IND VS ENG: इंग्लैंड के खेमे में जसप्रीत बुमराह का खौफ, कहा- उनके खिलाफ तैयारी करना बेहद मुश्किल

IND VS ENG: इंग्लैंड के खेमे में बुमराह का खौफ (PC-AP)

IND VS ENG: इंग्लैंड के खेमे में बुमराह का खौफ (PC-AP)

इंग्लैंड के ओपनर रॉरी बर्न्स (Rory Burns) को उम्मीद- भारत तेज गेंदबाजों की पिच बनाएगा, जानिए उन्हें ऐसा क्यों लगता है?

  • Share this:

नई दिल्ली. जब भी कोई विदेशी टीम भारत में टेस्ट सीरीज खेलने आती है तो उसकी चिंता होती है कि वो यहां कि स्पिन फ्रेंडली पिचों पर कैसे खेलेंगे. लेकिन इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज रॉरी बर्न्स (Rory Burns)  ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कहा है कि हो सकता है मेजबान टीम तेज पिच तैयार कराएगा. रॉरी बर्न्स ने कहा कि भारत के पास जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) जैसे अच्छे तेज गेंदबाज हैं जिन्हें देखते हुए विकेट तैयार कराई जा सकती है.

बर्न्स ने कहा, 'पिच के बारे में जाने बिना आप उन पर अपेक्षाओं का बोझ नहीं डालना चाहते तथा भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण को देखते हुए हो सकता है कि विकेट थोड़ा तेज गेंदबाजों के अनुकूल हो. एक दिन रात्रि मैच भी होगा इसलिए यह (विकेट) थोड़ा भिन्न हो सकता है. ' बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने स्वीकार किया कि बुमराह जैसे गेंदबाज के लिये तैयारी करना कड़ी चुनौती है. उन्होंने कहा, 'उनके लिये तैयारी करना वास्तव में चुनौतीपूर्ण है. वह जिस तरह से गेंदबाजी करते हैं वह सबसे अलग है. हम इन पहलुओं पर काम कर रहे हैं और जितना हो सके क्रीज पर इन्हें दोहराने की कोशिश करेंगे. '

स्पिनर्स पर नहीं बनाना चाहिए दबाव-बर्न्स

तीस वर्षीय बर्न्स ने इसके साथ ही कहा कि उनकी स्पिन जोड़ी ऑफ ब्रेक गेंदबाज डॉम बेस और बायें हाथ के स्पिनर जैक लीच पर दबाव नहीं बनाना चाहिए जिन्हें भारत की मजबूत बल्लेबाजी का सामना करना है. बर्न्स ने गुरुवार को वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो आपको उन पर उम्मीदों का बोझ नहीं लादना चाहिए. वे अपना काम करेंगे और उन्होंने श्रीलंका में गेंदबाजी की और अच्छी लय में हैं जो कि महत्वपूर्ण है और यह भारतीय पिचों के अनुकूल प्रदर्शन करने से जुड़ा है. ' उन्होंने कहा, 'वे पहले भी विभिन्न टीमों के साथ यहां का दौरा कर चुके हैं और इसलिए उन्हें यहां खेलने का अनुभव है. '
T10 League 2021: अब्दुल शकूर ने 28 गेंदों पर बनाए 73 रन, महज 14 गेंदों पर जड़ा अर्धशतक

इंग्लैंड की टीम को पांच दिन के क्वारंटीन पीरियड के बाद केवल तीन दिन के अभ्यास का मौका मिलेगा. इस बल्लेबाज ने होटल के कमरे में शीशे के सामने शैडो बल्लेबाजी का अभ्यास किया. उन्होंने स्वीकार किया कि कोविड के बाद की दुनिया चुनौतीपूर्ण है. बर्न्स ने कहा, 'हां यह वास्तव में चुनौती है. हम इस कार्यक्रम के साथ कुछ नहीं कर सकते. इसके बारे में सोचना समय बर्बाद करना होगा और इससे कोई फायदा नहीं होने वाला है. '

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज