होम /न्यूज /खेल /IND vs NZ: सैमसन या हुडा...अर्शदीप या उमरान, धवन किसे देंगे मौका; कैसे सुलझेगी प्लेइंग-XI की पहेली?

IND vs NZ: सैमसन या हुडा...अर्शदीप या उमरान, धवन किसे देंगे मौका; कैसे सुलझेगी प्लेइंग-XI की पहेली?

IND vs NZ: शिखर धवन के सामने पहले वनडे के लिए  प्लेइंग-XI चुनना किसी चुनौती से कम नहीं होगा. (Instagram)

IND vs NZ: शिखर धवन के सामने पहले वनडे के लिए प्लेइंग-XI चुनना किसी चुनौती से कम नहीं होगा. (Instagram)

India vs New Zealand ODI Series: भारत और न्यूजीलैंड के बीच 3 वनडे की सीरीज का पहला मैच 25 नवंबर को ऑकलैंड में खेला जाएग ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में कैसी होगी भारत की प्लेइंग-XI?
शिखर धवन और वीवीएस लक्ष्मण के सामने सेलेक्शन का बड़ा टेंशन
दीपक हुडा या संजू सैमसन में से किसे मिलेगा मौका?

नई दिल्ली. टी20 वर्ल्ड कप के बाद अब टीम इंडिया की नजर अगले साल घर में होने वाले वनडे विश्व कप पर है. इसकी तैयारी की शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही वनडे सीरीज से हो जाएगी. रोहित शर्मा, विराट कोहली जैसे सीनियर खिलाड़ियों की गैरहाजिरी में अस्थायी कप्तान शिखर धवन और कोच वीवीएस लक्ष्मण के पास इस सीरीज में नए कॉम्बिनेशन को परखने का मौका होगा. हालांकि, सीनियर खिलाड़ियों की गैरहाजिरी में भी भारत का बेंच स्ट्रेंथ इतना मजबूत है कि धवन-लक्ष्मण के लिए प्लेइंग-XI की पहेली सुलझाना आसान नहीं होगा. इन दोनों के यह तय करना बड़ा मुश्किल होगा कि किसे टीम से बाहर रखें और किसे प्लेइंग-XI में लाएं. यह सवाल बॉलिंग और बैटिंग दोनों डिपार्टमेंट में खड़ा है.

सबसे बड़ा सवाल या पहेली, जिसे धवन और लक्ष्मण की जोड़ी को सुलझाना होगा. वो है संजू सैमसन या दीपक हुडा में से किसे न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में प्लेइंग-XI में मौका दें. वैसे, लक्ष्मण पहले ही इस बात का इशारा कर चुके हैं कि वो इस दौरे पर अधिक से अधिक ऑलराउंडर को आजमाना चाहेंगे. ऋषभ पंत उप-कप्तान होने के नाते प्लेइंग-XI का हिस्सा होंगे और विकेटकीपिंग भी करेंगे. ऐसे में सैमसन का क्या होगा? ये सबसे बड़ा सवाल है. क्योंकि अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद सैमसन को पंत की मौजूदगी के कारण मौके नहीं मिल पा रहे.

संजू सैमसन या दीपक हुडा?
भारतीय टीम जिस तरह की सोच के साथ टी20 खेल रही है. इस फॉर्मेट में उन खिलाड़ियों को तरजीह दी जा रही है, जो बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी भी कर सकें. अगर वनडे सीरीज में भी इसी अप्रोच को अपनाया गया तो फिर सैमसन को मौका मिलना मुश्किल है. हालांकि, उन्हें नजरअंदाज करने के अपने नुकसान भी है.

हार्दिक पंड्या की गैरहाजिरी में सैमसन पांच या 6 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए मैच फिनिशर का रोल निभा सकते हैं. इस साल उन्होंने वनडे में अच्छी बल्लेबाजी की है. टी20 विश्व कप से ठीक पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3 वनडे की सीरीज में सैमसन ने अच्छी बल्लेबाजी की थी और लखनऊ वनडे में 6 नंबर पर नाबाद 86 रन की पारी खेलते हुए टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचा दिया था. इस साल सैमसन ने 8 पारियों में 82 की औसत से 248 रन बनाए हैं. दो अर्धशतक भी जोड़े हैं. लेकिन, दीपक हुडा बल्लेबाजी के साथ-साथ टीम को छठे गेंदबाज का विकल्प भी देते हैं. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के एक मैच में 10 रन देकर 4 विकेट भी लिए थे. हालांकि, जहां तक बल्लेबाजी की बात है तो वो सैमसन से कमजोर नजर आते हैं. हुडा ने इस साल 8 वनडे में 28 की औसत से 141 रन बनाए हैं और 25 ओवर में सिर्फ 3 विकेट लिए हैं.

ऐसे में भारतीय टीम मैनेजमेंट अनुभवहीन मिडिल ऑर्डर को देखते हुए शायद सैमसन को एक मौका दे सकता है.

वॉशिंगटन सुंदर या कुलदीप यादव?
इन दोनों खिलाड़ियों में एक बात कॉमन है. वो यह कि बीते कुछ वक्त से दोनों लगातार चोट से जूझते रहे हैं. वॉशिंगटन सुंदर एक खिलाड़ी के तौर पर टीम को बल्लेबाजी में गहराई देते हैं. वैसे भी टीम में कोई फिंगर स्पिनर नहीं हैं. ऐसे में अगर टीम इंडिया दो स्पिनर को खिलाने का विचार करती है तो उनके चुने जाने का दावा मजबूत है. वो 7 नंबर पर तेजी से रन बना सकते हैं. वहीं, कुलदीप सिर्फ गेंदबाजी कर सकते हैं. वो युजवेंद्र चहल की तरह रिस्ट स्पिनर हैं. ऐसे में दो रिस्ट स्पिनर के साथ टीम उतरे. इसकी संभावना कम नजर आ रही है.

वैसे, इस साल चहल (21 विकेट) के बाद कुलदीप सबसे अधिक विकेट लेने वाले दूसरे स्पिनर हैं. उन्होंने इस साल 7 मैच में 11 विकेट लिए हैं. अगर भारतीय टीम मैनेजमेंट सुंदर और कुलदीप दोनों को प्लेइंग-XI में रखता है तो फिर एक बल्लेबाज को कम करना होगा. ऐसे में सैमसन पर ही इसकी गाज गिरेगी.

IND vs NZ: संजू सैमसन को क्यों नहीं टीम इंडिया में मिल रहा मौका? शिखर धवन ने किया खुलासा

अर्शदीप और उमरान में से कौन खेलेगा?
इन दोनों ही गेंदबाजों को वनडे डेब्यू का इंतजार है. दोनों की अपनी-अपनी खूबियां हैं. अगर उमरान के पास रफ्तार है तो अर्शदीप स्विंग और अपनी अलग-अलग वेरिएशन से विपक्षी बल्लेबाजों को परेशान करते हैं. उन्होंने टी20 विश्व कप में नई गेंद से अपनी काबिलियत साबित की है. बाएं हाथ का तेज गेंदबाज होने के नाते वो बॉलिंग अटैक में विविधता लाते हैं. उमरान को न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए भी टीम में चुना गया था. लेकिन, उन्हें एक भी मैच में मौका नहीं मिला.

IND vs NZ Preview : टी20 के बाद वनडे वर्ल्ड कप की बारी, अस्थायी कप्तान की अगुवाई में शुरू होगी भारत की तैयारी

उमरान को वैसे वनडे फॉर्मेट में ज्यादा गेंदबाजी का अनुभव नहीं हैं. उन्होंने अब तक 3 लिस्ट-ए मैच खेले हैं. इसमें उन्होंने 6.40 की इकोनॉमी रेट से 2 विकेट लिए हैं. अगर पहले वनडे के लिए टीम चुनते वक्त इस बात का ध्यान रखा जाता है, तो फिर अर्शदीप को वनडे डेब्यू का मौका मिल सकता है. क्योंकि उनके पास इंटरनेशनल क्रिकेट का अनुभव है. वो नई गेंद से विकेट निकालते हैं और किफायती गेंदबाजी भी करते हैं.

Tags: Arshdeep Singh, Deepak Hooda, Hardik Pandya, India vs new zealand, Kuldeep Yadav, Sanju Samson, Umran Malik

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें