IND VS ENG: रवि शास्त्री का बड़ा खुलासा- ऋषभ पंत पर सख्ती की, खेल का सम्मान करना सिखाया

IND VS ENG: रवि शास्त्री का ऋषभ पंत पर बड़ा खुलासा (PIC: AP)

IND VS ENG: रवि शास्त्री का ऋषभ पंत पर बड़ा खुलासा (PIC: AP)

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) चौथे टेस्ट मैच में बने मैन ऑफ द मैच, पहली पारी में नाबाद 101 रन बनाए, हेड कोच रवि शास्त्री ने की तारीफ

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने शनिवार को कहा कि ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद में चौथे और अंतिम टेस्ट में मैच का रूख बदलने वाला शतक घरेलू सरजमीं पर छठे नंबर के बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ जवाबी-आक्रमण वाली पारी थी. पंत की पारी एहतियात और आक्रामकता का मिश्रण थी जिसमें उन्होंने 118 गेंदों का सामना करते हुए 101 रन बनाये और इस पारी ने भारत की शनिवार को पारी और 25 रन की जीत में अहम भूमिका अदा की जिससे टीम ने सीरीज 3-1 से अपने नाम की.

पंत की तारीफ करते हुए शास्त्री ने कहा कि इस विकेटकीपर बल्लेबाज की कड़ी मेहनत ने अब रंग दिखाना शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा, 'पंत ने पिछले तीन चार महीने कड़ी मेहनत की है जिसके नतीजे सामने हैं. मैंने अभी तक किसी भारतीय द्वारा घरेलू सरजमीं पर, खासकर छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए जब गेंद टर्न कर रही होती है, जो पारियां देखी हैं, उसमें कल की उसकी पारी सर्वश्रेष्ठ जवाबी हमले वाली थी. '

पंत पर टीम इंडिया ने दिखाई सख्ती
रोहित शर्मा ने कहा, 'हम पंत के लिये सख्त रहे थे. कुछ भी आसानी से नहीं मिलता और उन्हें बताया गया कि उन्हें खेल का और ज्यादा सम्मान करना होगा. उसे थोड़ा वजन कम करना पड़ेगा और अपनी विकेटकीपिंग में कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. ' शास्त्री ने कहा, 'हम जानते थे कि उसमें प्रतिभा है. वह सच्चा मैच विजेता है और उसने कर दिखाया. ' शास्त्री ने कहा कि रोहित शर्मा के साथ बल्लेबाजी करते हुए उसे अपनी बल्लेबाजी में तालमेल बिठना पड़ा. उन्होंने कहा, 'यह दो चरण की पारी थी. उसने रोहित साथ अपनी प्रकृति के खिलाफ (जो आसान नहीं है) जाकर साझेदारी बनायी और 50 रन बनाने के बाद ही ऐसा किया. उसकी कीपिंग शानदार रही. '
IND VS ENG: पहले टेस्ट मैच में हार के बावजूद 3-1 से सीरीज जीता भारत, ये रहे जीत के 5 हीरो



टीम इंडिया की जीत से बेहद खुश हैं शास्त्री
रवि शास्त्री टीम इंडिया की जीत से बेहद खुश दिखे. उन्होंने कहा, 'आपने जिंदगी भर ये काम किया. मैं अपने रोल से खुश हूं. मुश्किल हालात में युवा खिलाड़ियों को ऐसा प्रदर्शन करते देख अच्छा लगता है. जिस तरह से पंत और वॉशिंगटन सुंदर ने हमारी वापसी कराई वो कमाल है. उन्होंने बहुत कुछ सीखा. वैसे ये सब रातों रात नहीं हुआ है, पिछले ढाई साल से हम अच्छा खेल रहे हैं.' वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने पर शास्त्री ने कहा, 'भारत सिर्फ एक सीरीज को देख रहा था उसका ध्यान वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप पर नहीं था. रातों-रात वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के नियम बदले गए लेकिन हमें इससे कोई शिकायत नहीं रही.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज