• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IND vs ENG: जॉनी बेयरस्टो के साथ जो किया, उस पर इंग्लैंड को शर्मिंदा होना चाहिए: बॉयकॉट

IND vs ENG: जॉनी बेयरस्टो के साथ जो किया, उस पर इंग्लैंड को शर्मिंदा होना चाहिए: बॉयकॉट

IND vs ENG: जॉनी बेयरस्टो तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में 0 पर आउट. (Jonny Bairstow/Instagram)

IND vs ENG: जॉनी बेयरस्टो तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में 0 पर आउट. (Jonny Bairstow/Instagram)

IND vs ENG: बेयरस्‍टो ने हाल में ही श्रीलंका के खिलाफ खत्‍म हुई 2 टेस्‍ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में 47 और नाबाद 35 रन बनाए थे. कहा जा रहा है उन्‍हें शुरुआती दो टेस्‍ट से बाहर रखना इंग्‍लैंड एवं वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड की खिलाड़ियों को व्‍यस्‍त कार्यक्रम के बीच आराम देने की नीति का हिस्‍सा है. इंग्‍लैंड को इस साल 17 टेस्‍ट और टी20 वर्ल्‍ड कप खेलना है.

  • Share this:

    लंदन. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ज्योफ्री बॉयकॉट (Geoffrey Boycott) का मानना है कि मौजूदा टीम प्रबंधन को शर्म आनी चाहिए, जिसने जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) के टेस्ट करियर के साथ न्याय नहीं किया है. विकेटकीपर बल्लेबाज बेयरस्टो को भारत के खिलाफ पहले दो टेस्ट (India vs England) के लिए आराम दिया गया है. उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ दोनों टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर खेले और फिर कार्यभार प्रबंधन के चलते स्वदेश लौट आए. बेयरस्टो भारत के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट के लिए उपलब्ध रहेंगे, लेकिन बॉयकॉट का मानना है कि उन्हें दूसरे टेस्ट के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर जोस बटलर की जगह खेलना चाहिए था.

    जोस बटलर (Jos Buttler) को पहले टेस्ट के बाद आराम दिया गया, जो सीमित ओवरों की सीरीज के लिए लौटेंगे. बॉयकॉट ने ‘द टेलिग्राफ’ से कहा, ”बटलर भारत से लौट रहा है, लेकिन उसकी जगह बेयरस्टो ने नहीं ली. एड स्मिथ ( मुख्य चयनकर्ता) नहीं चाहते कि जॉनी विकेटकीपर के तौर पर खेलें.” उन्होंने कहा, ”जॉनी हमेशा कहता आया है कि वह अपने पिता की तरह विकेटकीपर बल्लेबाज बनना चाहता है, लेकिन स्मिथ ने फैसला ले लिया है जो अनुचित है. इंग्लैंड टीम प्रबंधन ने उसके साथ जो किया, उसे शर्मिंदा होना चाहिए.”

    IND vs END: जो रूट की टीम इंडिया को चेतावनी- हम टॉस हारकर भी जीतना जानते हैं

    पूर्व कप्तान ने आगे कहा, “बेयरस्टो वास्तव में आराम की तलाश में नहीं थे, उन्हें मजबूर किया गया है. वह भारत में रहने और विकेटकीपिंग के लिए तैयार थे. जॉनी ने श्रीलंका में रन बनाए. वह आइपीएल में दो साल यहां खेलें हैं. उनका एक ट्रैक रिकॉर्ड है. आपको लगता है कि इंग्लैंड किसी भी स्थान के लिए प्रतियोगिता का स्वागत करेगा. यह टीम के लिए अच्छा है. अगर जॉनी ने अच्छा प्रदर्शन किया और रन बनाए तो बटलर को एहसास हुआ कि उन्हें टीम में बने रहने के लिए अच्छा खेलना होगा.”

    बता दें कि बॉयकॉट इससे पहले माइकल वॉन भी बेयरस्‍टो को बाहर किए जाने से काफी नाराज थे. उन्‍होंने ट्विटर पर पोस्‍ट शेयर करके कहा था कि इंग्‍लैंड की शीर्ष 3 का इकलौता ऐसा खिलाड़ी, जो उपमहाद्वीप की पिचों पर काफी अच्‍छी तरह से खेलता है, उसे दुनिया की बेहतरीन टीम के खिलाफ शुरुआती दो टेस्‍ट मैचों में आराम दिया गया है. यह सोचकर दुनिया का दिमाग खराब है.

    इशान किशन समेत ये तीन खिलाड़ी 2 किमी. के फिटनेस टेस्ट में नहीं हुए फेल, दिया सबूत

    बेयरस्‍टो को बाहर किए जाने से इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान नासिर हुसैन भी भड़के हुए थे. उनका मानना है कि चयनकर्ताओं ने गलती की है. उनका कहना है कि इस फैसले पर फिर से सोचा जाना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि आपको इस दौरे पर रोटेशन या आराम देने पर ध्‍यान देना चाहिए या फिर बड़ी सीरीज के पहले दो मैचों को ध्‍यान में रखकर अपनी सबसे बेहतरीन टीम का चयन करना चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज