लाइव टीवी

IND vs SA: हार के बाद अपने ही बोर्ड पर भड़के साउथ अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्‍लेसी, कहा-भारत दौरे ने दी मानसिक चोट

News18Hindi
Updated: October 22, 2019, 6:29 PM IST
IND vs SA: हार के बाद अपने ही बोर्ड पर भड़के साउथ अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्‍लेसी, कहा-भारत दौरे ने दी मानसिक चोट
फाफ डु प्लेसी ने कहा कि इससे पता चलता है कि हमारा ढांचा वैसा नहीं है जैसा उसे होना चाहिए था.

विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम इंडिया (Team India) ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में साउथ अफ्रीका का क्लीन स्वीप किया. दो मैचों में तो पारी से हराया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2019, 6:29 PM IST
  • Share this:
रांची. भारत के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज आसानी से गंवाने के साथ दौरा खत्म करने वाली साउथ अफ्रीकन टीम अपने प्रदर्शन से मानसिक रूप से निराश है. तीन मैचाें में विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम ने साउथ अफ्रीकी टीम को बड़े अंतर से हराया. जिसके बाद मेहमान कप्तान फाफ डु प्लेसी (Faf Du Plessis) अपने ही क्रिकेट बोर्ड पर भड़क गए. उन्होंने कहा कि इस दौरे ने उनके खिलाड़ियों को मानसिक रूप से एक घाव दे दिया है. साउथ अफ्रीकन टीम किसी भी मैच में चुनौती पेश नहीं  कर पाई.  दो मैचों में तो उसे पारी की हार झेलनी पड़ी. तीसरा टेस्ट हारने के बाद डु प्लेसी ने कहा कि इस दौरे से पता चलता है कि आप मानसिक रूप से चोटिल हो सकते हैं और इससे बाहर निकलना आसान नहीं होता है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से टीम इंडिया (Team India) ने हर बार बड़े स्कोर बनाए. उस स्कोर के सामने हम कुछ नहीं कर पाए. बल्लेबाज के तौर पर आप पर इसका मानसिक रूप से प्रभाव पड़ता है. कप्तान ने कहा कि  इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है और इसलिए आपने देखा होगा कि आखिर में टीम की बल्लेबाजी मानसिक तौर पर कमजोर पड़ चुकी थी.
डु प्लेसी ने हार के लिए क्रिकेट साउथ अफ्रीका (Cricket South Africa) को भी जिम्मेदार ठहराया और कहा कि इस दौरे से सही योजनाओं की कमी का भी खुलासा हो गया, क्योंकि उन्होंने हाशिम अमला (Hashim Amla) और एबी डिविलियर्स (Ab De Villiers) जैसे दिग्गजों के संन्यास लेने के बाद की स्थिति पर विचार नहीं किया.

Faf Du Plessis, Cricket South Africa, india vs south africa, cricket, team india, virat kohli, भारत बनाम साउथ अफ्रीका, टीम इंडिया, क्रिकेट, फाफ डु प्लेसी, स्पोर्ट्स न्यूज
तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में उमेश यादव के लगातार दो छक्के लगाने के बाद गेंदबाज जॉर्ज लिंडे से बात करते फाफ डु प्लेसी (फाइल फोटो)


घरेलू और इंटरनेशनल क्रिकेट में हैं अंतर

साउथ अफ्रीकन कप्तान ने कहा कि इससे पता चलता है कि हमारा ढांचा वैसा नहीं है जैसा उसे होना चाहिए था. घरेलू क्रिकेट और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बीच बड़ा अंतर है. अगर आप तीन या चार साल पहले मुड़कर देखो और अगर तब कोई कहता कि तीन या चार साल बाद बहुत अनुभवहीन खिलाड़ी टीम में होंगे. इसलिए तभी इस समय के लिए तैयारियां शुरू करने देनी चाहिए थी.डु प्लेसी ने कहा कि हम दोषी हैं, जो हमारे पास इन खिलाड़ियों के संन्यास लेने के बाद की स्थिति के लिए कोई योजना नहीं थी. आप एक खिलाड़ी की जगह भर सकते हो, लेकिन चार या पांच सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों की नहीं. हमें अपनी योजनाओं और सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के संन्यास लेने के मामले में बेहतर होना चाहिए था.
पहले टेस्ट मैच के बाद गिरता गया प्रदर्शन
साउथ अफ्रीका (South Africa) टीम पहले टेस्ट मैच में ही चुनौती पेश कर पाई. उसके बाद टीम के प्रदर्शन में गिरावट आती गई. डु प्लेसी ने कहा कि हमने अपना सर्वश्रेष्ठ मैच पहले टेस्ट में खेला और लगातार दबाव के कारण हम हर टेस्ट मैच में कमजोर पड़ते गए. इसलिए मेरा कहना है कि हम टीम के रूप में मानसिक तौर पर पर्याप्त मजबूत नहीं थे और इस विभाग में कुछ काम करने की जरूरत है.
Loading...

BCCI टीम के पद संभालते ही काम बंद कर देगी प्रशासकों की समिति: सुप्रीम कोर्ट
साउथ अफ्रीका के इस खिलाड़ी ने तोड़ दिया अपने साथी का हाथ, अंपायर ने दिया आउट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 6:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...