IPL 2020: गौतम गंभीर ने कप्तानी बदलाव पर कहा- ऑयन मॉर्गन KKR में कुछ ज्यादा नहीं कर पाएंगे

गौतम गंभीर ने कहा, ''क्रिकेट रिश्तों का खेल नहीं है. यह परफॉर्मेंस और ईमानदारी का खेल है. मुझे नहीं लगता कि मॉर्गन केकेआर में कुछ बदल पाएंगे.''

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा, ''क्रिकेट रिश्तों का खेल नहीं है. यह परफॉर्मेंस और ईमानदारी का खेल है. मुझे नहीं लगता कि ऑयन मॉर्गन (Eoin Morgan) केकेआर में कुछ बदल पाएंगे.''

  • Share this:
    नई दिल्ली. पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के बीच में ही कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Knight Riders) की कप्तानी ऑयन मॉर्गन (Eion Morgan) को सौंपने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. दो बार की आईपीएल विजेता केकेआर के के पूर्व कप्तान गंभीर ने कहा कि मॉर्गन भी केकेआर में कुछ बदलाव नहीं ला पाएंगे. केकेआर अपने आधे मैच खेल चुकी है. गंभीर की यह टिप्पणी मुंबई इंडियंस की 8 विकेट से जीत से पहले आई. आबू धाबी में मुंबई ने केकेआर को बुरी तरह परास्त किया.

    कोलकाता नाइट राइडर्स के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, ''क्रिकेट रिश्तों का खेल नहीं है. यह परफॉर्मेंस और ईमानदारी का खेल है. मुझे नहीं लगता कि मॉर्गन केकेआर में कुछ बदल पाएंगे. यदि वह टूर्नामेंट के शुरू में ही कप्तान बन जाते तो शायद टीम में कुछ बदलाव ला सकते थे. टूर्नामेंट के बीच में बदलाव लाना आसान नहीं होगा, लेकिन यह अच्छी बात है कि कोच और कप्तान के बीच अच्छे रिश्ते हैं.''

    युवराज सिंह को 6 बार आउट करने वाले गेंदबाज ने क्रिकेट से लिया संन्यास, बीच मैदान पर रो पड़े

    उन्होंने कहा, ''मुझे थोड़ा आश्चर्य हुआ. कार्तिक पिछले ढाई साल से केकेआर की कप्तानी कर रहे थे. कोलकाता इतनी बुरी स्थिति में नहीं थी कि उन्हें अपना कप्तान बदलना पड़े.'' सात सीजन केकेआर की कप्तानी करने वाले भारत के पूर्व ओपनर ने 2012 और 14 में टीम को खिताब जितवाया.

    उन्होंने कहा, ''यदि केकेआर को कप्तान बदलना ही था तो यह टूर्नामेंट शुरू होने से पहले किया होना चाहिए था. यदि आप विश्व कप विजेता टीम के कप्तान के बारे में सोच रहे थे तो आपने दिनेश कार्तिक पर दबाव क्यों बनाया. आप सीधे सीधे मॉर्गन को कप्तान बना सकते थे. मेरा बिन्दू यह है कि जब कार्तिक यह कहते हैं कि वह अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं, तब वह सच नहीं बोलते. तब आप प्रबंधन के फिलर के रूप में काम करते हैं और यही दुर्भाग्यपूर्ण है.''

    IPL POINTS TABLE: मुंबई की जीत के बाद दिलचस्प हुई प्ले ऑफ की लड़ाई, कौन आगे कौन पीछे?

    गौतम गंभीर इसकी तुलना उस वाकये से करते हैं, जब 2018 में उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी चौड़ी थी. गौतम ने कहा, ''मेरी परिस्थिति दिनेश से एकदम अलग थी. मैंने दिल्ली की कप्तानी सिर्फ सात मैचों में की थी और दिनेश ढाई साल से केकेआर की कप्तानी कर रहे हैं. सीईओ और टीम प्रबंधन उनकी कप्तान शैली को जानता है. मैं दिल्ली कैपिटल्स के पास एक अलग मानसिक स्थिति के साथ गया था. मैं दिल्ली का भविष्य बदलना चाहता था, लेकिन सात मैचों में ऐसा नहीं हुआ इसलिए मुझे कप्तानी छोड़नी पड़ी.'' बता दें कि केकेआर के 8 मैचों में 8 अंक हैं और वह अंक तालिका में चौथे स्थान पर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.