खेल

IPL 2020: 'धोनी सही थे, चेन्नई सुपरकिंग्स के युवाओं में कोई 'स्पार्क' नहीं है...'

चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 9 विकेट पर 114 रन बनाए.
चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 9 विकेट पर 114 रन बनाए.

चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ दो युवाओं ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) और नारायण जगदीशन (N Jagadeesan)को मैदान पर उतारा लेकिन टीम को इससे कोई फायदा नहीं हुआ. ऋतुराज और जगदीशन तो खाता ही नहीं खोल सके. चेन्नई ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट पर 114 रन बनाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 9:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी को यूं ही दुनिया के सबसे बेहतरीन कप्तानों में नहीं गिना जाता है! महज तीन दिन पहले क्रिकेट के कई दिग्गजों के साथ-साथ आम क्रिकेटप्रेमी उनके एक बयान की आलोचना कर रहे थे. धोनी ने हार के बाद कह दिया था कि उनकी टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के युवाओं में वह स्पार्क नहीं है, जो उन्हें प्लेइंग इलेवन में जगह दिला सके. शायद आलोचना का ही असर रहा हो कि एमएस धोनी ने शुक्रवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ दो युवाओं ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) और नारायण जगदीशन (N Jagadeesan)को मैदान पर उतार दिया. ऋतुराज गायकवाड़ और एन जगदीशन इस मौके को नहीं भुना सके और इसके बाद सोशल मीडिया पर सीएसके के युवा क्रिकेटर ट्रोल हो गए.

आईपीएल 2020 (IPL 2020) में शुक्रवार को चेन्नई सुपरकिंग्स का मुंबई इंडियंस से मुकाबला हुआ. मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी. चेन्नई ने ऋतुराज गायकवाड़ को फाफ डू प्लेसी के साथ ओपनिंग करने के लिए भेजा. लेकिन गायकवाड़ तो खाता भी नहीं खोल सके. वे पांच गेंद खेलकर पहले ही ओवर में आउट हो गए. दूसरे ओवर में टीम के अनुभवी बल्लेबाज अंबाती रायडू भी चलते बने. उनकी जगह लेने के लिए सीएसके के दूसरे युवा एन जगदीशन उतरे. लेकिन यह युवा भी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा. जगदीशन पहली ही गेंद पर आउट हो गए.

इस तरह सीनियरों से हताश चेन्नई की टीम को उसके युवा खिलाड़ियों ने भी निराश किया. इसके साथ सोशल मीडिया पर एमएस धोनी के प्रशंसक सक्रिय हो गए. एक यूजर ने लिखा, 'धोनी सही थे. सीएसके के युवाओं में कोई जोश या जुनून नहीं है.' कह सकते हैं कि युवाओं में जोश और जुनून की कमी वाले बयान के लिए धोनी की भले ही आलोचना हुई हो लेकिन मुंबई इंडियंस के खिलाफ तो उनकी बात सही साबित हुई.



Chennai Super Kings, Mahendra Singh Dhoni, MS Dhoni, IPL 2020
सीएसके के युवाओं के फेल होते ही एमएस धोनी के प्रशंसक सक्रिय हो गए.

सीएसके एक एक अन्य प्रशंसक ने लिखा, जो लोग धोनी के स्पार्क वाले बयान के लिए उनकी आलोचना कर रहे थे, वे जान लें कि माही लीजेंड हैं और उन्हें सिखाने की जरूरत नहीं है. बेहतर है कि धोनी को सिखाने वाले घर में बर्तन धोनी सीखें.



हालांकि, चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम का मुंबई के खिलाफ बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही. उसके ना तो युवा बल्लेबाज चले और ना ही सीनियरों ने उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन किया. इंग्लैंड के ऑलराउंडर सैम करेन ने 52 रन की पारी खेलकर सीएसके को 100 के पार पहुंचाया. चेन्नई ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट पर 114 रन बनाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज