आखिर कैसे टीम इंडिया ने वेलिंगटन टेस्ट में हथियार डाल दिए, ये है शर्मनाक हार की बड़ी वजह

आखिर कैसे टीम इंडिया ने वेलिंगटन टेस्ट में हथियार डाल दिए, ये है शर्मनाक हार की बड़ी वजह
विराट कोहली न्यूजीलैंड दौरे पर सिर्फ एक ही अर्धशतक लगा पाए

न्यूजीलैंड (New Zealand) ने भारत (India) को वेलिंगटन (Wellington) टेस्ट में 10 विकेट से मात दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 12:05 PM IST
  • Share this:
वेलिंगटन. वेलिंगटन टेस्ट में न्यूज़ीलैंड (New Zealand) के खिलाफ टीम इंडिया ने बैटिंग से लेकर बॉलिंग हर मोर्चे पर हथियार डाल दिए. विराट कोहली की टीम को पहले टेस्ट में 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा. इस हार के साथ ही टीम इंडिया के लगातार सात मैचों से चले आ रहे विजय़ी अभियान पर भी ब्रेक लग गया. आखिर टीम इंडिया से कहां हुई चूक आईए एक नज़र डालते हैं हार की वजहों पर.

टॉस हारने का नुकसान
भारतीय कप्तान टॉस के मामले लकी नहीं रहे है. टॉस हारने के चलते विराट की टीम को पहले बैटिंग करना पड़ा.  बतौर कप्तान यह विराट कोहली की 11वीं हार है और हर बार वह टॉस हारने के बाद ही मैच हारे हैं. भारतीय टीम किसी भी सेशन में सहज नहीं दिखी. पहले दिन पहले सेशन में पिच पर नमी होने के कारण भारतीय बल्लेबाजी बिखर सी गई और केवल 163 रन ही बना पाई. दूसरी पारी में टीम इंडिया ने 6 विकेट सिर्फ 47 रनों पर गवां दिए.

ओपनर का फ्लॉप शो
वनडे सीरीज की ही तरह टेस्ट सीरीज में भी मयंक और शॉ की जोड़ी भारत को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रही. पहली पारी में जहां वह केवल 16 रनों की साझेदारी कर पाए वहीं दूसरी पारी में 27 पर भारत ने पहला विकेट खो दिया. जहां मयंक ने दूसरी पारी में टिक कर खेलने की कोशिश की और अर्धशतक लगाया वहीं शॉ की दोनों पारियों में तकनीकी कमी दिखी.



टिम साउदी-बोल्ट के सामने सरेंडर
भारतीय बल्लेबाज़ों ने टिम साउदी-बोल्ट की जोड़ी के आगे हथियार डाल दिए. साउदी और बोल्ट ने मिलकर 20 में से 14 विकेट हासिल किए. भारतीय बल्लेबाज जो तेज गेंदबाजों के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी करते आ रहे हैं वह यहां स्विंग के आगे मात खा गए. ये टेस्ट में न्यूज़ीलैंड की सौवीं जीत थी. इसमें से 28 बार न्यूजीलैंड को तब जीत मिली है जब ये दोनों गेंदबाज़ एक साथ मैच में खेले हैं.

नहीं चले स्टार बल्लेबाज
भारत की टीम कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा पर काफी ज्यादा निर्भर थी और यह दोनों ही बल्लेबाज पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे. कोहली पहली पारी में दो और दूसरी पारी में केवल 19 रन बना पाएं. वहीं पुजारा दोनों ही पारी में केवल 11 रन बनाकर आउट हो गए. अपने स्टार बल्लेबाजों का फ्लॉप होना भारत को काफी महंगा पड़ा.

आर अश्विन से थी उम्मीदें
आर अश्विन को टेस्ट में एक अहम ऑलराउंडर माना जाता है. लेकिन बॉलिंग और बैटिंग दोनों मोर्चे पर वो फ्लॉप रहे.  हालांकि पहले टेस्ट में वह बल्ले प्रभावित करने में नाकाम रहे. वह पहली पारी में शून्य और दूसरी पारी में केवल चार रन ही बना पाए. अश्विन को सिर्फ 3 विकेट मिले

दूसरा टी20: साउथ अफ्रीका ने छीनी ऑस्ट्रेलिया से जीत, बेबस खड़े रह गए डेविड वॉर्नर!

ICC Womens T20 WC 2020: साउथ अफ्रीका ने वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड को हराया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading