लाइव टीवी

इंदौर टेस्‍ट में डबल सेंचुरी के बाद मयंक अग्रवाल ने बताया कैसे खेल लेते हैं बड़ी-बड़ी पारियां

भाषा
Updated: November 15, 2019, 9:51 PM IST
इंदौर टेस्‍ट में डबल सेंचुरी के बाद मयंक अग्रवाल ने बताया कैसे खेल लेते हैं बड़ी-बड़ी पारियां
करुण नायर 8 टेस्‍ट के करियर में अब तक 2 दोहरे शतक लगा चुके हैं. (AP Photo)

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने इंदौर टेस्‍ट (Indore Test) के दूसरे दिन 243 रन की पारी खेली जिससे भारत (India) ने 6 विकेट पर 493 रन बनाकर बांग्लादेश (Bangladesh) पर शिकंजा कस दिया.

  • Share this:
इंदौर: बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन करियर की सर्वश्रेष्ठ दोहरी शतकीय पारी खेलने वाले भारत (India) के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने कहा कि असफलता के डर को पीछे छोड़ने से उनकी रन बनाने की भूख बढ़ी. मयंक ने शुक्रवार को 330 गेंद में 243 रन की पारी खेली जिससे भारत ने दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 493 रन बनाकर बांग्लादेश पर शिकंजा कस दिया. पहली पारी में टीम को अब तब 343 रन की बढ़त मिल गयी है.

'जमने के बाद बड़ी पारी खेलने पर ध्‍यान'
मयंक ने दूसरे दिन के खेल के बाद कहा, ‘मानसिकता की बात करें तो असफलता के डर को पीछे छोड़ने से मुझे काफी फायदा हुआ. इसके बाद मेरी रनों की भूख काफी बढ़ी है. ऐसा भी समय रहा है जब मैंने रन नहीं बनाए हैं. इसलिए जब भी मैं क्रीज पर जम जाता हूं तो मेरी कोशिश इसे बड़ी पारी में बदलने की होती है.’ मयंक ने अपनी शानदार पारी के दौरान चेतेश्वर पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 91 रन, अजिक्य रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिए 190 रन और रवींद्र जडेजा के साथ पांचवें विकेट के लिए 123 रन की साझेदारी की.

mayank agarwal double century, mayank agarwal score, india bangladesh test, indore test score, live ind vs ban score
मयंक अग्रवाल साल 2019 में दो दोहरे शतक लगा चुके हैं.


'लंबे समय तक क्रीज पर टिकने की थी कोशिश'
साझेदारियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘हमारी कोशिश एक बार में एक गेंद पर ध्यान लगाने के साथ लंबे समय तक क्रीज पर टिके रहने की थी. वह (रहाणे) सीनियर खिलाड़ी हैं और उन्हें टेस्ट क्रिकेट का काफी अनुभव है. उन्होंने पूरे समय मेरा मार्गदर्शन किया. हमारी योजना छोटी साझेदारी करने और समय लेकर सावधानीपूर्वक उसे बड़ी साझेदारी में बदलने की थी. मैं सजग था और गेंद को ठीक से देखकर खेल रहा था.’

मौके का पूरा फायदा उठाने की मिली है सीखमेहदी हसन मिराज पर लॉन्ग ऑन पर छक्का जड़कर दिलकश अंदाज में अपना दूसरा दोहरा शतक जड़ने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘पिच से अच्छा उछाल मिल रहा था और जो गेंद मेरी पहुंच में थी मैं उस पर रन बना रहा था. रन बनाने के लिए मैं गेंदों का सही चयन करने में सफल रहा.’ मयंक अग्रवाल को करियर के शुरू में खराब फार्म में काफी कुछ सीखा दिया है जिसमें यह सीख सबसे अहम है कि जब मौका मिलता है तो उसका पूरा फायदा उठाओ और बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन शुक्रवार को उन्होंने ऐसा ही करते हुए 243 रन से करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली.

cricket news, mayank agarwal, indian cricket team, india vs bangladesh, bangladesh cricket team, world test championship, indore test, first test, mayank agarwal records, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, मयंक अग्रवाल, बांग्लादेश वस इंडिया, भारतीय क्रिकेट टीम, बांग्लादेश क्रिकेट टीम, इंदौर टेस्ट, पहला टेस्ट, टेस्ट सीरीज, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप, ओपनर, खेल
मयंक अग्रवाल ने हालिया समय में बेहतरीन प्रदर्शन कर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा है. (FILE PHOTO)


रन नहीं बनाने पर आई फॉर्म की समझ
कुछ साल पहले तक अग्रवाल के लिए निरंतर प्रदर्शन करना मुद्दा बना हआ था लेकिन अब वह पिछले चार टेस्ट मैचों में से दो में दो बार दोहरा शतक जड़ चुके हैं. और वह तब तक हर मौके का फायदा उठाना चाहते हैं, जब तक उनकी शानदार फार्म जारी रहती है. अग्रवाल ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह समझ तब से आई जब ऐसा भी समय था तब मैं रन नहीं बना रहा था. इसलिए मुझे खेल का सम्मान करना चाहिए कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं. जब मैं ऐसा कर रहा हूं तो मुझे यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मैं इस पर बड़ी पारी खेलूं और टीम को बेहतरीन स्थिति में पहुंचा दूं या फिर ऐसी स्थिति में कि वे वहां से हारे नहीं.’

कोहली जीरो पर हुए आउट तो लोग बोले- इंदौर में पोहे नहीं खाएगा तो ये ही होगा

आरसीबी ने एक साथ 12 खिलाड़ियों को निकाला, डेल स्‍टेन को भी नहीं बख्‍शा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 9:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर