INDW vs ENGW: इंग्लैंड दौरे के लिए चुने जाने से पहले पिता को गंवाया था, अब डेब्यू टेस्ट में किया धमाकेदार प्रदर्शन

स्नेह राणा ने इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल टेस्ट के पहले दिन 77 रन देकर 3 विकेट लिए. ये उनका डेब्यू टेस्ट है. (PIC:AP)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की ऑफ स्पिनर स्नेह राणा (Sneh Rana Test Debut) ने ब्रिस्टल टेस्ट में यादगार डेब्यू किया. उन्होंने पहले दिन भारत की तरफ से सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए. स्नेह ने इस प्रदर्शन को अपने दिवंगत पिता को समर्पित किया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय महिला क्रिकेट टीम की स्पिनर स्नेह राणा (Sneh Rana Test Debut) ने ब्रिस्टल टेस्ट में यादगार डेब्यू किया. उन्होंने पहले दिन भारत की तरफ से सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए. स्नेह ने इस प्रदर्शन को अपने दिवंगत पिता को समर्पित किया. इंग्लैंड दौरे के लिए चुने जाने से पहले ही स्नेह के पिता का निधन हो गया था. स्नेह ने ब्रिस्टल टेस्ट के पहले दिन टीम इंडिया की मैच में वापसी में अहम भूमिका निभाई. एक वक्त इंग्लैंड ने 2 विकेट के नुकसान पर 239 रन बना लिए थे. लेकिन स्नेह राणा (3/77) और ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा (2/50) ने दिन के आखिरी सेशन में दो-दो विकेट लेकर मैच में भारत की वापसी कराई.

    स्नेह ने ब्रिस्टल टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा था कि जब इस दौरे के लिए टीम की घोषणा की गई थी, उससे कुछ समय पहले ही मैंने पिता को खो दिया था. यह थोड़ा मुश्किल था, यह एक भावनात्मक क्षण था. क्योंकि वह मुझे भारत के लिए फिर से खेलते देखना चाहते थे. लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो सका. लेकिन ठीक है, ये जिंदगी का हिस्सा है. लेकिन उनके जाने के बाद मैंने जो कुछ भी किया और अब जो करूंगी, मैं अपना सबकुछ उन्हें समर्पित कर दूंगी.



    विकेट से शुरू से ही टर्न मिल रहा था: स्नेह
    इंग्लैंड ने ब्रिस्टल टेस्ट के पहले दिन के आखिरी सेशन में सिर्फ सात ओवर के भीतर ही 21 रन जोड़कर 4 विकेट गंवा दिए. राणा ने पिच को लेकर कहा कि ये शुरू से ही धीमी थी, लेकिन इससे गेंदबाजों को शुरुआत से ही टर्न मिल रहा था. वैसे ये विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा है. मुझे लगता है कि आगे भी विकेट ऐसा ही खेलेगा. इससे पहले इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और दिन का खेल खत्म होने पर 6 विकेट के नुकसान पर 269 रन बनाए. कप्तान हीथर नाइट ने सबसे ज्यादा 95 रन बनाए. स्नेह ने टैमी ब्यूमोंट, एमी जोन्स और जॉर्जिया एल्विस के विकेट हासिल किए.

    'धोनी भाई मेरे लिए भगवान की तरह, उनसे तुलना बंद करो'; जब पंत ने परेशान होकर खेल छोड़ने की कही थी बात

    'मैंने अपनी ताकत के मुताबिक गेंदबाजी की'
    27 साल की स्नेह ने बताया कि उन्हें टीम मीटिंग के दौरान अपने डेब्य़ू टेस्ट के बारे में पता चला. उन्होंने आगे कहा कि हम प्रैक्टिस सेशन में कप्तान मिताली राज और कोच रमेश पोवार से बात कर रहे थे कि हमें क्या करना है, कैसे गेंदबाजी करनी है. राणा ने आगे कहा कि कोच पोवार ने उन्हें अपनी ताकत के मुताबिक गेंदबाजी के लिए कहा था. इसलिए मैंने बहुत ज्यादा प्रयोग नहीं किए. मैं सिर्फ अपनी ताकत और बेसिक्स के हिसाब से गेंदबाजी करती रही.

    मैच के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेटर ने फील्डर पर दे मारी ईंट, नस्लीय टिप्पणी भी कीं

    स्नेह ने पांच साल बाद भारतीय टीम में वापसी की
    राणा ने पांच साल बाद भारतीय टीम में वापसी की है. उन्होंने कहा कि घरेलू क्रिकेट में अच्छे प्रदर्शन का मुझे इनाम मिला. दरअसल, मुझे एक चोट लगी थी, जिसके कारण मैं एक साल के लिए क्रिकेट से दूर था, लेकिन उसके बाद मैंने लगातार घरेलू (क्रिकेट) खेली और उस प्रदर्शन के आधार पर मैंने भारतीय टीम में वापसी की है. उन्होंने कहा कि लोगों को कोशिश नहीं छोड़नी चाहिए. मेरी वापसी से लोग प्रेऱणा ले सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.