• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IND VS ENG: टीम इंडिया ने एक टेस्ट मैच ही जीता है, 3 कमियां नहीं सुधारी तो सीरीज नहीं जीत पाएगी

IND VS ENG: टीम इंडिया ने एक टेस्ट मैच ही जीता है, 3 कमियां नहीं सुधारी तो सीरीज नहीं जीत पाएगी

India vs England: भारत 5 टेस्ट की सीरीज में भले ही 1-0 से आगे है. लेकिन अब भी कई कमजोरियां ऐसी हैं, जिसे दूर किए बिना सीरीज जीतना मुश्किल है. (AP)

India vs England: भारत 5 टेस्ट की सीरीज में भले ही 1-0 से आगे है. लेकिन अब भी कई कमजोरियां ऐसी हैं, जिसे दूर किए बिना सीरीज जीतना मुश्किल है. (AP)

IND VS ENG: भारत और इंग्लैंड के बीच 25 अगस्त से हेडिंग्ले (IND vs ENG Headingley Test) में तीसरा टेस्ट खेला जाएगा. भारत लॉर्ड्स टेस्ट जीतकर सीरीज में 1-0 से आगे है. लेकिन अब भी ऐसी कई कमियां हैं, जिन्हें दूर किए बिना सीरीज जीतने का सपना सच नहीं हो सकता है. खासतौर पर कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का फॉर्म में आना सबसे जरूरी है. वहां, ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को भी पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे जैसा प्रदर्शन दिखाना होगा. अगर भारत ऐसा करने में सफल रहता है, तो इंग्लैंड में 14 साल बाद सीरीज जीतना भी आसान हो जाए.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच 25 अगस्त से हेडिंग्ले (IND vs ENG Headingley Test) में तीसरा टेस्ट खेला जाएगा.  भारत लॉर्ड्स टेस्ट 151 रन से जीतने के बाद सीरीज में 1-0 से आगे है. टीम इंडिया भले ही सीरीज में आगे है. लेकिन, अब भी 3 टेस्ट बाकी हैं और ऐसी कई कमियां हैं, जिसे दूर किए बिना सीरीज जीतना आसान नहीं होगा. खासतौर पर भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का फॉर्म भारत के लिए सबसे बड़ी परेशानी बनी हुई है. कोहली सीरीज के 2 टेस्ट की 3 पारियों में 62 रन ही बना पाए हैं. नॉटिंघम में तो वो पहली ही गेंद पर जेम्स एंडरसन (James Anderson) का शिकार हो गए थे. हालांकि, इसके बाद लॉर्ड्स में जरूर वो रंग में नजर आए. लेकिन फिर भी बड़ी पारी नहीं खेल पाए.

    विराट टीम इंडिया की बल्लेबाजी की सबसे मजबूत कड़ी हैं. लेकिन बीते 21 महीने से उनके बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला है. इस दौरान वे तीनों फॉर्मेट यानी टेस्ट, वनडे और टी20 की 49 पारी खेल चुके हैं. इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में हुए दूसरे टेस्ट (IND vs ENG) में भी वे बड़ी पारी नहीं खेल पाए थे. कोहली ने लॉर्ड्स में पहली पारी में 42 जबकि दूसरी में 20 रन ही बनाए थे. कोहली ने पिछला अंतरराष्ट्रीय शतक नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट में लगाया था. इसके बाद अगस्त 2021 यानी 21 महीने से वे एक बार भी 100 का आंकड़ा पार नहीं कर पाए हैं.

    कोहली के खराब प्रदर्शन का टीम पर पड़ा है असर
    कोहली की पिछली 49 पारियों की बात करें, तो वे इस दौरान 10 टेस्ट की 17 पारी में सिर्फ 3 अर्धशतक लगा सके हैं. इस दौरान भारतीय कप्तान ने वनडे की 15 पारियों में 8 अर्धशतक लगााए हैं. वहीं, टी20 की बात करें तो उन्होंने 17 पारियों में 6 अर्धशतक जड़े हैं. कोहली के रन नहीं बनाने का असर भारतीय टीम के प्रदर्शन पर भी पड़ा है. उन्होंने इस दौरान 10 टेस्ट में भारत की कप्तानी की. लेकिन टीम को 5 मैच में हार और 4 में जीत मिली. यानी भारत ने 50 फीसदी टेस्ट मैच गंवाए.

    2018 में कोहली के दम पर नॉटिंघम टेस्ट जीते थे
    विराट की बल्लेबाजी एक तरह से टीम की जीत की गारंटी है. 2018 में हुए पिछले इंग्लैंड दौरे पर यह साबित भी हुआ था. तब भारत 1-4 से टेस्ट सीरीज हारा था. तब टीम इंडिया को सिर्फ नॉटिंघम में जीत मिली थी और उस मुकाबले में विराट का बल्ला जमकर बोला था. उन्होंने पहली पारी में 97 और दूसरी में 103 रन ठोक डाले थे. उस सीरीज में विराट सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उन्होंने 5 टेस्ट में 593 रन बनाए थे. टीम इंडिया को अगर इस बार 14 साल का सूखा खत्म करना है, तो विराट का फॉर्म में आना जरूरी है.

    IND vs ENG: विराट कोहली ही नहीं सचिन भी शतक के सूखे से थे परेशान, फैंस करने लगे थे संन्यास की बात

    पंत के खराब प्रदर्शन ने बढ़ाई टीम इंडिया की चिंता
    पंत इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अब तक अपनी छाप नहीं छोड़ पाए हैं. उन्होंने 2 टेस्ट की 3 पारियों में 84 रन ही बनाए हैं. वो एक बार भी 50 रन का आंकड़ा पार नहीं कर पाए हैं. लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में वो 22 रन बनाकर आउट हो गए थे. वो जिस मोड़ पर आउट हुए थे. वहां से मैच का पलड़ा इंग्लैंड की तऱफ भी झुक सकता था. क्योंकि तब भारत के पास 167 रन की ही बढ़त थी.

    वो तो मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह ने 9वें विकेट के लिए 89 रन जोड़ टीम की बढ़त 250 के पार पहुंचा दी और यह निर्णायक साबित हुआ. अगर टीम इंडिया को यह सीरीज जीतनी है तो पंत को पिछले ऑस्ट्रेलिया और इस साल इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज जैसा खेल दिखाना होगा.

    यह भी पढ़ें: IND vs ENG: इंग्लैंड के कोच ने कहा- हम लड़ाई से नहीं डरते, टीम इंडिया धक्का देगी तो हम जवाब देंगे

    जो रूट को रोकना भी जरूरी
    इस सीरीज में अगर किसी एक बल्लेबाज के प्रदर्शन में निरंतरता नजर आई है, तो वो हैं इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root). वो 2 टेस्ट में भी 128 से ज्यादा के औसत से 386 रन ठोक चुके हैं. उनके बल्ले से 2 शतक और एक अर्धशतक निकला है. लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में भी रूट के बल्ले से नाबाद 180 रन निकले थे. हालांकि, दूसरी पारी में भी वो 33 रन पर आउट हो गए थे. लेकिन, इंग्लैंड की तरफ से यह सबसे बड़ा स्कोर था. इस साल टेस्ट में वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. वो 10 टेस्ट में 67 से ज्यादा के औसत से 1277 रन बना चुके हैं. उन्होंने 5 शतक लगाए हैं.

    रूट भारतीय टीम के लिए बड़ी आफत हैं और लीड्स में होने वाले टेस्ट मैच में इनका तोड़ निकालना बेहद जरूरी है और इसमें जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) काम आ सकते हैं. बुमराह उन्हें सीरीज में 2 बार आउट कर चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन