Home /News /sports /

IND vs NZ: आर अश्विन के बल्लेबाज से ऑफ स्पिनर बनने में है हरभजन सिंह का रोल, गेंदबाज ने सुनाई 20 साल पुरानी कहानी

IND vs NZ: आर अश्विन के बल्लेबाज से ऑफ स्पिनर बनने में है हरभजन सिंह का रोल, गेंदबाज ने सुनाई 20 साल पुरानी कहानी

IND vs NZ: रविचंद्रन अश्विन ने कानपुर टेस्ट के बाद श्रेयस अय्यर से बीसीसीआई टीवी के लिए हुई बातचीत में अपने ऑफ स्पिनर बनने से जुड़ी दिलचस्प कहानी बताई. (AFP)

IND vs NZ: रविचंद्रन अश्विन ने कानपुर टेस्ट के बाद श्रेयस अय्यर से बीसीसीआई टीवी के लिए हुई बातचीत में अपने ऑफ स्पिनर बनने से जुड़ी दिलचस्प कहानी बताई. (AFP)

IND VS NZ: कानपुर टेस्ट में ऑफ स्पिनर रविचंद्नन अश्विन (R Ashwin) हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) को पीछे छोड़ते हुए टेस्ट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय बने. उनके अब 80 टेस्ट में 419 विकेट हो गए हैं. इसके बाद उन्होंने बीसीसीआई टीवी पर श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) को अपने ऑफ स्पिनर बनने से जुड़ी 20 साल पुरानी कहानी बताई.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारत भले ही न्यूजीलैंड से कानपुर टेस्ट नहीं जीत पाया हो. लेकिन कई खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन से जरूर भारतीय टीम मैनेजमेंट खुश होगा. इसमें ऑफ स्पिनर रविचंद्नन अश्विन (R Ashwin) का नाम सबसे ऊपर है. अश्विन इस टेस्ट में हरभजन सिंह (417 विकेट) को पीछे छोड़कर टेस्ट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय बने. उन्होंने न्यूजीलैंड के ओपनर टॉम लाथम (Tom Latham) को आउट करते ही यह यह उपलब्धि हासिल की. उनके अब 80 टेस्ट में 419 विकेट हो गए हैं.

    कानपुर टेस्ट के खत्म होने के बाद बीसीसीआई टीवी पर श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने आर अश्विन (R Ashwin) से उनके प्रदर्शन को लेकर बात की थी. इसमें ऑफ स्पिनर ने कहा, “यह सिर्फ नंबर है, जो मेरी कोशिशों के कारण हासिल हो रहे हैं. मैं अपने खेल का आनंद लेने की कोशिश कर रहा हूं. मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि मैं कितने विकेट के रिकॉर्ड को पार कर रहा हूं. मेरे लिए यह गर्व की बात है. आप भारत के लिए खेलते हैं, मेरा 200वां विकेट इसी मैदान पर था और अब मैंने कानपुर में ही हरभजन सिंह को पीछे छोड़ा.”

    हरभजन से प्रेरित होकर ऑफ स्पिनर बना: अश्विन
    अश्विन ने आगे कहा, “जब हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक गेंदबाजी की थी. तब मैंने नहीं सोचा था कि एक दिन ऑफ स्पिनर बनूंगा. मैं उनसे (हरभजन) प्रेरित था और आज यहां हूं. बहुत से लोगों को यह कहानी पता होगी कि मैं पहले बल्लेबाज था. लेकिन 2001 की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के बाद, मैंने स्पिन गेंदबाजी करने का फैसला किया. इस तरह मैंने शुरुआत की. मुझे नहीं पता कि मैं अब हरभजन के स्टाइल को कॉपी कर सकता हूं या नहीं.”

    ‘ कानपुर टेस्ट नहीं जीतने से मायूस हूं’
    कानपुर टेस्ट ड्रॉ होने पर अश्विन ने कहा कि, “मैं धीरे-धीरे इस बात को जज्ब कर पा रहा हूं कि हम टेस्ट नहीं जीत पाए. हम इतने नजदीक आकर भी दूर रह गए. मेरे लिए इससे उबरना थोड़ा मुश्किल है. इससे पहले जमैका में भी ऐसा हो चुका है. एक गेंदबाज के तौर पर मुझे इससे निकलने में थोड़ा वक्त लगेगा.”

    IND vs NZ: अजिंक्य रहाणे का टीम इंडिया से कटेगा पत्ता ? कोच राहुल द्रविड़ ने इशारों में कही बड़ी बात

    IPL 2022 Retention List: एमएस धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा रिटेन, हार्दिक पंड्या रिलीज: रिपोर्ट

    भारत को आखिरी दिन कानपुर टेस्ट जीतने के लिए 9 विकेट की दरकार थी. लेकिन टीम इंडिया 8 विकेट ही हासिल कर पाई. मैच को ड्रॉ कराने में डेब्यू कर रहे रचिन रवींद्र (Rachin Ravindra) और एजाज पटेल (Ajaz Patel) ने बड़ी भूमिका निभाई. रचिन ने 91 गेंदें खेली, जबकि एजाज ने 23 गेंदों का सामना किया. आखिरी विकेट के लिए इस जोड़ी ने कुल 52 गेंदों का सामना किया.

    Tags: Cricket news, Harbhajan singh, IND vs NZ 1st test, IND vs NZ 2021, India vs new zealand, R ashwin, Shreyas iyer

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर