लाइव टीवी

बैटिंग कोच बनते ही विक्रम राठौड़ ने बताई टीम इंडिया की कमियां

भाषा
Updated: September 6, 2019, 4:11 PM IST
बैटिंग कोच बनते ही विक्रम राठौड़ ने बताई टीम इंडिया की कमियां
टीम इंडिया के नए बैटिंग कोच विक्रम राठौड़.

विक्रम राठौड़ (Vikram Rathour) ने टीम इंडिया (Team India) के बैटिंग कोच (Batting Coach) के लिए संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) की जगह ली है. राठौड़ पहले नेशनल सिलेक्‍टर रह चुके हैं.

  • Share this:
नई दिल्‍ली: भारत (India) के नव नियुक्त बल्लेबाजी कोच (Batting Coach)  विक्रम राठौड़ (Vikram Rathour) दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ श्रृंखला से अपना कार्यकाल शुरू करेंगे. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि पारी के आगाज करने के साथ वनडे में मध्यक्रम का प्रदर्शन उनकी मुख्य चिंता हैं. जब कोचिंग और सहयेागी स्टाफ में नयी नियुक्तियां की गयीं तो राठौड़ ने संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) की जगह ली. उनका कार्यकाल गुरुवार से शुरू हो गया और पहली बड़ी चुनौती दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 सितंबर से शुरू हो रही घरेलू टी20 और टेस्ट श्रृंखला होगी.

वनडे में मिडिल ऑर्डर और टेस्‍ट में सलामी जोड़ी समस्‍या
राठौड़ ने बीसीसीआई की अधिकारिक वेबसाइट पर कहा, ‘वनडे में मध्यक्रम इतना अच्छा नहीं कर रहा और हमें निश्चित रूप से इसका निपटारा करना चाहिए. वहीं चिंता की एक चीज टेस्ट में सलामी बल्लेबाजों की भागीदारी है. हमारे पास विकल्प हैं और इसमें काफी स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है. हमें उनके और अधिक निरंतर होने का तरीका ढूंढना होगा.’

अय्यर और पांडे काफी काबिल

राठौड़ ने कहा कि श्रेयस अय्यर और मनीष पांडे 50 ओवर के प्रारूप के लिये अच्छे विकल्प दिखते हैं. उन्होंने कहा, ‘श्रेयस अय्यर ने पिछले दो मैचों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और हमारे पास मनीष पांडे भी है. इन दोनों खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट और इंडिया के साथ में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. ये ऐसे बल्लेबाज है जो अपना काम बखूबी करने के काबिल हैं और इसके बारे में कोई शक नहीं है.’


राठौड़ पर लगे थे हितों के टकराव के आरोप
उनकी नियुक्ति के समय काफी विवाद हुआ क्योंकि उन पर हितों के टकराव के भी आरोप लगे जिन्हें बाद में हटा दिया गया. राठौड़ भारत के लिये छह टेस्ट और सात वनडे खेल चुके हैं. उनका टीम के मौजूदा खिलाड़ियों के साथ अच्छा तालमेल है.

कोहली और सपोर्ट स्‍टाफ के साथ अच्‍छा तालमेल
उन्होंने कहा, ‘हमारे पास कोचिंग स्टाफ में काफी बेहतरीन स्टाफ है. मुझे उन्हें जानने का मौका मिला क्योंकि मैं राष्ट्रीय चयनकर्ता था. मैं खिलाड़ियों को जानता हूं और उनके साथ कुछ समय काम भी कर चुका हूं. मैं रवि शास्त्री, बी अरुण और आर श्रीधर के साथ ही विराट कोहली के साथ काम कर चुका हूं. मैं बल्लेबाजों को व्यक्तिगत रूप से जानता हूं और उनके साथ मेरा अच्छा तालमेल है.

राठौड़ पंजाब और हिमाचल प्रदेश के भी मुख्य कोच रह चुके हैं और साथ ही वह हिमाचल प्रदेश के क्रिकेट निदेशक भी थे.

सचिन तेंदुलकर ने खोला राज, आखिर कैसे स्टीव स्मिथ धड़ाधड़ जड़ रहे हैं शतक

पाकिस्‍तानी क्रिकेटर का दर्द- मैं भी विराट कोहली जैसा होता अगर...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 3:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...