खेल

IPL 2020: सहवाग ने कहा- धोनी कभी सैम कर्रन की तरह छक्के नहीं लगा पाते

IPL 2020: सहवाग ने दिया धोनी पर बड़ा बयान
IPL 2020: सहवाग ने दिया धोनी पर बड़ा बयान

चेन्नई सुपरकिंग्स की जीत में सैम कर्रन (Sam Curran) ने अहम भूमिका अदा की, इस ऑलराउंडर ने एक विकेट लेने के साथ-साथ 6 गेंदों में 18 रनों की पारी भी खेली

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 6:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वीरेंद्र सहवाग को अपनी बात खुलकर कहने के लिए जाना जाता है. आईपीएल 2020 के पहले मैच के बाद भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया है. सहवाग ने चेन्नई सुपरकिंग्स की मुंबई इंडियंस पर जीत के बाद धोनी पर एक बड़ा बयान दे दिया. सहवाग ने कहा कि धोनी और केदार जाधव जैसे बल्लेबाज आते ही क्रीज पर लंबे छक्के नहीं लगा सकते, इसलिए मुंबई इंडियंस के खिलाफ सैम कर्रन को जल्दी उतारने का फैसला सही था.

धोनी पर सहवाग का बड़ा बयान
क्रिकबज के साथ खास बातचीत में सैम कर्रन की तारीफ करते हुए सहवाग बोले, 'रायडू की वजह से चेन्नई आसानी से जीत गई. दो विकेट गिरने के बाद कोई और बललेबाज ज्यादा समय लेता. धोनी कह रहे होंगे मेरे कर्ण-अर्जुन आएंगे और वो आ गए. कर्ण हैं सैम कर्रन और अर्जुन बन गए अंबाति रायडू. दोनों ने मिलकर धोनी को बचा लिया. सैम कर्रन ने अहम मौके पर 18 रन बनाए. उस समय एमएस धोनी बल्लेबाजी करने आते या केदार जाधव आते तो मुश्किल होती. वो आते ही आसानी से छक्के नहीं मार सकते. साथ ही डुप्लेसी और रायडू की साझेदारी ने चेन्नई के पक्ष में मैच किया.'


बता दें मुंबई इंडियंस के खिलाफ एमएस धोनी ने जडेजा के आउट होने के बाद सैम कर्रन को बल्लेबाजी के लिए भेज दिया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर उनके इस फैसले की आलोचना होने लगी. हालांकि धोनी की ये रणनीति काम कर गई. सैम कर्रन ने 6 गेंदों में 18 रन ठोके, जिसमें इस बल्लेबाज ने एक चौका और 2 लंबे छक्के लगाए. यहीं से मैच में चेन्नई की जीत तय हो गई.



धोनी देना चाहते हैं कर्रन को मौका!
मैच के बाद धोनी ने सैम कर्रन को ऊपर भेजने की वजह भी बताई. उन्होंने कहा, 'मैं चाहता था कि जडेजा और कर्रन बैटिंग ऑर्डर में ऊपर जाकर खुलकर बल्लेबाजी करें. दो स्पिनर का ओवर बचा हुआ था. हम मुंबई पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाना चाहते थे. हमारी बैटिंग काफी लंबी है. हम चाहते थे कि ये दोनों वहां जाकर कुछ लंबे शॉट्स खेल कर दबाव कम करें. इसके बाद के बल्लेबाजों के लिए फिर टारगेट तक पहुंचना आसान होता.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज