टीम इंडिया स्पांसरशिप : 20 साल में 22 लाख से 4 करोड़ से ऊपर पहुंची रकम

ओप्‍पो ने मार्च 2017 में 1079 करोड़ रुपये में 5 साल के लिए टीम इंडिया की स्‍पॉन्‍सरशिप के अधिकार हासिल किए थे. टीम स्पांसरशिप के गणित को समझें तो 20 साल में ये रकम 22 लाख से 4 करोड़ से ज्यादा तक पहुंच गई है.

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 2:56 PM IST
टीम इंडिया स्पांसरशिप : 20 साल में 22 लाख से 4 करोड़ से ऊपर पहुंची रकम
ओप्‍पो ने मार्च 2017 में 1079 करोड़ रुपये में 5 साल के लिए टीम इंडिया की स्‍पॉन्‍सरशिप के अधिकार हासिल किए थे. टीम स्पांसरशिप के गणित को समझें तो 20 साल में ये रकम 22 लाख से 4 करोड़ से ज्यादा तक पहुंच गई है.
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 2:56 PM IST
भारतीय क्रिकेट टीम के स्पांसर ओप्पो का नाम अब खिलाड़ियों की जर्सी पर नजर नहीं आएगा. ओप्पो ने टीम इंडिया की स्पांसरशिप से हटने का फैसला किया है. अब भारतीय क्रिकेटरों की जर्सी पर बायजू (byzu's) का नाम नजर आएगा. दरअसल, मार्च 2017 में ओप्पो को ये राइट्स 1079 करोड़ रुपये में पांच साल के लिए मिले थे. मगर कंपनी ने करीब ढाई साल के बाद ही इसे छोड़ने का फैसला किया है. सूत्रों के मुताबिक, बीसीसीआई इसके लिए नए सिरे से कोई नीलामी नहीं प्रक्रिया नहीं शुरू करेगी, बल्कि ओप्पो ने खुद ये राइ्ट्स बायजू को दे दिए हैं.

ओप्‍पो ने मार्च 2017 में 1079 करोड़ रुपये में 5 साल के लिए टीम इंडिया की स्‍पॉन्‍सरशिप के अधिकार हासिल किए थे. उसने वीवो को पछाड़ा था जिसने 768 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी. अब अगर टीम इंडिया के स्पांसरशिप के गणित और उसके सफर को समझें तो पता चलेगा कि पिछले 20 साल में ये रकम 22 लाख से 4 करोड़ रुपये से ज्यादा तक पहुंच गई है.

स्पांसरशिप का सफर...

1999-2000

भारतीय क्रिकेट टीम का स्पांसर आईटीसी लिमिटेड था. तब टेस्ट मैच के लिए 22 लाख रुपये जबकि वनडे मैच के लिए 17.5 लाख रुपये में करार हुआ था.

2000-2002

इसके बाद नया अनुबंध 2000-2002 के लिए हुआ. आईटीसी लिमिटेड ने इस अनुबंध के तहत टेस्ट के लिए 35 लाख जबकि वनडे के लिए 30 लाख रुपये देना मंजूर किया.
Loading...

भारतीय क्रिकेटरों की जर्सी पर ओप्पो का नाम नजर नहीं आएगा.
ओप्पो ने पांच साल के लिए अनुबंध किया था, लेकिन उससे पहले ही स्पांसरशिप अधिकार दूसरी कंपनी को दे दिए.


2002-2009

आईटीसी लिमिटेड के बाद टीम का नया स्पांसर सहारा बना. हालांकि इस अवधि के लिए हुए करार की राशि का खुलासा नहीं किया गया. इसकी वजह अनुबंध की कड़ी शर्तें रहीं.

2009-2012

सहारा ने टीम इंडिया की स्पांसरशिप जारी रखी और इस अवधि के लिए उसने बीसीसीआई को टेस्ट के लिए 1.91 करोड़ और वनडे के लिए 2.09 करोड़ रुपये देना तय किया.

2012-2013 

सहारा ने लगातार तीसरी बार टीम इंडिया की स्पांसरशिप ली. इस बार उसने प्रति मैच 3.34 करोड़ रुपये बीसीसीआई को देने का अनुबंध किया.

2014-2017

इस बार भारतीय क्रिकेट टीम की स्पांसरशिप स्टार समूह को मिली, जिसने बीसीसीआई को 1.92 करोड़ व आईसीसी एवं एशियन क्रिकेट काउंसिल के मैचों के लिए 80 लाख रुपये दिए.

2017-2022

ओप्‍पो अभी बीसीसीआई को हर मैच के लिए 4.61 करोड़ रुपये प्रति मैच देती है. वहीं आईसीसी या एशियन क्रिकेट काउंसिल के मैचों में यह रकम 1.56 करोड़ रुपये होती है. यह सबसे बड़ी स्‍पॉन्‍सरशिप रकम है.

यह भी पढ़ें- अब चीन नहीं इस भारतीय कंपनी का नाम दिखेगा टीम इंडिया की जर्सी पर

एमएस धोनी को कश्मीर में मिली पोस्टिंग, 15 दिन तक इस खतरनाक फोर्स के साथ करेंगे ट्रेनिंग
First published: July 25, 2019, 2:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...