IPL 2021: भारत और इंग्लैंड के खिलाड़ी बिना क्वारंटाइन के बायो बबल में जा सकेंगे, बीसीसीआई ने दी अनुमति

IND VS ENG: इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में मुंबई इंडियंस के खिलाड़ियों का जलवा (Mumbai Indians/Twitter)

IND VS ENG: इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में मुंबई इंडियंस के खिलाड़ियों का जलवा (Mumbai Indians/Twitter)

बीसीसीआई (Bcci) ने आईपीएल (IPL 2021) के प्रोटाेकॉल तय कर दिए हैं. इसके तहत भारत और इंग्लैंड सीरीज में खेल रहे खिलाड़ी बिना क्वारंटाइन के आईपीएल टीम के बायो बबल में जा सकेंगे. टी20 लीग 9 अप्रैल से शुरू होनी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 3:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीसीसीआई (BCCI) ने आईपीएल (IPL 2021)  के बायो सिक्योर प्रोटोकॉल तय कर दिए हैं. इसके मुताबिक खिलाड़ी एक बबल से दूसरे बबल में जा सकते हैं. इससे किसी भी देश के खिलाड़ी टीम के बबल से आईपीएल टीम के बबल में आ सकते हैं. भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही सीरीज रही है. सीरीज में शामिल होने वाले खिलाड़ी सीधे बबल में जाएंगे और उन्हें क्वारंटाइन में नहीं रहना होगा. इस बार लीग के मुकाबले 9 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं, जो 30 मई तक चलेंगे. 6 वेन्यू पर मुकाबले होने हैं.

क्रिकबज की खबर के अनुसार, भारत और इंग्लैंड के खिलाड़ी बिना क्वारंटाइन के बबल में शामिल हो सकते हैं. लेकिन अन्य खिलाड़ी, फ्रेंचाइजी मालिक, मैनेजमेंट के सदस्य, कॉमेंटेटर और मैच अधिकारियों को 7 दिन के क्वारंटाइन में जाना होगा. बीसीसीआई के अनुसार, ‘भारत-इंग्लैंड सीरीज के लिए जो बबल बनाया गया है, उससे आने वाले खिलाड़ी बिना क्वारंटीन के फ्रेंचाइजी के साथ जुड़ सकते हैं. इसके लिए हालांकि उन्हें टीम होटल से सीधे टीम बस या चार्टर्ड फ्लाइट से आना होगा. अगर चार्टर्ड फ्लाइट का इस्तेमाल किया जाता है तो सभी सदस्यों को प्रोटोकॉल का पालन करना होगा. अगर यातायात संबंधी इंतजाम बोर्ड के चीफ मेडिकल अधिकारी के मुताबिक होते हैं तो वो खिलाड़ी सीधे फ्रेंचाइजी के बबल में शामिल हो सकता है और उसे क्वारंटीन या आरटी-पीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं होगी.’

खिलाड़ियों के कुल 8 बाया बबल बनाए जाएंगे

बोर्ड की ओर से फ्रेंचाइजी को भी सहूलियत दी गई है. विदेशी खिलाड़ियों जैसे दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच चल रही सीरीज. फ्रेंचाइजी के अधिकारियों ने कहा है कि बबल टू बबल नियम तभी लागू होगा जब वह चार्टर्ड फ्लाइट से आएंगे. यानी इन खिलाड़ियों को भी क्वारंटाइन नहीं रहना होगा. लीग के दौरान कुल मिलाकर 12 बबल बनाए जाएंगे. 8 बबल फ्रेंचाइजी और सपोर्ट स्टाफ के लिए होंगे. 2 बबल मैच अधिकारियों, मैच मैनेजमेंट टीम के लिए और दो बबल ब्रॉडकास्ट कॉमेंटेटर, क्रू के लिए होंगे.
यह भी पढ़ें: हार्दिक पंड्या को कम बैटिंग देकर केकेआर जैसी गलती तो नहीं कर रही टीम इंडिया?

यह भी पढ़ें: IND vs ENG, 5th T20I: प्लेइंगXI, मौसम-पिच का मिजाज, ऑनलाइन स्ट्रीमिंग, जानें सबकुछ यहां

बीसीसीआई के अधिकारी खिलाड़ियों से सीधे नहीं मिल सकेंगे



बीसीसीआई के अनुसार उसके अधिकारी और ऑपरेशन टीमें किसी भी तरह के बबल का हिस्सा नहीं होंगी. इसके चलते बीसीसीआई अधिकारी खिलाड़ियों, टीम सपोर्ट स्टाफ, मैच मैनेजमेंट टीम और ब्रॉडकास्ट क्रू से व्यक्तिगत तौर पर संपर्क नहीं कर सकेंगे. कोई भी फ्रेंचाइजी मालिक यदि बबल का हिस्सा होना चाहते हैं, उन्हें टीम होटल में 7 दिन क्वारंटाइन रहना होगा. इस तरह के कड़े प्रोटोकॉल इसलिए भी लागू किए जा रहे हैं ताकि किसी भी तरह दिक्क ना हो. पिछले दिनों पाकिस्तान सुपर लीग के शुरू होने के बाद पॉजिटिव केस मिले और लीग को स्थगित करना पड़ा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज