INDWvsENGW: डेब्यू टेस्ट में सबसे बड़ी पारी खेलने वालीं शेफाली बोलीं-मैं उम्र नहीं गिनती, आत्मविश्वास से खेलती हूं

शेफाली वर्मा ने ब्रिस्टल टेस्ट में 152 गेंद पर 96 रन बनाए. इस पारी में उन्होंने 13 चौके और दो छक्के लगाए.(Instagram)

INDW vs ENGW: इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल टेस्ट के दूसरे दिन 17 साल की भारतीय ओपनर शेफाली वर्मा ने 96 रन की पारी खेली. वो भले ही शतक से चार रनों से चूक गईं, लेकिन भारत की तरफ से डेब्यू टेस्ट में सबसे बड़ी पारी खेलने वाली बल्लेबाज बन गईं. उन्होंने चंद्रकाता कॉल को पीछे छोड़ा, जिन्होंने अपने टेस्ट डेब्यू में 75 रन बनाए थे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम के बीच ब्रिस्टल में हो रहे टेस्ट में भारतीय ओपनर शेफाली वर्मा ने शानदार बल्लेबाजी की. मैच के दूसरे दिन 17 साल की शेफाली ने 96 रन की अहम पारी खेली. वो भले ही चार रन से शतक चूक गईं. लेकिन ये भारत की ओर से डेब्यू टेस्ट पर किसी खिलाड़ी की सबसे बड़ी पारी रही. शेफाली ने चंद्रकाता कॉल को पीछे छोड़ा, जिन्होंने अपने टेस्ट डेब्यू में 75 रन बनाए थे. कॉल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ1995 में ये पारी खेली थी. शेफाली ने 152 गेंद पर 96 रन में 13 चौके और दो छक्के लगाए. वो 96 रन के स्कोर पर केट क्रॉस की गेंद पर एन्या श्रबसोल को कैच थमा बैठीं.

    दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद शेफाली ने कहा कि जब भी मैं बड़े मैच या सीरीज में खेलने उतरती हूं, तो हमेशा आत्मविश्वास से भरी रहती हूं. मैं अपनी उम्र नहीं गिनती हूं. मैं सिर्फ इस बात पर ध्यान देती हूं कि कैसे अपनी टीम को सपोर्ट करूं और जैसे भी हो सके टीम को सहयोग दूं. शेफाली और स्मृति मंधाना ने पहले विकेट के लिए 167 रन की बेहतरीन साझेदारी की और भारत की स्थिति मजबूत की. ये टेस्ट क्रिकेट में भारत की पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी बनी.

    शेफाली और स्मृति ने गार्गी बनर्जी और संध्या अग्रवाल के 153 रन के रिकॉर्ड को तोड़ा, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1984 में मुंबई टेस्ट में बनाया था.

    मंधाना मुझे हमेशा सपोर्ट करती हैं: शेफाली
    मंधाना के साथ अच्छे तालमेल के बारे में पूछे जाने पर शेफाली ने कहा कि हम हमेशा एक-दूसरे का समर्थन करते हैं और एक-दूसरे को समझते हैं. वो(मंधाना) हमेशा मुझे बहुत सपोर्ट करती हैं और मेरा मार्गदर्शन करती हैं, इससे मुझे बहुत मदद मिलती है. उन्होंने आगे कहा कि हम इस मैच में सिर्फ साझेदारी बनाने और क्रीज पर टिके रहने के बारे में बात कर रहे थे, ताकि टीम को मजबूत स्थिति में ला सके. हमने अपना स्वभाविक खेल दिखाया. कमजोर गेंदों पर शॉट्स खेले और एक-दूसरे को सपोर्ट करते रहे.

    इसे भी पढ़ें, टीम इंडिया कैसे जीतेगी न्यूजीलैंड से 'फाइनल', विराट कोहली ने बता दिया गेम प्लान

    इसे भी पढ़ें, भारत vs न्यूजीलैंड WTC Final, क्यों है 144 साल का सबसे बड़ा मुकाबला? जानें 5 वजह

    शेफाली के आउट होते ही भारत के 4 विकेट तेजी से गिरे
    शेफाली के आउट होने के बाद भारतीय पारी लड़खड़ा गई और 16 रन के भीतर भारत के चार बल्लेबाज आउट हो गए. शेफाली(96) के बाद स्मृति मंधाना भी 78 रन पर आउट हो गईं. इसके बाद पूनम राउत(2), शिखा पांडे(0) और कप्तान मिताली राज(2) रन बनाकर पवैलियन लौट गईं. दिन का खेल खत्म होने पर भारत के 5 विकेट के नुकसान पर 187 रन थे. इंग्लैंड के लिए हीथर नाइट ने दो विकेट लिए. इससे पहले इंग्लैंड ने 9 विकेट पर 396 रन पर पहली पारी घोषित की, जो भारत के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.