• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • शोएब अख्तर, अकरम जैसे गेंदबाजों की धुनाई की, आज एक्टर है ये भारतीय बल्लेबाज

शोएब अख्तर, अकरम जैसे गेंदबाजों की धुनाई की, आज एक्टर है ये भारतीय बल्लेबाज

कहानी सदगोपन रमेश की, कैसे वो क्रिकेटर से बने एक्टर

कहानी सदगोपन रमेश की, कैसे वो क्रिकेटर से बने एक्टर

पाकिस्तान की टीम में जब शोएब अख्तर, वसीम अकरम (Wasim Akram) और वकार यूनुस जैसे गेंदबाज थे तो अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों की हालत खराब हो जाती थी लेकिन इस भारतीय बल्लेबाज ने उनके खिलाफ खूब रन बनाए

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्रिकेट के मैदान को अलविदा कहने के बाद सभी क्रिकेटर इसी खेल से जुड़े नहीं रहते. वो अपना कोई अलग बिजनेस करते हैं या फिर किसी और क्षेत्र में नौकरी करते हैं. हालांकि टीम इंडिया का एक खिलाड़ी ऐसा भी है जो संन्यास के बाद फिल्म एक्टर बन गया. इस खिलाड़ी ने शोएब अख्तर, वसीम अकरम जैसे दिग्ग्ज गेंदबाजों का ना सिर्फ सामना किया बल्कि उनके खिलाफ खूब रन भी बनाए. हम बात कर रहे हैं तमिलनाडु के रहने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज सदगोपन रमेश (Sadgopan Ramesh) की, जिनका बल्ला पाकिस्तान, न्यूजीलैंड जैसी अच्छी टीमों के खिलाफ हमेशा चलता था.

    सदगोपन रमेश का करियर
    सदगोपन रमेश (Sadgopan Ramesh) ने जनवरी 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना डेब्यू किया और पहली ही सीरीज में उन्होंने अपने बल्ले का जलवा दिखाते हुए 51 की औसत से 204 रन ठोक डाले, जिसमें 2 अर्धशतक शामिल थे. गजब की बात ये है कि रमेश एक मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज थे लेकिन भारतीय ओपनर के चोटिल होने के चलते रमेश को ओपनर बनाया गया और उन्होंने खुद को साबित किया. इसके बाद रमेश ने एशियन टेस्ट चैंपियनशिप में भी अपना जलवा दिखाया और एक शतक और एक अर्धशतक की मदद से उन्होंने 292 रन ठोके. रमेश ने अपनी एंट्री से पूरे भारत में तहलका सा मचा दिया. हालांकि इस बल्लेबाज का करियर ज्यादा लंबा नहीं चला और उन्होंने भारत के लिए 19 टेस्ट मैचों में 37.97 की औसत से 1367 रन बनाए. वनडे में भी रमेश ने 24 मुकाबलों में 28 से ज्यादा की औसत से 646 रन बनाए.

    बता दें सदगोपन रमेश (Sadgopan Ramesh) के नाम एक बेहद ही खास रिकॉर्ड दर्ज है. सदगोपन रमेश पहले भारतीय क्रिकेटर हैं जिन्होंने पहली ही गेंद पर वनडे विकेट लेने का कारनामा किया है. रमेश ने ये उपलब्धि वेस्टइंडीज के खिलाफ सिंगापुर में खेले जा रहे मैच में पहली ही गेंद पर निक्सन मैकलीन को आउट कर हासिल की थी.



    सदगोपन रमेश बने एक्टर
    सदगोपन रमेश (Sadgopan Ramesh) को लगता था कि उन्हें टीम इंडिया के लिए कम से कम 50 टेस्ट मैच खेलने चाहिए थे लेकिन उन्हें मौके नहीं दिये गए. इसके बाद उन्होंने इस खेल को अलविदा कह दिया और वो तमिल फिल्मों की दुनिया में आ गए. साल 2008 में रमेश ने संतोष सुब्रह्मण्यम फिल्म में काम किया. इसके बाद वो पोटा-पोट्टी फिल्म में लीड एक्टर के तौर पर नजर आए. साल 2019 में रमेश ने 'स्वरस' नाम के कराओके स्टूडियो में निवेश किया है.

    इस भारतीय क्रिकेटर की हत्या के आरोप में बेटा अश्विन गिरफ्तार, शराब पीकर मार डाला!

    गंजे क्रिकेटरों की टीम में नहीं मिली सहवाग को जगह, चुने गए ये 11 खिलाड़ी!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज