Home /News /sports /

IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा ने 34 महीने से टेस्ट में नहीं लगाया शतक, 'संकट' से उबारने के लिए फिर द्रविड़ ने दिया गुरु मंत्र

IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा ने 34 महीने से टेस्ट में नहीं लगाया शतक, 'संकट' से उबारने के लिए फिर द्रविड़ ने दिया गुरु मंत्र

IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा को खराब दौर से उबारने के लिए कोच राहुल द्रविड़ उनके साथ काफी मेहनत कर रहे हैं. (BCCI Twitter)

IND vs NZ: चेतेश्वर पुजारा को खराब दौर से उबारने के लिए कोच राहुल द्रविड़ उनके साथ काफी मेहनत कर रहे हैं. (BCCI Twitter)

IND vs NZ: मुंबई टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) को प्लेइंग-11 में जगह मिलेगी या नहीं. यह सबसे बड़ा सवाल है. क्योंकि बीते 34 महीने में उन्होंने टेस्ट में 1 भी शतक नहीं लगाया है और इस दौरान उन्होंने 23 टेस्ट में 28.61 के औसत से 1116 से रन बनाए हैं. उन्होंने पिछला शतक जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट में लगाया था. कानपुर में भी वो बड़ी पारी नहीं खेल पाए थे. ऐसे में पुजारा को इस संकट से उबारने के लिए टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) काफी कोशिश कर रहे हैं. मुंबई टेस्ट से पहले इससे जुड़ी कुछ तस्वीरें सामने आईं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने पिछला टेस्ट शतक 3 जनवरी 2019 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट में लगाया था. इसके बाद से 34 महीने और 23 टेस्ट बीत चुके हैं लेकिन पुजारा के बल्ले से शतक नहीं निकला है. इस दौरान उन्होंने 28.61 के औसत से 1116 रन बनाए हैं और उनका बेस्ट स्कोर 91 रन रहा है. वो न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट (Kanpur Test) में भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे थे. ऐसे में पुजारा के करियर को पटरी पर लाने की जिम्मेदारी उनसे पहले पहले टीम इंडिया (Team India) के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज माने जाने वाले राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने उठाई है. भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच के रूप में द्रविड़ लगातार कोशिश कर रहे हैं कि पुजारा दोबारा लय हासिल कर लें.

    कानपुर टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) नेट्स पर उन्हें ऑफ स्पिन गेंदबाजी की प्रैक्टिस कराने के बाद राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने मुंबई टेस्ट से पहले भी पुजारा के साथ काफी वक्त बिताया. मुंबई में बारिश होने के कारण खिलाड़ी इंडोर प्रैक्टिस करने को मजबूर हैं. ऐसे में द्रविड़ ने पुजारा को उनके स्टांस को सुधारने में मदद की. इससे जुड़ी कुछ तस्वीरें बीसीसीआई ने अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर की हैं. इन तस्वीरों को साझा करने के साथ बीसीसीआई ने लिखा- जोर-शोर से तैयारी जारी है. टीम इंडिया दूसरे टेस्ट के लिए तैयार हो रही है. इस इंडोर ट्रेनिंग सेशन में भारतीय कप्तान विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और शुभमन गिल भी कोच द्रविड़ की देखरेख में अभ्यास करते नजर आए.

    पुजारा ने 34 महीने में 11 फिफ्टी जड़ी है.
    जहां तक बीते 34 महीने में पुजारा के प्रदर्शन की बात है तो उन्होंने इस दौरान 11 अर्धशतक लगाए हैं. इसमें पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च टेस्ट में 140 गेंद में उनकी 54 रन की जुझारू पारी भी शामिल है. इसके अलावा पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 3 अर्धशतक शामिल हैं. जहां उन्होंने 1300 से ज्यादा गेंदें खेली थी. वहीं, इस साल अगस्त में इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स टेस्ट में 275 गेंद में खेली गई 91 रन की पारी भी शामिल है. हालांकि, इसके बाद कानपुर टेस्ट की दोनों पारियों में उन्होंने 22 और 26 रन बनाए. इसके बाद से ही उन्हें टीम से बाहर करने की आवाज उठने लगी है. लेकिन टीम मैनेजमेंट पुजारा और दूसरे आउट ऑफ फॉर्म बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे के साथ मजबूती से खड़ा किया.

    IND vs NZ 2nd Test: विराट कोहली की टीम में एंट्री से कौन होगा प्लेइंग-11 से ‘आउट’ ? जानें कप्तान का जवाब

    बॉलिंग कोच ने भी पुजारा का बचाव किया
    पहले हेड कोच राहुल द्रविड़ ने यह बात कही थी. अब बॉलिंग कोच पारस म्हाम्ब्रे ने भी यही बात दोहराई है. उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा दोनों के साथ उनका अनुभव है. उन्होंने पर्याप्त क्रिकेट खेला है और हम एक टीम के रूप में भी जानते हैं कि वे फॉर्म में वापस आने से एक पारी दूर हैं. एक टीम के रूप में, हर कोई उनके पीछे है और उनका समर्थन करते हैं. हम जानते हैं कि वे टीम के लिए कितना अहम खिलाड़ी हैं.

    Tags: Cheteshwar Pujara, Cricket news, IND vs NZ, IND vs NZ 2021, India vs New Zealand 2021, Rahul Dravid

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर