जिस खिलाड़ी की वजह से पहला टेस्ट नहीं खेल पाए रोहित शर्मा, अब अश्विन करेंगे उसकी मदद!

भाषा
Updated: August 26, 2019, 5:36 PM IST
जिस खिलाड़ी की वजह से पहला टेस्ट नहीं खेल पाए रोहित शर्मा, अब अश्विन करेंगे उसकी मदद!
जिस खिलाड़ी की वजह से पहला टेस्ट नहीं खेल पाए रोहित शर्मा, अब अश्विन करेंगे उसकी मदद! (ap)

भारत ने वेस्टइंडीज (India Vs West Indies) को पहले टेस्ट में 318 रनों से मात दी, इस मुकाबले में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) पर हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) को तरजीह दी गई जिन्होंने दूसरी पारी में शानदार 93 रन बनाए

  • Share this:
India vs West Indies: हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) भारतीय टीम में बल्लेबाज के तौर पर शामिल हुए हैं लेकिन आंध्र का यह खिलाड़ी अपनी आफ स्पिन गेंदबाजी को धारदार बनाने में लगा है जिससे वह ‘पांचवें’ गेंदबाज की भरपाई कर सकें. विहारी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में रविवार को शानदार बल्लेबाजी करते हुए 93 रन बनाये थे. भारतीय टीम ने इस मुकाबले को 318 रन के बड़े अंतर से अपने नाम किया.

5वां गेंदबाज बनेंगे हनुमा?
टीम में छठे क्रम के बल्लेबाज के तौर पर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की जगह तरजीह पाने वाले विहारी अगर अपनी ऑफ स्पिन गेंदबाजी में सुधार करते हैं तो भविष्य में रविचंद्रन अश्विन (Ravi Chandran Ashwin) को बाहर बैठना पड़ सकता है. विहारी ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'सिर्फ मेरे लिये नहीं, टीम के लिए भी यह जरूरी है कि मैं अपनी आफ स्पिन गेंदबाजी में सुधार करना जारी रखूं. मैं टीम संयोजन में इसलिए फिट बैठा क्योंकि मैं पांचवें गेंदबाज की भूमिका निभा सकता था.'

अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी ने पांचवें विकेट के लिए 135 रनों की साझेदारी की (AP)


उन्होंने कहा, 'मैं इसमें सुधार करना जारी रखना चाहता हूं. उम्मीद हैं मुझे ज्यादा गेंदबाजी का मौका मिलेगा और इससे टीम को फायदा होगा.' टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज की जरूरत के कारण अश्विन को प्लेइंग इलेवन से बाहर बैठना पड़ा. भारतीय टीम इस मैच में चार गेंदबाजों के साथ उतरी जिसमें रवीन्द्र जडेजा इकलौते स्पिनर थे.

अश्विन करेंगे हनुमा की मदद
विहारी ने कहा कि अगर टीम को जरूरत हुई तो वह अश्विन (R Ashwin) से सीख लेने के लिए तैयार हैं. विहारी ने कहा, 'मैं भाग्यशाली हूं कि भारतीय क्रिकेट इतिहास के सर्वश्रेष्ठ आफ स्पिनर से मुझे मदद मिलती है. उनके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना और आफ स्पिन गेंदबाजी के बारे में चर्चा करना शानदार हैं.' विहारी ने कहा कि उनके लिए यहां की परिस्थितियों से सामंजस्य बैठना थोड़ा आसान हो गया था क्योंकि उन्होंने इस मैच से पहली वेस्टइंडीज ए के खिलाफ भारत ए का नेतृत्व किया था. जहां उन्होंने एक शतक और दो अर्धशतक लगाये थे. पच्चीस साल के इस बल्लेबाज ने कहा, 'मुझे पता था कि पिच कैसी होगी.'
Loading...

अश्विन से बॉलिंग टिप्स लेना चाहूंगा-हनुमा विहारी


विहारी ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाई थी लेकिन वह अब फिर से मध्यक्रम में आ गये है. विहारी ने कहा कि टीम प्रबंधन उन्हें जो भी जिम्मेदारी देगा वह उसके लिए तैयार हैं. विहारी ने कहा, 'मैं उन सब (बल्लेबाजी क्रम) के बारे में ज्यादा नहीं सोचता हूं. अगर टीम किसी खास संयोजन के साथ खेलना चाहती है तो हम उसका सम्मान करते है और मैदान में जाकर अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करते हैं.'

हनुमा विहारी ने 93 रन बनाए (AP)


शतक से चूकने पर ये बोले हनुमा
वह इस मुकाबले में महज सात रन से अपना पहला शतक लगाने से चूक गये लेकिन निराश नहीं हैं क्योंकि टीम की जीत में उनका योगदान अहम रहा. उन्होंने कहा, 'हमारी योजना लंच के बाद एक घंटे बल्लेबाजी करने की थी. इसलिए मैंने सोचा कि लंच के बाद तेजी से रन सकता हूं और शतक के करीब पहुंच सकता हूं. मैं जेसन होल्डर के उस ओवर में वही करने की कोशिश कर रहा था. मैं टीम की सफलता में योगदान देकर खुश हूं. वह दिन भी आएगा जब मैं शतक लगाने में सफल रहूंगा.'
बेन स्टोक्स की गुहार के बाद जैक लीच को मिली मदद, जिंदगी भर मुफ्त मिलेगा चश्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 5:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...