बीसीसीआई महिला खिलाड़ियों की मदद क्या करेगा? 14 महीने से प्राइज मनी दबा कर बैठा: रिपोर्ट

 भारतीय महिला टीम 2017 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में भी पहुंची थी. (BCCI Women Twitter)

भारतीय महिला टीम 2017 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में भी पहुंची थी. (BCCI Women Twitter)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप (womens t20 world cup) में रनरअप रही थी. मार्च 2020 में ऑस्ट्रेलिया में हुए टूर्नामेंट के बाद आईसीसी (Icc) की ओर से 3.70 करोड़ रुपए की प्राइज मनी मिली थी. लेकिन बीसीसीआई (Bcci) ने अब तक प्राइज मनी 14 महीने बाद भी खिलाड़ियों को नहीं दी है.

  • Share this:

नई दिल्ली.  भारतीय महिला टीम का इंटरनेशनल टूर्नामेंट में प्रदर्शन अच्छा है. ऑस्ट्रेलिया में पिछले साल हुए टी20 वर्ल्ड कप (womens t20 world cup) के फाइनल तक टीम पहुंची थी. हालांकि उसे रनरअप से संतोष करना पड़ा. मेजबान ऑस्ट्रेलिया की टीम चैंपियन बनीं. बतौर रनरअप टीम को 3.70 करोड़ रुपए की प्राइज मनी आईसीसी (Icc) की ओर से मिली थी. लेकिन बीसीसीआई (Bcci) ने अब तक यह राशि खिलाड़ियों को नहीं दी है. यानी 14 महीने बाद भी खिलाड़ियों को प्राइज मनी का इंतजार है.

टेलीग्राफ की खबर के अनुसार, भारतीय महिला खिलाड़ियाें को अब तक यह राशि नहीं मिली है. फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स (Fica) के सीईओ टॉप मॉफेट ने कहा कि पिछले साल अगस्त में हमें पैसे नहीं दिए जाने के संबंध में जानकारी मिली थी. आईसीसी की बैठक में भी इस मुद्दे को उठाया गया. इसी के साथ हमने सपोर्ट के लिए भारतीय खिलाड़ियों से संपर्क भी किया. उन्होंने कहा, ‘यह राशि खिलाड़ियों को मैदान पर किए गए प्रदर्शन के आधार पर मिली है. ऐसे में इसमें देरी किसी भी तरह से स्वीकार नहीं है. हमने भारतीय खिलाड़ियों में प्लेयर्स एसोसिएशन का हिस्सा बनने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, ताकि उन्हें इसका लाभ दुनिया के अन्य खिलाड़ियों की तरह मिल सके.’

भारत और पाकिस्तान ही मुख्य देशों में शामिल हैं, जहां कोई मान्यता प्राप्त प्लेयर्स बॉडी नहीं हैं. आईसीसी इन टूर्नामेंट की प्राइज मनी के लिए जवाबदेह होती है. ऐसे में टूर्नामेंट खत्म होने के एक हफ्ते के अंदर प्राइज मनी संबंधित नेशनल एसोसिएशन यानी बीसीसीआई को मिली. यह राशि दो हफ्तों में खिलाड़ियों को मिल जानी चाहिए थी. लेकिन 14 महीने बितने के बाद भी खिलाड़ियों को प्राइज मनी का इंतजार है.

एक साल तक नहीं खेला था इंटरनेशनल मैच
टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल के बाद कोरोना के बीच भारतीय महिला टीम ने लगभग एक साल तक कोई इंटरनेशनल मुकाबला नहीं खेला था. दूसरी ओर पुरुष टीम ने इस दौरान आठ टेस्ट और 6 वनडे मैच खेले थे. इतना ही आईपीएल के 60 मुकाबले भी कराए गए, जबकि महिला आईपीएल के सिर्फ 4 मैच आयाेजित हुए. टी20 वर्ल्ड कप की चैंपियन टीम ऑस्ट्रेलिय को टूर्नामेंट के खत्म होने के एक महीने के अंदर प्राइज मनी मिल गई थी. वहीं सेमीफाइनल में पहुंचने वाली इंग्लिश टीम को दो महीने में यह राशि दे दी गई थी.

यह भी पढ़ें: पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान- बैन के लिए पापा जिम्मेदार! कमरे से निकलना छोड़ दिया था

हर खिलाड़ी को लगभग 24 लाख मिलने हैं



टी20 वर्ल्ड कप खेलने वाली 15 सदस्यीय टीम के हर खिलाड़ी को लगभग 24 लाख रुपए मिलने हैं. बीसीसीआई से अनुबंध हासिल करने वाली 13 खिलाड़ी ही प्राइज मनी से अधिक राशि पाती हैं. इससे पता चलता है कि महिला खिलाड़ियों के लिए यह राशि कितनी जरूरी है. इस बार कुल 19 खिलाड़ियों को अनबुंध मिला है. महिलाओं के टॉप ग्रेड के खिलाड़ी को बाेर्ड से 50 लाख मिलत हैं. वहीं पुरुष के टॉप ग्रेड के खिलाड़ी को 7 करोड़ दिए जाते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज