खेल

IPL 2020: मुंबई इंडियंस से 'छीन' लिया गया 1 रन, DRS पर खड़े हुए सवाल!

IPL 2020: मुंबई इंडियंस और पंजाब के मैच में हुआ डीआरएस विवाद!
IPL 2020: मुंबई इंडियंस और पंजाब के मैच में हुआ डीआरएस विवाद!

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मुंबई इंडियंस ने बड़ी जीत दर्ज की लेकिन इस मैच के दौरान एक बार फिर डीआरएस (DRS) पर सवाल खड़े हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 2, 2020, 7:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने किंग्स इलेवन पंजाब (Mumbai Indians Vs Kings XI Punjab) को एकतरफा मुकाबले में 48 रनों से हरा दिया. इस मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने जीत तो एकतरफा अंदाज में हासिल की लेकिन इस दौरान उसका एक रन कम कर दिया गया. मुंबई की टीम का ये एक रन डीआरएस (DRS) की वजह से कम हुआ, जिसके बाद एक बार फिर आईसीसी के इस सिस्टम पर सवाल खड़े हो गए हैं.

डीआरएस पर खड़े हुए सवाल
दरअसल मुंबई इंडियंस की पारी के 17वें ओवर में मोहम्मद शमी की गेंद पर कायरन पोलार्ड के खिलाफ LBW की अपील हुई. हालांकि गेंद ने पोलार्ड के बल्ले का किनारा लिया था और वो एक रन दौड़ गए. इस दौरान अंपायर ने पोलार्ड (Kieron Pollard) को आउट दे दिया और इसके बाद इस खिलाड़ी ने डीआरएस का उपयोग किया. डीआरएस में पाया गया कि पोलार्ड नॉट आउट हैं और अंपायर ने अपना फैसला वापस लिया. लेकिन इसके बाद अंपायर ने पोलार्ड को वापस स्ट्राइक पर भेज दिया और मुंबई इंडियंस का वो एक रन रद्द कर दिया गया. बस इसी मुद्दे पर कई क्रिकेट पंडितों ने डीआरएस पर सवाल खड़े कर दिये.

दरअसल क्रिकेट के नियम के मुताबिक अंपायर जैसे ही बल्लेबाज को आउट देता है तो वो गेंद वहीं खत्म हो जाती है लेकिन सवाल ये है कि अगर वो फैसला गलत साबित होता है और बल्लेबाज इस दौरान रन ले लेता है, ठीक वैसे ही जैसे पोलार्ड ने किया तो वो रन क्यों रद्द किया गया? इसी मुद्दे को आईपीएल में कमेंट्री कर रहे आकाश चोपड़ा ने उठाया और उन्होंने आईसीसी को डीआरएस के इस नियम पर विचार करने की मांग की.





आकाश चोपड़ा ने ट्वीट कर लिखा, 'पोलार्ड और मुंबई इंडियंस को एक रन नहीं दिया गया. LBW आउट दिया गया, लेकिन डीआरएस में बैट का अंदरूनी किनारा दिखा. एक आसान सिंगल बल्लेबाज ने लिया लेकिन वो मान्य नहीं हुआ. प्रिय आईसीसी ये नियम किसी का वर्ल्ड कप छीन सकता है. इस पर पुनर्विचार की जरूरत है. अंपायर को तबतक अपना फैसला रिजर्व रखना चाहिए जब तक गेंद डेड नहीं हो जाए.'

बड़ी खबर: बायो बबल की वजह से डेविड वॉर्नर नहीं खेलेंगे बिग बैश लीग!

आकाश चोपड़ा की ये दलील सही लगती है क्योंकि ऐसे कई मैच होते हैं जो एक रन के अंतर से जीते जाते हैं. चाहे वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल हो या पिछले साल का आईपीएल फाइनल दोनों ही मैचों में 1-1 रन कीमत का अंदाजा हुआ था. अगर ये नियम नहीं बदला गया तो इससे किसी भी टीम को बड़ा नुकसान हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज