IPL 2020: SRH और DC मुकाबले में अंपायर ने की वॉर्नर की 'मदद', इशारा कर रिव्‍यू खराब होने से बचाया

सनराइजर्स हैदराबाद ने 88 रन से मुकाबला जीता था (फाइल फोटो )

डेविड वॉर्नर (David Warner) अश्विन को नॉट आउट दिए जाने के बाद रिव्‍यू ले सकते थे, मगर उससे पहले ही अंपायर ने इशारा करके बता दिया कि उनका रिव्‍यू बर्बाद हो सकता है

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) और दिल्‍ली कैपिटल्‍स (Delhi Capitals) के बीच खेले गए आईपीएल (IPL 2020) के 47वें मुकाबले में अंपायर अनिल चौधरी ने एक नए विवाद को जन्‍म दे दिया. यह विवाद डीआरएस को लेकर संदीप शर्मा के ओवर में हुआ. दरअसल 220 रनों के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी दिल्‍ली की पारी के 17वें ओवर में संदीप शर्मा की गेंद स्‍ट्राइक पर खड़े आर अश्विन के पैड पर लगी. हैदराबाद ने तुरंत एलबीडब्‍यू के लिए अपील की, मगर अंपायर अनिल ने नॉट आउट करार दे दिया. उन्‍होंने न सिर्फ नॉट आउट करार दिया, बल्कि इशारा करके भी बताया कि बल्‍ले का अंदरुनी किनारा लगा है. जिसके बाद हैदराबाद के कप्‍तान डेविड वॉर्नर (David Warner) ने रिव्‍यू नहीं लेने का फैसला लिया. हालांकि इस फैसले ने मैच को थोड़ा प्रभावित जरूर किया, मगर हैदराबाद ने आसानी से 88 रन से मुकाबला जीत लिया.

    आईपीएल के खेल के नियमों के अनुसार रिव्‍यू लेने या न लेने के फैसले से पहले खिलाड़ी किसी भी पहलू के बारे में अंपायर से चर्चा नहीं कर सकता. आईपीएल की खेल की शर्त के अनुच्‍छेद 3.2.3 के अनुसार किसी भी परिस्थिति में खिलाड़ी को रिव्‍यू लेने या न लेने का फैसला करने से पहले किसी भी पहलू पर अंपायर से पूछताछ करने की अनुमति नहीं है. अगर कोई कप्‍तान या फिर खिलाड़ी मैदान पर मौजूद खिलाड़ियों के अलावा अन्‍य किसी और से रिव्‍यू लेने या न लेने के बारे में पूछता है तो अंपायर के पास यह अधिकार है कि वह उसे नकार सकता है. खासकर ड्रेसिंग रूप से संकेत नहीं दिए जाने चाहिए. अगर कोई ऐसा करता है तो वह नियम का उल्‍लंघन माना जाता है.

    यह भी पढ़ें:

    IND vs AUS: कोरोना काल में 25 हजार फैंस स्‍टेडियम में बैठकर देखेंगे मैच, क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया ने शुरू की तैयारी

    IPL 2020: फैन ने केकेआर के प्रदर्शन पर पूछा सवाल, तो शाहरुख खान ने सुनाया दिल का हाल
    कमेंटेटर्स ने उठाए सवाल
    कमेंटेटर्स स्‍कॉट स्‍टाइरिस और संजय बांगड़ ने भी अंपायर के एक्‍शन पर सवाल उठाए हैं. स्‍टाइरिस ने कहा कि क्‍या अंपायर को ऐसा करना चाहिए था. वहां खड़े होकर बल्‍ला बोल रहे हैं. स्टाइरिस ने कहा कि उनके जमाने में DRS नहीं होता था, उस समय अक्‍सर अंपायर ऐसे एक्‍शन करते थे. उसमें कोई समस्या नहीं थी, क्‍योंकि वह फील्डिंग टीम बताते थे कि आउट क्यों नहीं दिया गया. संजय बांगड़ भी स्‍टाइरिस की बात से सहमत हुए. वहीं चर्चा में शामिल हुए पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि गेंद बल्‍ले को छूई है, यह बताने के लिए हाथ को दबाना अंपायर्स का यूनिवर्सल इशारा है. यह इशारा फील्डिंग कर रही टीम को बताने के लिए होता है कि गेंद बल्‍ले से लगी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.