अपना शहर चुनें

States

कैंसर से जंग लड़ रहा था न्यूजीलैंड का ये तेज गेंदबाज, दूसरे टेस्ट से पहले बुमराह पर दिया बड़ा बयान


दिग्‍गजों का कहना है कि कुछ समय तक गेंदबाजों को सिर्फ पसीने का इस्तेमाल करना चाहिए, (फाइल फोटो )
दिग्‍गजों का कहना है कि कुछ समय तक गेंदबाजों को सिर्फ पसीने का इस्तेमाल करना चाहिए, (फाइल फोटो )

टीम इंडिया (Team India) मेजबान न्यूजीलैंड के हाथों पहला टेस्ट मैच 10 विकेट के बड़े अंतर से हार गई थी. जहां इशांत शर्मा (Ishant Sharma) के अलावा कोई और गेंदबाज नहीं चल पाया

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 6:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पहला टेस्ट मैच 10 विकेट के बड़े अंतर से गंवाने के बाद विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुआई वाली टीम इंडिया की नजर शनिवार से शुरू होने वाले सीरीज के दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच पर है. जो क्राइस्टचर्च में खेला जाएगा. पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया हर विभाग में फ्लॉप रही थी. सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) के अलावा कोई और खिलाड़ी प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाया. मेजबान के तेज गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों पर पूरी तरह से हावी रहे. दूसरे मैच से पहले न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज रिचर्ड हेडली (Richard Hadlee) ने भारतीय तेज गेंदबाजों की जमकर तारीफ की. उन्होंने यॉर्करमैन जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) को लेकर कहा कि वह उनकी ही तरह है. बहुत अपरंपरागत, मगर काफी प्रभावी है.

हेडली ने कहा कि भारत के पास शानदार तेज गेंदबाज हैं. टेस्ट क्रिकेट में इशांत अच्छी भूमिका निभा रहे हैं. हेडली ने कहा कि उन्‍हें मोहम्मद शमी पसंद हैं. वह बॉलिंग के लिए दौड़ते हुए ऊर्जा लाते हैं. उन्होंने वर्तमान तेज गेंदबाजों में इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन को अपनी पसंद बताया. उन्होंने कहा कि एंडरसन की आउटस्विंगर, इनस्विंगर, गेंद छोड़ना और कलाई की स्थिति देखने लायक  होती है.

कैंसर ने मुश्किल बनाई जिंदगी
हेडली (Richard Hadlee)  काफी समय से कैंसर से जंग लड़ रहे थे. हेडली का कहना है कि दो साल तक कैंसर से लड़ने के बाद जिंदगी को लेकर उनका नजरिया बदल गया है. जून 2018 में हेडली को आंत का कैंसर हो गया था. इसके एक महीने बाद ट्यूमर हटाने के लिए उन्हें  ऑपरेशन करवाना पड़ा और फिर इसके बाद लिवर कैंसर के लिए ऑपरेशन करवाना पड़ा. उन्होंने बताया कि उन्हें कभी ऐसे लक्षण नजर नहीं आए थे. सब कुछ अचानक ही हो गया. उन्हाेंने कहा कि पांच साल उनकी जिंदगी के लिए काफी अहम हैं, जिसमें से दो साल तो बीत चुके हैं  और तीन साल अभी बाकी है. हेडली ने कहा कि हो सकता है कि कल उनके अंदर बीमारी के कोई लक्षण दिख जाएं.
सर्वकालिक महान गेंदबाजों में से एक हेडली ने कहा बीमारी का पता लगने के बाद 6 महीने उनके लिए काफी मुश्किल थे. उनका वजन 10 किलो कम हो गया था. हालांकि अब वह सामान्य जिंदगी जी रहे हैं, मगर खाने पर अधिक ध्यान दे रहे हैं. हर तीन महीने में नियमित जांच करवाते हैं.



 

मयंक अग्रवाल बड़ी उपलब्धि से 36 रन दूर, गावस्कर और गांगुली को छोड़ देंगे पीछे

न्यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में भारत के सभी 11 खिलाड़ी करेंगे 'डेब्यू'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज