INDvsNZ : दूसरे टेस्ट के लिए टीम इंडिया में होंगे 3 बदलाव! ये हो सकती है विराट कोहली की प्लेइंग इलेवन

INDvsNZ : दूसरे टेस्ट के लिए टीम इंडिया में होंगे 3 बदलाव! ये हो सकती है विराट कोहली की प्लेइंग इलेवन
भारतीय टीम को वेलिंगटन टेस्ट में दस विकेट से हार का सामना करना पड़ा था. (एपी)

तीन मैचों की वनडे सीरीज 3-0 से जीतने के बाद न्यूजीलैंड (New Zealand) ने वेलिंगटन (Wellington) में खेले गए पहले टेस्ट में भी भारत (India) को 10 विकेट से हराया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 3:02 PM IST
  • Share this:
क्राइस्टचर्च. वनडे सीरीज में सफाया होने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के लिए टेस्ट सीरीज की शुरुआत भी बेहद निराशाजनक रही और टीम को वेलिंगटन (Wellington Test) में पहले टेस्ट में दस विकेट की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी. हालांकि अब दुनिया की नंबर वन टेस्ट टीम न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ दो मैचों की सीरीज में वापसी करने के लिए तैयार नजर आ रही है. पहले टेस्ट में भारतीय बल्लेबाजों ने बुरी तरह निराश किया और टीम एक भी पारी में 200 रनों का आंकड़ा पार नहीं कर पाई. टीम के लिए अजिंक्य रहाणे और मयंक अग्रवाल को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिकने का जज्बा नहीं दिखा सका. ऐसे में अब दूसरे टेस्ट में तीन बदलाव होते हुए नजर आ रहे हैं. आइए जानते हैं कि भारतीय कप्तान (Indian Captain) विराट कोहली (Virat Kohli) किस प्लेइंग इलेवन (Plying Eleven) के साथ क्राइस्टचर्च टेस्ट (Christchurch Test) में उतर सकते हैं.

1. मयंक अग्रवाल : टीम इंडिया के लिए ओपनर मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने वेलिंगटन टेस्ट की पहली पारी में 35 और दूसरी पारी में 59 रन बनाए. गेंदबाजों की मददगार पिच पर मयंक अन्य भारतीय बल्लेबाजों की तुलना में काफी सहज नजर आए. भारतीय टीम को उनसे एक और बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

2. पृथ्वी शॉ : टीम इंडिया के इस युवा ओपनर के दूसरे टेस्ट में खेलने को लेकर आशंका जताई जा रही थी, लेकिन अब हेड कोच रवि शास्‍त्री ने साफ कर दिया है कि पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पूरी तरह से तैयार हैं. शॉ के बायें पैर में सूजन आ गई थी, लेकिन रवि शास्‍त्री के बयान के बाद माना जा रहा है कि वो दूसरे टेस्ट में उतरने के लिए पूरी तरह फिट हैं.



3. चेतेश्वर पुजारा : नंबर तीन पर चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की मौजूदगी भारतीय टीम के लिए भरोसे का नाम है. मगर पहले टेस्ट की दोनों पारियों में वह टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाने का भरोसा नहीं दे सके. हालांकि दोनों पारियों में उन्होंने काफी वक्त क्रीज पर बिताया, लेकिन बड़ा स्कोर नहीं बना सके. ऐसे में उन पर एक बार फिर खुद को साबित करने का दबाव होगा.



4. विराट कोहली : भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के साथ बहुत कम ऐसा होता है कि वह लगातार पारियों में विफल हो जाएं. मगर वेलिंगटन टेस्ट में ऐसा ही हुआ. टी20, वनडे और वेलिंगटन टेस्ट को मिला दें तो विराट इस दौरे पर दस पारियों में महज एक ही अर्धशतक लगा सके हैं. ऐसे में उन पर टीम को जीत दिलाने के साथ मोर्चे से अगुआई करने का भी दबाव होगा. मगर विराट कोहली चुनौतियों का सामना करने का हुनर जानते हैं.

5. अजिंक्य रहाणे : न्यूजीलैंड के खिलाफ अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने वेलिंगटन टेस्ट की पहली पारी में बेहतरीन 46 रन बनाए. रहाणे दूसरी पारी में भी सहज नजर आ रहे थे, लेकिन बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. हालांकि वह विदेशी पिच पर टीम इंडिया के लिए अच्छा प्रदर्शन करने के लिए जाने जाते हैं. दूसरे टेस्ट में भी उनसे टीम इंडिया को बड़ी उम्मीद होगी.

6. शुभमन गिल : हालांकि हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) का प्रदर्शन लगातार खराब नहीं रहा है, लेकिन शुभमन गिल (Shubhman Gill) को इसलिए मौका दिया जा सकता है क्योंकि क्राइस्टचर्च में ही उन्होंने हाल ही में न्यूजीलैंड ए के खिलाफ इंडिया ए की ओर से खेलते हुए दोहरा शतक लगाया था. गिल इस मैदान को अच्छी तरह जानते हैं और पिछले प्रदर्शन से मिला विश्वास वह दूसरे टेस्ट में दोहरा पाए तो टीम इंडिया के लिए भला इससे अच्छी बात और क्या हो सकती है.

7. ऋषभ पंत : टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री ने साफ कर दिया है कि साहा की जगह ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को प्लेइंग इलेवन में इसलिए जगह दी गई थी क्योंकि पंत निचले क्रम में आक्रामक बल्लेबाजी का विकल्प मुहैया कराते हैं. ऐसे में दूसरे टेस्ट में भी पंत का खेलना लगभग तय माना जा रहा है.

8. रवींद्र जडेजा : रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) में से किसी एक खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में चुनना हमेशा ही काफी मुश्किल काम होता है. खासतौर पर ये देखते हुए कि अश्विन ने वेलिंगटन टेस्ट में कोई खराब प्रदर्शन नहीं किया था. घसियाली पिच पर भी उन्होंने तीन विकेट चटकाए थे, लेकिन जडेजा के पक्ष में उनकी बल्लेबाजी जाती है, जिसकी टीम इंडिया को काफी जरूरत है.

9. उमेश यादव : ऐसे में जबकि रणजी ट्रॉफी में लगी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) के टखने की चोट फिर उन्हें परेशान कर रही है, तो उनका दूसरे टेस्ट में खेलना मुश्किल लग रहा है. उनकी जगह उमेश यादव (Umesh Yadav) को टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जा सकता है, जिन्होंने भारतीय जमीन पर खेले गए हालिया मैचों में काफी प्रभावशाली प्रदर्शन किया था.

10. मोहम्मद शमी : तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) वेलिंगटन टेस्ट में उम्मीदों पर पूरी तरह नहीं उतर पाए. उन्हें पहले टेस्ट में टुकड़ाें में अच्छा प्रदर्शन किया. हालांकि उनका अनुभव टीम इंडिया के काफी काम आ सकता है, ऐसे में विराट कोहली उन्हें टीम से बाहर करने का जोखिम नहीं उठाना चाहेंगे.

11. जसप्रीत बुमराह : भारतीय टीम के न्यूजीलैंड दौरे पर जिस खिलाड़ी ने सबसे ज्यादा निराश किया है, वो तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) हैं. बुमराह ने वेलिंगटन टेस्ट में महज एक विकेट हासिल किया, जबकि वनडे सीरीज में भी वह बुरी तरह नाकाम रहे थे. अब देखना दिलचस्प होगा कि बुमराह क्राइस्टचर्च टेस्ट के जरिये अपनी खोई प्रतिष्ठा हासिल कर पाते हैं या नहीं.

पृथ्वी शॉ की चोट पर शास्‍त्री का बड़ा बयान, बताया दूसरा टेस्ट खेलेंगे या नहीं

कपिल ने इशारों ही इशारों में साधा कोहली पर निशाना, कहा- IPL छोड़ दो...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading