IND vs ENG: अजहर को यूं ही याद नहीं आए कुंबले-राजू, अश्विन-अक्षर ने उन्हीं की तरह किया कमाल

 मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 
 अक्षर पटेल और अश्विन की  जमकर तारीफ की है. (Mohammad Azharuddin/Instagram)

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने अक्षर पटेल और अश्विन की जमकर तारीफ की है. (Mohammad Azharuddin/Instagram)

IND vs ENG: मोहम्मद अजहरुद्दीन ने ट्वीट किया कि मोटेरा में जिस तरह अश्विन और अक्षर ने एक साथ गेंदबाजी की. उसने मुझे 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ हुई घरेलू टेस्ट सीरीज की याद दिला दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 8:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच दुनिया के सबसे बड़े नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम (Motera Stadium) में खेला गया पहला पिंक बॉल टेस्ट (Pink Ball Test) मेजबान टीम ने दो दिन में ही जीत लिया. इस जीत के हीरो रहे स्पिनर अक्षर पटेल (Axar Patel) और रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin). इन दोनों फिरकी गेंदबाजों ने मैच की दोनों पारियां मिलाकर इंग्लैंड के 18 विकेट लिए. दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 30.4 ओवर बल्लेबाजी की. इसमें से तीस ओवर तो अश्विन और अक्षर ने ही फेंके. बाकी बची चार गेंदे भी स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर ने ही डाली. तेज गेंदबाज इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह को गेंदबाजी का मौका ही नहीं मिला. भारतीय स्पिनर्स के इस प्रदर्शन को देखकर पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन भी बहुत खुश नजर आए और उन्हें लेग स्पिनर अनिल कुंबले और वेंकटपति राजू की याद आ गई.

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने ट्वीट किया कि मोटेरा में जिस तरह अश्विन और अक्षर ने एक साथ गेंदबाजी की. उसने मुझे 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ हुई घरेलू टेस्ट सीरीज की याद दिला दी. जिसमें अनिल कुंबले और वेंकटपति राजू ने भी इसी तरह की गेंदबाजी की थी. उन्होंने आगे कहा कि मुझे तो ऐसा लगा कि जैसे मोटेरा में भी कुंबले और राजू एक साथ गेंदबाजी कर रहे थे.

मोहम्मद अजहरुद्दी ने अश्विन-अक्षर को लेकर एक ट्वीट किया है




बता दें कि 1993 में इंग्लैंड की टीम भारत दौरे पर आई थी और दोनों देशों के बीच तीन टेस्ट की सीरीज हुई थी. इससें भारत ने तीनों टेस्ट जीतकर इंग्लैंड का क्लीन स्वीप किया था. भारतीय टीम ने दो टेस्ट तो पारी के अंतर से जीते थे. कुंबले और राजू की जोड़ी ने सीरीज के तीन टेस्ट में कुल 37 विकेट लिए थे और कुंबले मैन ऑफ द सीरीज चुने गए थे. इन दोनों की तरह ही इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट की मौजूदा सीरीज में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और अक्षर शानदार गेंदबााजी कर रहे हैं. ये दोनों सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-2 गेंदबाज हैं. अश्विन अब तक सीरीज के 3 टेस्ट में 15.70 की औसत से 24 विकेट ले चुके हैं. जबकि अक्षर ने तो 2 टेस्ट में ही 9.44 की औसत से 18 विकेट लिए हैं. उन्होंने पिछली तीन पारियों में पांच-पांच विकेट लिए हैं.
28 साल पहले हमारे 3 स्पिनरों ने इंग्लैंड के खिलाफ कोहराम मचा दिया था

तब पहले टेस्ट में 20 में से 17 विकेट सिर्फ स्पिनरों ने लिए थे
1993 के पहले टेस्ट में स्पिनरों के दबदबे का हाल ये था कि भारत की ओर से लिए गए 20 विकेट में 17 विकेट स्पिनरों ने लिए. मध्यम तेज गति के गेंदबाजों को सिर्फ 3 विकेट मिले. इस मैच में अभी देखना होगा कि भारतीय स्पिनर क्या कमाल करते हैं. हालांकि पहले दिन इंग्लैंड ने उनका डटकर सामना किया है.

IND VS ENG: क्या नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच थी खराब? जानिए क्या कहते हैं ICC के नियम

युवराज सिंह ने भी कुंबले की तारीफ की
अजहरुद्दीन की तरह ही युवराज सिंह को भी इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में भारतीय स्पिनर्स के अच्छे प्रदर्शन के बाद अनिल कुंबले की याद आई. उन्होंने ट्वीट किया कि इस तरह की पिच पर अगर अनिल कुंबले और हरभजन सिंह गेंदबाजी करते तो कम से कम एक हजार और 800 विकेट ले लेते. हालांकि. अक्षऱ और अश्विन ने भी शानदार गेंदबाजी की. उन्हें भी इसकी बधाई.

युवराज सिंह ने भी स्पिनर्स की तारीफ


भारत वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल से एक कदम दूर
भारत ने तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड को 10 विकेट से हराकर 4 टेस्ट की सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त ले ली है. वहीं, टीम इंडिया के वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने की उम्मीद भी मजबूत हो गई है. सीरीज का आखिरी मुकाबला 4 मार्च से इसी मैदान पर होगा. अगर भारत इस टेस्ट को जीत लेता या फिर ड्रॉ करा लेता है तो वो इस साल जून में वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेलेगा. न्यूजीलैंड ने पहले ही अपनी जगह पक्की कर ली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज