IPL 2020: अंबाती रायडू की वापसी से मजबूत हुई सीएसके, हैदराबाद को देगी कड़ी चुनौती

अंबाती रायडू की सीएसके में हो चुकी है वापसी
अंबाती रायडू की सीएसके में हो चुकी है वापसी

चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) की टीम ने पहले मैच में जीत दर्ज की लेकिन इसके बाद के दोनों मैच हार गई थी. वहीं सनराइजर्स को राजस्थान के खिलाफ पहली जीत हासिल हुई है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 2, 2020, 5:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बल्लेबाजों की नाकामी के कारण पिछले मैचों में अपेक्षित परिणाम हासिल नहीं कर पाने वाला चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) अंबाती रायडू (Ambati Rayudu) और ड्वेन ब्रावो (Dwayne Bravo) के फिट होने से सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के खिलाफ शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) मैच में अधिक मजबूती के साथ मैदान पर उतरेगा.

चेन्नई की आईपीएल के उद्घाटन मैच में मुंबई इंडियन्स पर जीत के नायक रहे रायडू मांसपेशियों के खिंचाव के कारण अगले दो मैचों में नहीं खेल पाये जबकि ब्रावो कैरेबियाई प्रीमियर लीग (CPL) के दौरान चोटिल हो गये थे और उन्होंने आईपीएल के इस सत्र में अभी तक कोई मैच नहीं खेला है.

रायडू और ब्रावो मैच में होंगे शामिल
चेन्नई सुपरकिंग्स के सीईओ केएस विश्वनाथन ने गुरुवार को कहा, ‘रायडू और ब्रावो दोनों चयन के लिये उपलब्ध हैं.’ चेन्नई और सनराइजर्स की टीमों को आईपीएल में शुरू से ही सबसे संतुलित माना जाता रहा है लेकिन इस बार दोनों टीमों को पहले तीन मैचों में से दो में हार का सामना करना पड़ा और इसका मुख्य कारण उनके मध्यक्रम का संतुलित नहीं होना है.
रायुडु के फिट होने का मतलब हैं उन्हें खराब फॉर्म में चल रहे मुरली विजय की जगह लिया जा सकता है लेकिन ब्रावो के मामले में ऐसा नहीं कहा जा सकता है क्योंकि उनको अंतिम एकादश में लेने के लिये महेंद्र सिंह धोनी को पूरे बल्लेबाजी क्रम में ही बदलाव करना पड़ेगा.



लेकिन केदार जाधव की खराब फार्म निश्चित तौर पर धोनी के लिये चिंता का विषय होगी क्योंकि उनकी जगह लेने के लिये टीम में कोई उचित विकल्प नजर नहीं आता है. ब्रावो की जगह सैम कर्रन को लिया गया था और उन्होंने अभी तक चेन्नई की तरफ से पहले तीन मैचों में अपनी गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों से प्रभावित किया है. ब्रावो को टीम में रखने के लिये धोनी को शेन वाटसन या जोश हेजलवुड में से किसी एक को बाहर रखना होगा.

जीत के बाद सनराइजर्स में भरा हुआ है जोश
दूसरी तरफ केन विलियमसन के आने से सनराइजर्स का मध्यक्रम मजबूत हुआ जिससे वह दो हार के बाद अपनी पहली जीत दर्ज करने में सफल रहा. जॉनी बेयरस्टॉ और डेविड वार्नर भी योगदान दे रहे हैं और ऐसे में उसकी टीम किसी तरह की ढिलायी नहीं बरतना चाहेगी. सनराइजर्स को अगर सफलता हासिल करनी है तो उसने मध्यक्रम में एक अच्छे ‘बिग हिटर’ की जरूरत है क्योंकि बेयरस्टॉ, वार्नर और विलियमसन के असफल होने पर टीम परेशानी में पड़ सकती है.

कश्मीर के अब्दुल समद ने उम्मीदें जगायी हैं जबकि प्रियम गर्ग और अभिषेक शर्मा को अपना खेल बेहतर करने की जरूरत है.नजहां तक गेंदबाजी का सवाल है तो दोनों टीमों का गेंदबाजी विभाग एक जैसा लगता है.

चेन्नई के दीपक चाहर, हेजलवुड, करेन, रविंद्र जडेजा और पीयूष चावला दुबई के धीमे विकेट पर उपयोगी साबित हो सकते हैं जबकि सनराइजर्स को डेथ ओवरों के विशेषज्ञ के रूप में टी नटराजन मिला है जो विश्व में टी20 में नंबर एक गेंदबाज राशिद खान के अच्छे सहयोगी साबित हो सकते हैं. राशिद ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ तीन विकेट लेकर शानदार प्रदर्शन किया था.

टीमें इस प्रकार हैं :

चेन्नई सुपरकिंग्स: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान, विकेटकीपर), मुरली विजय, अंबाती रायुडु, फाफ डु प्लेसिस, शेन वॉटसन, केदार जाधव, ड्वेन ब्रावो, रवींद्र जडेजा, लुंगी एनगिडी, दीपक चाहर, पीयूष चावला, इमरान ताहिर, मिशेल सेंटनर, जोश हेजलवुड, शार्दुल ठाकुर, सैम कुरेन, एन जगदीसन, केएम आसिफ, मोनू कुमार, आर साई किशोर, रुतुराज गायकवाड़, कर्ण शर्मा.

सनराइजर्स हैदराबाद: डेविड वार्नर (कप्तान), जॉनी बेयरस्टो, केन विलियमसन, मनीष पांडे, श्रीवत्स गोस्वामी, विराट सिंह, प्रियम गर्ग, ऋद्धिमान साहा, अब्दुल समद, विजय शंकर, मोहम्मद नबी, राशिद खान, जेसन होल्डर, अभिषेक शर्मा, बी संदीप शर्मा, संजय यादव, फैबियन एलेन, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, संदीप शर्मा, शाहबाज़ नदीम, सिद्धार्थ कौल, बिली स्टानलेक, टी नटराजन, बासिल थम्पी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज