IPL 2013 Spot Fixing: बीसीसीआई ने हटाया खिलाड़ी का बैन, क्रिकेट खेलने की मिली हरी झंडी

अंकित चव्हाण पर से आजीवन प्रतिबंध हटा दिया गया है. (PIC: AFP)

बीसीसीआई से खेलने की मंजूरी मिलने पर मुंबई के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर अंकित चव्हाण ने कहा कि कोरोना महामारी और मानसून के बावजूद वह मैदान पर उतरने को बेताब हैं.

  • Share this:
    मुंबई. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मुंबई के क्रिकेटर अंकित चव्हाण (Ankeet Chavan) का आजीवन प्रतिबंध हटा दिया है. 2013 इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में स्पॉट फिक्सिंग कांड (Spot Fixing) के बाद अब 35 वर्षीय खिलाड़ी को सभी प्रकार के क्रिकेट खेलने से निलंबित कर दिया गया था. उनके साथ एस श्रीसंत और अजीत चंदीला को भी समान सजा दी गई थी. ये तीनों खिलाड़ी उस वक्त 2008 की चैंपियन राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) का हिस्सा थे. मंगलवार, 15 जून को बीसीसीआई के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) हेमंग अमीन ने मुंबई के स्पिनर को सूचित किया कि बीसीसीआई के नैतिकता अधिकारी के निर्देशों और अदालत के अनुसार उनके आजीवन प्रतिबंध को घटाकर सात साल कर दिया गया है. इसका मतलब है कि उनकी सजा पिछले सितंबर में ही खत्म हो गई है.

    इस खबर को जानने के बाद अंकित चव्हाण की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था और वह फिर से क्रिकेट का हिस्सा बनने की संभावनाओं से खुश थे. इसके लिए उन्होंने बीसीसीआई और मुंबई क्रिकेट का भी आभार व्यक्त किया. बीसीसीआई से खेलने की मंजूरी मिलने पर मुंबई के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर अंकित चव्हाण ने कहा कि कोरोना महामारी और मानसून के बावजूद वह मैदान पर उतरने को बेताब हैं.

    ट्रेंट बोल्ट ने IPL में ही दिखा दी थी रोहित को WTC Final की झलक, शेन बॉन्ड का खुलासा

    अंकित ने कहा, ''यह प्रतिबंध सितंबर 2020 को ही खत्म हो गया था. अब मैं कुछ भी खेलने को तैयार हूं. मुझे मैदान पर उतरने का इंतजार है.'' उन्होंने कहा, ''कोरोना महामारी और मानसून के कारण मैदान बंद होंगे, लेकिन जब भी मैदान पर उतरने का मौका मिलेगा, मैं इंतजार कर रहा हूं.''

    बता दें कि पिछले साल बीसीसीआई के लोकपाल जस्टिस ( सेवानिवृत) डी के जैन ने श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध घटाकर सात साल का कर दिया था. बैन खत्म होने के बाद श्रीसंत ने घरेलू प्रारूप में केरल के लिए वापसी की. उन्होंने 2021 की आईपीएल नीलामी के लिए खुद को पंजीकृत भी किया, लेकिन उन्हें कोई खरीदार नहीं मिला.

    तभी से चव्हाण अपना बैन भी कम करवाने की पूरी कोशिश कर रहे थे. खिलाड़ी का कहना था कि ने बीसीसीआई और एमसीए को उन्हीं नियमों का पालन करना चाहिए, जैसा उन्होंने श्रीसंत के मामले में किया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने एमसीए को लिखा था, जिसने इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करने का फैसला किया था.
    WTC Final में अश्विन-जडेजा की जोड़ी पर गावस्कर ने लगाया दांव, रोहित-विराट के बारे में ये कहा

    अंकित चव्हाण ने अपने करियर में 18 प्रथम श्रेणी, 20 लिस्ट ए और 26 टी20 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने क्रमशः 53, 18 और 19 विकेट लिए हैं. घरेलू स्तर पर भी उनके नाम दो अर्धशतक और एक शतक है. आईपीएल में चव्हाण ने 13 मैचों में आठ विकेट लिए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.