• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET INDIAN CRICKET TEAM OFF SPINNER HARBHAJAN SINGH WAS THE FIRST INDIAN TO PICK UP A TEST HAT TRICK VS AUSTRALIA IN KOLKATA IN 2001

कपिल देव नहीं, हरभजन सिंह हैं टेस्ट हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय, 19 साल पहले रचा था इतिहास

दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर हैं.

भारतीय क्रिकेट इतिहास (Indian Cricket History) में अभी तक केवल तीन गेंदबाज ही टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक ले सके हैं. इनमें हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) अकेले स्पिनर हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टीम इंडिया (Team India) के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) एक बार फिर मैदान पर उतरने के लिए तैयार हैं. इस बार टीम इंडिया के लिए नहीं, बल्कि इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Superkings) के लिए. इस टीम में भज्जी के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं, जिन्होंने तीन बार चेन्नई सुपरकिंग्स को खिताबी जीत दिलाई है. हरभजन सिंह ने अपना पिछला अंतरराष्ट्रीय मैच मार्च 2016 में खेला ‌था. तब से लेकर टीम इंडिया का ये दिग्गज ऑफ स्पिनर टीम इंडिया में वापसी नहीं कर सका है. हालांकि उपलब्धियाें की बात करें तो उनका शुमार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में किया जाता है.

    68 साल लग गए पहली हैट्रिक में
    भारतीय टीम (Indian Team) ने साल 1932 में अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. तब से लेकर अब तक टीम में महान गेंदबाजों की परंपरा रही है. बावजूद इसके आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि साल 2001 से पहले टेस्ट क्रिकेट में एक भी भारतीय गेंदबाज हैट्रिक नहीं ले सका था. यानी करीब 68 साल लग गए भारत को उसकी पहली टेस्ट हैट्रिक लेने के लिए. यहां तक कि महान कपिल देव (Kapil Dev) भी ये कारनामा नहीं कर सके थे. और जब टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट की पहली हैट्रिक ली गई तो सेहरा बंधा ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) के सिर.

    पोंटिंग, गिलक्रिस्ट और शेन वॉर्न को बनाया शिकार
    ये ऐतिहासिक मुकाबला 11 से 15 मार्च के बीच कोलकाता (Kolkata) के ईडन गार्डेंस पर खेला गया था. भारत-ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) सीरीज का ये दूसरा टेस्ट था. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 445 रन बनाए थे. एक समय मेहमान टीम ने 4 विकेट खोकर 236 रन बना लिए थे, लेकिन तभी हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का जादू चला. भज्जी ने पहले रिकी पोंटिंग को चलता किया और फिर एडम गिलक्रिस्ट और शेन वॉर्न को लगातार गेंदों पर पवेलियन भेजकर भारत की ओर से पहली टेस्ट हैट्रिक ली. पोंटिंग ने जहां 6 रन बनाए, वहीं गिलक्रिस्ट और वॉर्न को तो खाता तक खोलने का मौका नहीं मिला. हरभजन ने इस पारी में सात विकेट लिए.

    वीवीएस लक्ष्मण के ऐतिहासिक 281 रन
    भारतीय टीम पहली पारी में 171 रनों पर सिमट गई. टीम के लिए वीवीएस लक्ष्मण ने सबसे ज्यादा 59 रन बनाए, जबकि ऑस्ट्रलिया के लिए ग्लेन मैक्ग्रा ने चार विकेट लिए. इस तरह भारत को फॉलोऑन खेलना पड़ा. फॉलोऑन खेलते हुए टीम इंडिया ने वीवीएस लक्ष्मण (281) और राहुल द्रविड़ (180) की हैरतअंगेज बल्लेबाजी की बदौलत रनों का पहाड़ खड़ा कर लिया. टीम इंडिया ने 7 विकेट खोकर 657 रनों पर पारी घोषित कर दी. ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 384 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन पूरी टीम 212 रनों पर सिमट गई. भज्जी (Harbhajan Singh) ने एक बार फिर छह विकेट चटकाए.

    हरभजन ने टेस्ट में लिए 417 विकेट
    ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने भारतीय टीम के लिए 103 टेस्ट मैच खेलकर 417 विकेट लिए, जबकि 236 वनडे में उनके नाम 269 विकेट दर्ज हैं. इतना ही नहीं भज्जी ने 28 टी20 मैच भी खेले हैं. इनमें उन्होंने 25 विकेट अपने नाम किए हैं.

    विराट कोहली की कमाई का हुआ खुलासा, भारतीय कप्तान के पास अब इतने अरब रुपये

    सचिन तेंदुलकर के फैसले से नाखुश वीरेंद्र सहवाग, मैच के बाद दे डाला बड़ा बयान
    Published by:Akash Rawal
    First published: