्होंने भी सुंदर के साथ शतकीय साझेदारी निभाई.



टेस्ट क्रिकेट में ऐसा सिर्फ तीसरी बार हुआ जब सातवें और आठवें विकेट के लिए 100 रनों से ज्यादा की साझेदारी हुई है. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी टेस्ट 2007/08 और इंग्लैंड व ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी टेस्ट 2010/11 में ऐसा हो चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज