इशांत शर्मा के करियर के साथ एनसीए ने किया खिलवाड़, ये वजह आई सामने!

इशांत शर्मा के करियर के साथ एनसीए ने किया खिलवाड़, ये वजह आई सामने!
एनसीए में मुख्य फिजियो आशीष कौशिक के साथ इशांत शर्मा (फाइल फाेटो)

रणजी ट्रॉफी के दौरान इशांत शर्मा (Ishant Sharma) को टखने में चोट लगी थी और उन्हें ग्रेड तीन की चोट के कारण छह सप्ताह तक बाहर रहना था

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 29, 2020, 10:31 AM IST
  • Share this:
क्राइस्टचर्च. टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट गंवाकर पहले ही सीरीज में पिछड़ चुकी है. ऐसे में वेलिंगटन टेस्ट में भारतीय खेमे के सबसे सफल गेंदबाज रहे इशांत शर्मा (Ishant Sharma) चोट के कारण दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच से बाहर हो गए.  जिससे भारत को बड़ा झटका लगा. मगर उनकी यह चोट टीम के झटके के साथ- साथ उनके करियर को भी बड़ा झटका दे सकती है. दरअसल रणजी ट्रॉफी के दौरान टखने में लगी उनकी चोट दूसरे टेस्ट से पहले फिर उबर गई, जिस वजह से क्राइस्टचर्च में उनकी जगह उमेश यादव को मौका मिला. चोट के कारण वह तो टीम से बाहर हो गए, मगर एनसीए पर सवाल उठने लगे हैं कि उसने इशांत के करियर के साथ खिलवाड़ किया है.

रणजी ट्रॉफी में लगी थी चोट
इशांत को विदर्भ के खिलाफ रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के मुकाबले में टखने में चोट लग गई थी. जिस वजह से वह 19 जनवरी के बाद से कोई मैच नहीं खेल पाए थे और न्यूजीलैंड के खिलाफ उनके उतरने की संभावना भी कम दिख रही थी, मगर एनसीए में फिटनेस टेस्ट पास करके उन्होंने न्यूजीलैंड के लिए उड़ान भरी और बिना वॉर्म अप मैच खेले वह वेलिंगटन के मैदान पर उतरे. उन्होंने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट लिए थे.

फिजियो ने दी थी हरी झंडी
इशांत को ग्रेड तीन की चोट के कारण छह सप्ताह तक बाहर रहना था, लेकिन एनसीए के मुख्य फिजियो आशीष कौशिक ने उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के लिए हरी झंडी दे दी थी.  उन्हें छह सप्ताह तक बाहर रहने की सलाह दी गई थी, मगर उन्होंने पहले ही मैदान पर वापसी कर ली. जिससे उनकी चोट फिर से उबर गई. इसके बाद मुख्य फिजियो की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं कि आखिर कैसे पूरी तरह से फिट न होने के बावजूद इशांत को मैच खेलने के लिए मंजूरी दी गई.



नेट्स सेशन में की सबसे ज्यादा गेंदबाजी
करीब महीने भर मैदान से बाहर रहने के बाद इशांत को न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ 14 फरवरी को खेले गए वॉर्म अप मैच में भी गेंदबाजी का मौका नहीं मिल पाया था . हालांकि उन्होंने वेलिंगटन टेस्ट से पहले नेट्स सेशन में जमकर पसीना बहाया था, जिसका परिणाम पहले मैच में देखने को मिला. इशांत ने नेट्स में करीब एक घंटे 15 मिनट तक गेंदबाजी की थी. उस समय नेट्स में कोई और गेंदबाज उनसे अधिक गेंदबाजी नहीं कर पाया था.

रनों के लिए तरसे कोहली, इन रिकॉर्ड्स ने दिखाया करियर का सबसे खराब समय!

राहुल द्रविड़ के बेटे ने मचाया कोहराम, 101 चौकों और 1 छक्के से जड़े 681 रन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज