आकाश चोपड़ा बड़ा बयान, कहा- IPL 2021 की नीलामी से पहले इन 3 खिलाड़ियों को बाहर करें KXIP

ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने आईपीएल के इस सीजन अपने प्रदर्शन से निराश किया
ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने आईपीएल के इस सीजन अपने प्रदर्शन से निराश किया

किंग्‍स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) आईपीएल 2020 (IPL 2020) के प्‍लेऑफ में नहीं पहुंच पाई थी. टीम में मौजूद क्रिकेट की दुनिया के कई बड़े खिलाड़ी फ्लॉप साबित हुए

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 9:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. आईपीएल (IPL 2020) के 13वें सीजन में किंग्‍स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के प्रदर्शन ने फैंस को काफी निराश किया. पंजाब ने सीजन में खराब शुरुआत की थी. हालांकि बाद में उसने अपना प्रदर्शन सुधारा, मगर वह इस नियमित नहीं रख पाई, जिस वजह से टीम प्‍लेऑफ में जगह नहीं बना पाई. जिसके बाद माना जा रहा है कि आईपीएल 2021 (IPL 2021) के लिए टीम में काफी बदलाव किए जा सकते हैं. टीम के लिए काफी योजनाएं बनाई जा रही है. हालांकि टीम के कप्‍तान केएल राहुल (KL Rahul) ने पूरे सीजन शानदार प्रदर्शन किया. उन्‍होंने कुल 670 रन बनाए. मगर बड़े नाम ग्‍लेन मैक्‍सवेल और शेल्‍डन कॉटरेल जैसे बड़े और महंगे खिलाड़ियों ने काफी निराश किया.

आईपीएल 2021 की नीलामी से पहले पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने पंजाब को तीन खिलाड़ियों को बाहर करने की सलाह दी. चोपड़ा ने कहा कि पंजाब को अपने दो महंगे खिलाड़ी मैक्‍सवेल और कॉटरेल को रिलीज कर देना चाहिए, जबकि यदि वे हार्दुस विलजोन को नहीं खिला रहे हैं और उन्‍हें भी रिलीज कर देना चाहिए. हाल में ही आईपीएल में मैक्‍सवेल ने 13 मैचों में 108 रन बनाए थे.





आखिर में मिला दीपक हुड्डा को मौका
आकाश चोपड़ा का मानना है कि दीपक हुड्डा को मिडिल ऑर्डर पर खुद को साबित करने के लिए ज्‍यादा मौके देने चाहिए. उन्‍होंने कहा कि हुड्डा को ज्‍यादा मौके नहीं मिले और मैक्‍सवेल को बहुत सारे अवसर मिले. उन्‍होंने सिर्फ थोड़ा ही नहीं, बल्कि काफी ज्‍यादा निराश किया.

यह भी पढ़ें : 

IPL 2021 की नीलामी के कारण रणजी ट्रॉफी से पहले नेशनल टी20 चैंपियनशिप करा सकता है बीसीसीआई

केकेआर की टीम में अजिंक्‍य रहाणे के अलावा एक घातक गेंदबाज को देखना चाहते थे सौमित्र चटर्जी

आकाश चोपड़ा ने मैक्‍सवेल के खराब प्रदर्शन और युवा दीपक हुड्डा की बल्‍लेबाजी को पॉइंट किया. उन्‍होंने कहा कि मैक्‍सवेल के फॉर्म की कमी सबसे बड़ी परेशानी थी. विदेशी गेंदबाज भी एक बड़ी परेशानी रहे और भारतीय निचले मिडिल ऑर्डर, जहां दीपक हुड्डा ने हकीकत में अच्‍छा प्रदर्शन किया और आखिरी मैच में उन्‍हें मौका दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज