IPL 2020: धोनी के साथ रिश्तों पर खुलकर बोले आशीष नेहरा, जानिए क्या कुछ कहा

आशीष नेहरा ने कहा कि मेरे लिए महेंद्र सिंह धोनी ऐसे सीनियर हैं, जो युवाओं के साथ हमेशा खड़े रहते हैं.
आशीष नेहरा ने कहा कि मेरे लिए महेंद्र सिंह धोनी ऐसे सीनियर हैं, जो युवाओं के साथ हमेशा खड़े रहते हैं.

आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ने कहा, ''देखिए आप जब भी धोनी पर बात करेंगे तो सबसे पहले क्या आपके जेहन में आएगा- मजबूती और निरंतरता. उन्होंने अपने फैंस के चेहरों पर मुस्कुराहट लाने के लिए बहुत से कारण पैदा किए हैं.''

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2020, 3:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. विश्व क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) सबसे प्रतिष्ठित नामों में से एक हैं. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में बहुत-सी उपलब्धियां हासिल की हैं. 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 का वनडे वर्ल्ड कप और 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी. वह आईसीसी की तीनों ट्रॉफियां जीतने वाले दुनिया के इकलौते कप्तान हैं. अपनी कप्तानी के साथ-साथ धोनी को अपनी पीढ़ी का बेस्ट फिनिशर भी माना जाता है. उन्होंने बड़े हिट्स से बहुत से मैच भारत के लिए जीते हैं. धोनी ने युवा खिलाड़ियों को तैयार करने में भी अहम भूमिका निभाई है. रोहित शर्मा, विराट कोहली, कुलदीप यादव, रविंद्र जडेजा और सुरेश रैना जैसे क्रिकेटरों को आगे बढ़ाने में उनका योगदान रहा. वह मैच विनर को पहचानते और उसका समर्थन करते. ऐसे में धोनी के साथ लंबे समय तक खेलने वाले आशीष नेहरा ने पूर्व कप्तान की तारीफ करते हुए उनसे अपने रिश्तों के बारे में बताया

आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ने कहा, ''देखिए आप जब भी धोनी पर बात करेंगे तो सबसे पहले क्या आपके जेहन में आएगा- मजबूती और निरंतरता. उन्होंने अपने फैंस के चेहरों पर मुस्कुराहट लाने के लिए बहुत से कारण पैदा किए हैं.''

बांग्लादेशी इंटरनेशनल क्रिकेटर ने करवाया स्पेशल वेडिंग फोटोशूट, साड़ी पहनकर थामा बल्ला- PICS



पूर्व भारतीय गेंदबाज ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, ''उनसे बहुत कुछ सीखा जा सकता है. मेरे लिए महेंद्र सिंह धोनी ऐसे सीनियर हैं, जो युवाओं के साथ हमेशा खड़े रहते हैं. वह हर चीज के सकारात्मक पहलू को देखते हैं. वह हमेशा कहते हैं, या तो आप जीतेंगे या सीखेंगे. आप कभी नहीं हारते. मैं उनके साथ खेला हूं, मैं उनके साथ जीते टूर्नामेंट की बात नहीं करूंगा, लेकिन वह बहुत खास हैं.''
उन्होंने आगे कहा, ''मेरी उनके साथ अलग सी आत्मीयता है. वह ऐसे व्यक्ति नहीं हैं, जो हमेशा फोन अपने पास रखते हैं. हम फोन पर बात नहीं करते, लेकिन एक या दो साल बाद जब भी मिलते हैं तो ऐसा लगता है कि हम रोज मिल रहे हैं. उनके भीतर हर व्यक्ति के लिए सकारात्मक ऊर्जा है.'' धोनी ने अगस्त 2020 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया और अब वह आईपीएल के 13वें संस्करण में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

IPL 2020: किंग्स XI पंजाब के 'लकी चार्म' क्रिस गेल की पत्नी हैं फैशन डिजाइनर

बता दें कि हाल ही में चेन्नई सुपर किंग्स को राजस्थान रॉयल्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा. इस हार के बाद धोनी ने युवाओं के लेकर एक बयान दिया, जिसके बाद उन्हें आलोचना का समाना करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा था, ''आप बार-बार बदलाव नहीं करना चाहते. आप नहीं चाहते कि ड्रेसिंग रूम में असुरक्षा की भावना हावी हो. साथ ही युवा खिलाड़ियों में हमें वह चमक नहीं दिखी कि बदलाव के लिए बाध्य होना पड़े.'' उन्होंने कहा, ''लेकिन इन नतीजों के कारण बाकी टूर्नामेंट में युवाओं को मौका दिया जाएगा. शायद आने वाले मैचों में हम उन्हें मौका देंगे और वे बिना दबाव के खेल पाएंगे.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज