• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IND vs ENG: नॉटिंघम टेस्ट की पिच की तस्वीर सामने आई, टीम इंडिया की बढ़ सकती है टेंशन

IND vs ENG: नॉटिंघम टेस्ट की पिच की तस्वीर सामने आई, टीम इंडिया की बढ़ सकती है टेंशन

IND vs ENG: भारत और इंग्लैंड के बीच 4 अगस्त से नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज मैदान पर पहला टेस्ट खेला जाएगा. इसकी पिच पर काफी घास नजर आ रही है. (BCCI Twitter)

IND vs ENG: भारत और इंग्लैंड के बीच 4 अगस्त से नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज मैदान पर पहला टेस्ट खेला जाएगा. इसकी पिच पर काफी घास नजर आ रही है. (BCCI Twitter)

India vs England: भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से पांच टेस्ट की सीरीज का पहला मुकाबला नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज (IND vs ENG Nottingham Test) मैदान में खेला जाएगा. इससे पहले बीसीसीआई (BCCI) ने नॉटिंघम की पिच (Nottingham Test Pitch) की तस्वीर शेयर की है, जिसे देखकर टीम इंडिया का टेंशन बढ़़ सकता है. क्योंकि पिच पर काफी घास नजर आ रही है. अगर इसी पिच पर पहला टेस्ट हुआ, तो फिर जेम्स एंडरसन (James Anderson) और स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) भारत के लिए घातक साबित हो सकते हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से पांच टेस्ट की सीरीज का पहला मुकाबला नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज ( India vs England Nottingham Test) मैदान में खेला जाएगा. इस मुकाबले से पहले एक तस्वीर सामने आई है, जो टीम इंडिया का टेंशन बढा सकती है. दरअसल, बीसीसीआई (BCCI) ने नॉटिंघम की पिच (Nottingham Test Pitch) की तस्वीर शेयर की है, जिसे देखकर टीम इंडिया परेशान हो सकती है. पिच पर काफी घास नजर आ रही है. अगर इसी पिच पर पहला टेस्ट खेला जाता है, तो फिर तो विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई वाली टीम इंडिया के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है.

    वैसे भी इंग्लैंड में कंडीशंस तेज गेंदबाजों के पक्ष में होती है. वहां, सीम और स्विंग गेंदबाजों को काफी मदद मिलती है. ऐसे में अगर पिच पर घास रहती है, तो फिर तेज गेंदबाज और खतरनाक साबित हो सकते हैं. इस बीच, टीम इंडिया डरहम से नॉटिंघम पहुंच गई है और वहां ट्रेनिंग शुरू कर दी है. विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के बाद भारतीय खिलाड़ियों को 20 दिन का ब्रेक मिला था. इसके बाद टीम इंडिया ने काउंटी सेलेक्ट इलेवन के खिलाफ 20 से 22 जुलाई के बीच एक अभ्यास मैच खेला था, जो ड्रॉ रहा था.

    एंडरसन ने ट्रेंटब्रिज में सबसे ज्यादा 64 विकेट लिए
    अभ्यास मैच में विराट कोहली नहीं खेले थे. भारत के लिए इस मैच में केएल राहुल ने पहली पारी में 101 और रविंद्र जडेजा ने 75 रन बनाए थे. वहीं, उमेश यादव (Umesh Yadav) तीन विकेट लेने में सफल रहे थे. नॉटिंघम में तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन हमेशा से ही अच्छा रहा है. ऐसे में अगर ग्रीन टॉप विकेट रहा तो, इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) और स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) भारत के लिए घातक साबित हो सकते हैं. ट्रेंटब्रिज में उनका रिकॉर्ड भी इसी तरह इशारा कर रहा है. एंडरसन ने इस मैदान पर 10 टेस्ट में 19.62 के औसत से सबसे ज्यादा 64 विकेट लिए हैं. उन्होंने नॉटिंघम में 7 बार 5 और 2 बार 10 विकेट लिए हैं.

    ऋषभ पंत बोले, खुशी है कि अपनी गलतियों से सबक सीखे और मौकों का फायदा उठाया

    एंडरसन और ब्रॉड बढ़ा सकते हैं भारत की मुश्किल
    ब्रॉड ट्रेंटब्रिज में विकेट लेने के मामले में तीसरे स्थान पर हैं. उन्होंने 6 टेस्ट में 20.21 के औसत से 41 विकेट लिए हैं. उन्होंने 1 बार 10 और 4 बार पांच विकेट लिए हैं. बेन स्टोक्स ने भी इस मैदान पर खेले 4 टेस्ट में 14 विकेट लिए हैं. हालांकि, टीम इंडिया के लिए राहत की बात है कि वो टेस्ट सीरीज नहीं खेले रहे हैं. भारत के लिए इशांत शर्मा ने इस मैदान पर 3 टेस्ट में 12 विकेट लिए हैं. वो एक बार भी पांच विकेट लेने में सफल नहीं रहे हैं.

    IND vs ENG: आकाश चोपड़ा ने बताया कैसे बेन स्टोक्स की गैरमौजूदगी का टीम इंडिया को मिलेगा फायदा

    भारत नॉटिंघम में हुआ पिछला टेस्ट जीता था
    भारत के लिए अच्छी बात यह है कि 2018 के इंग्लैंड दौरे पर भारत पांच टेस्ट की सीरीज में 1-4 से हार गया था. लेकिन जिस एक टेस्ट में उसे जीत मिली थी. वो नॉटिंघम में ही हुआ था. तब भारत ने इंग्लैंड को 203 रन से शिकस्त दी थी. उस मुकाबले में विराट कोहली ने पहली पारी में 97 और दूसरी में 103 रन की पारी खेली थी. वहीं, अगर गेंदबाजी की बात करें तो जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या ने मैच में पांच-पांच विकेट लिए थे. 2014 के इंग्लैंड दौरे पर भी भारत ने ट्रेंटब्रिज में एक टेस्ट खेला था और वो भी ड्रॉ रहा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज