IPL 2020: 'प्लेऑफ में जाने के लिए CSK को माउंट एवरेस्ट जैसी चढ़ाई करनी पड़ेगी'

महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल 2020 में अबतक 7 में से सिर्फ 2 मैच जीते हैं.

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ''माही की चेन्नई (CSK), आप यहां से कहां जाते हैं, यह बहुत ही धुंधला दिखता है. ऐसी उम्मीद थी कि सीएसके अच्छा प्रदर्शन करेगी, क्योंकि वे सीजन में आधे रास्ते पर हैं. सात मैच खेलने के बाद टीम ने सिर्फ दो मैच जीते हैं.''

  • Share this:
    नई दिल्ली. चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) में सात में से केवल दो मैच जीतकर प्वॉइंट टेबल में छठे स्थान पर है. आईपीएल के इस सीजन में प्लेऑफ की दौड़ में जाने के लिए सीएसके को काफी मेहनत करनी होगी. सीएसके ने आईपीएल के अबतक के हर सीजन में प्लेऑफ के लिए क्वॉलिफाई किया है, जबकि तीन बार महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में खिताब अपने नाम किया है. लेकिन इस साल सुरेश रैना की गैरमौजूदगी में टीम लगातार फ्लॉप साबित हो रही है.

    अंबाती रायडू कंसीस्टेंट नहीं हैं, जबिक केदार जाधव और महेंद्र सिंह धोनी में भी वह आग नजर नहीं आ रही है. यहां तक रविंद्र जडेजा भी मैदान पर कैच ड्रॉप कर रहे हैं. टीम के लिए कुछ भी सही नहीं जा रहा है, लेकिन पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) को सीएसके में विश्वास है. उनका कहना है कि सीएसके को प्लेऑफ के लिए क्वॉलिफाई करने में बड़ा टास्क पूरा करना होगा.

    'सीएसके बचे हुए सात मैचों में से छह मैच जीत जाती है तो वह अपनी जगह पक्की कर लेगी'
    आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ''माही की चेन्नई, आप यहां से कहां जाते हैं, यह बहुत ही धुंधला दिखता है. ऐसी उम्मीद थी कि सीएसके अच्छा प्रदर्शन करेगी, क्योंकि वे सीजन में आधे रास्ते पर हैं. सात मैच खेलने के बाद टीम ने सिर्फ दो मैच जीते हैं.'' उन्होंने कहा, ''इसका मतलब है कि प्लेऑफ में क्वॉलिफाई करने के लिए टीम को माउंट एवरेस्ट के जैसी चढ़ाई करनी होगी. अगर सीएसके बचे हुए सात मैचों में से छह मैच जीत जाती है तो वह अपनी जगह पक्की कर लेगी.''

    IPL 2020: अंबाती रायडू पर भड़के केविन पीटरसन, बोले- उन्हें जागने की जरूरत

    'सवाल यह है कि क्या CSK के पास सात में से पांच मैच जीतने की क्षमता है'
    उन्होंने आगे कहा, ''अगर सीएसके पांच मैच जीतती है तो आउटसाइड चांस रहेगा, लेकिन सवाल यह है कि क्या उनके पास सात में से पांच मैच जीतने की क्षमता है. आरसीबी के खिलाफ मैच में एक ऐसा लक्ष्य था, जिसका वे पीछा कर सकते थे. पिच में कोई टर्न नहीं था, बॉल अच्छी तरह से बल्ले पर आ रही थी, लेकिन जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाजी की. यह टूर्नामेंट में पहली बार था, जब टीम पहले 15 ओवर तक एक भी छक्का नहीं लगा पाई थी. यह बताता है कि यह सीएसके के लिए काम नहीं कर रहा है और वे वास्तव में अभी सख्त तनाव में हैं.''

    गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों से निराश हैं महेंद्र सिंह धोनी
    रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ अंतिम पांच ओवरों में सीएसके को कोई विकेट नहीं मिला. यहां तक कि धोनी भी बैटिंग डिपार्टमेंट में कमजोर नजर आ रहे हैं. मैच के बाद धोनी ने कहा, ''मुझे लगता है कि जब हम गेंदबाजी कर रहे थे तो अंतिम चार ओवर खराब रहे, हमें इसमें अच्छा करने की जरूरत थी. हम शुरू में रन लुटा रहे हैं या फिर अंतिम चार ओवर में. काफी कमियां हैं. मुझे लगता है कि हमें संयोजन पर देखना होगा. लेकिन हमारी मुख्य चिंता बल्लेबाजी विभाग ही रहेगा.''

    IPL 2020: चेन्‍नई की टीम में होगा बदलाव! कोच ने उम्रदराज बल्‍लेबाजों से की बड़ी अपील

    टीम की बल्लेबाजी के बारे में उन्होंने कहा, ''बल्लेबाजी चिंता का विषय रही है और आज यह साफ हो गया. हमें इसके बारे में कुछ करने की जरूरत है. मुझे लगता है कि हमें दूसरी तरह से खेलना चाहिए, भले ही आप आउट हो जाओ, लेकिन बड़े शॉट खेलो. हम आगामी मैचों में ऐसा कर सकते हैं.''

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.