लाइव टीवी

रवि शास्‍त्री के लिए खास है पहला टेस्ट, 19 साल पहले इसी मैदान पर किया था डेब्यू, लिए थे 6 विकेट

भाषा
Updated: February 20, 2020, 5:38 PM IST
रवि शास्‍त्री के लिए खास है पहला टेस्ट, 19 साल पहले इसी मैदान पर किया था डेब्यू, लिए थे 6 विकेट
रवि शास्‍त्री के कोच बनने के बाद से भारतीय टीम ने खेल के तीनों प्रारूपों में बेहतरीन प्रदर्शन किया है. (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व ऑलराउंडर और हेड कोच (Head Coach) रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने 39 साल पहले 19 साल की उम्र में 21 फरवरी को ही वेलिंगटन (Wellington) में टीम इंडिया (Team India) के लिए डेब्यू किया था.

  • Share this:
वेलिंगटन. 21 फरवरी 2020, वो दिन जब विराट कोहली की अगुआई में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम दो मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में वेलिंगटन (Wellington) के बेसिन रिजर्व (Basin Reserve) मैदान पर कदम रखेगी. 21 फरवरी 1981, वो दिन जब टीम इंडिया के मौजूदा हेड कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने इसी मैदान पर कदम रखते हुए टीम इंडिया (Team India) के लिए अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. यानी भारत-न्यूजीलैंड के बीच मैच का नतीजा जो भी हो, रवि शास्‍त्री के लिए तो ये मुकाबला सुनहरी यादों में बसना तय है. 39 साल पहले अपने करियर की शुरुआत का ये लम्हा खुद शास्‍त्री ने साझा किया है.

यही दिन, यही शहर, यही टीम और यही मैदान...
भारत-न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच शुक्रवार 21 फरवरी को होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व बेसिन रिजर्व पर पहुंचकर रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) यादों के गलियारों में पहुंच गए. शास्त्री ने 39 साल पहले 19 वर्ष की उम्र में भारत की 151वें नंबर की टेस्ट कैप पहनी थी. बेसिन रिजर्व पर ठंडी हवाओं के बीच छह फुट लंबे इस युवा क्रिकेटर को तीन स्वेटर पहनने पड़े थे. लकड़ी की बेंचों और सफेद ग्रिल की सीमारेखा को निहारते अपनी तस्वीर के साथ शास्त्री ने ट्वीट किया, ‘39 वर्ष हो गए. इतिहास खुद को दोहराता है. कल यही दिन, यही मैदान, यही टीम और यही शहर होगा जहां मैने 39 साल पूर्व पहला टेस्ट खेला था. ड्रेसिंग रूम अब भी वही है. कुछ नहीं बदला.’

गेस्टहाउस के गेटकीपर ने सुनाई सबसे बड़ी खुशखबरी



मिड डे की रिपोर्ट के अनुसार, 1981 में भारतीय टीम (Indian Team) के न्यूजीलैंड दौरे पर रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को विकल्प के तौर पर बुलाया गया था क्योंकि तब दिलीप दोशी ऑस्ट्रेलिया दौरे पर घायल हो गए थे. उस समय शास्त्री कानपुर में रणजी ट्राॅफी क्वार्टर फाइनल खेल रहे थे. ‘मिड डे’ में छपी खबर के अनुसार शास्त्री को उस गेस्टहाउस के गेटकीपर से अपने चुने जाने की खबर मिली थी जिसमें मुंबई की टीम रह रही थी.



पहले ही टेस्ट में छोड़ी छाप
रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने अपने पहले टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन किया था. मदन लाल जैसे मध्यम तेज गेंदबाजों को घरेलू स्तर पर खेलने वाले रवि शास्त्री ने दसवें नंबर पर उतरकर पहली पारी में 3 व दूसरी पारी में 19 रन बनाए थे. उन्होंने अपनी स्पिन गेंदबाजी से पहली पारी में 54 रन देकर तीन और दूसरी पारी में नौ रन देकर तीन विकेट लिए थे. भारत वह टेस्ट 62 रन से हार गया लेकिन शास्त्री अगले 11 साल तक भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे खेले. ओल्ड बेसिन पवेलियन में बैठे या चहलकदमी करते भारतीय टीम के मुख्य कोच अब अपनी टीम से जीत की नई पटकथा लिखने की उम्मीद कर रहे होंगे.

रहाणे का बड़ा बयान, कहा-बात सीनियर-जूनियर की नहीं, पंत स्वीकार करें कि वो...

कपड़े उतारने वाले पाक बल्लेबाज का करियर खतरे में,अब 'मां-भाई' पर ट्वीट कर फंसा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 1:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading